21 में 18 गाेठान बनकर तैयार, फिर भी सड़कों पर घूम रहे मवेशी बन रहे हादसे का कारण

Bilaspur News - सरकार ने लाखों रुपए खर्च करके मस्तूरी क्षेत्र में दो आदर्श सहित 21 गोठानों का निर्माण कराया है। इनमें से 18 बनकर...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 06:40 AM IST
Masturi News - chhattisgarh news 18 gaithans ready in 21 yet cattle roaming on the streets are the cause of the accident
सरकार ने लाखों रुपए खर्च करके मस्तूरी क्षेत्र में दो आदर्श सहित 21 गोठानों का निर्माण कराया है। इनमें से 18 बनकर तैयार हो गए हैं, लेकिन अफसरों की लापरवाही के कारण ये खाली पड़े हैं। क्षेत्र में अधिकांश सड़कों पर घूम रहे आवारा मवेशी हादसे का कारण बन रहे हैं। इन मवेशियों के कारण औसतन दो दिन में एक छोटा या बड़ा हादसा हो रहा है। जबकि गोठान बनने के बाद सभी मवेशियों को वहां पहुंचा देना था। मस्तूरी क्षेत्र में सभी गोठान अब तक उपयोगहीन पड़े हैं।

क्षेत्र के मस्तूरी- लवन हाईवे पर लावारिस मवेशियों का कब्जा रहने से आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। एक ओर जहां छत्तीसगढ़ शासन नरवा, गरवा, घुरवा, बारी जैसे बड़ी-बड़ी योजनाएं चला रही है। बावजूद इसके पंचायतों के जनप्रतिनिधियों के सुस्त रवैये व काम के प्रति लापरवाही के कारण आए दिन मवेशी नेशनल हाईवे पर बैठे रहते हैं। जिससे तेज रफ्तार से चल रहे बड़े छोटे वाहन दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। मस्तूरी मुख्यालय के समीप में ग्राम पंचायत वेद परसदा है। जहां छत्तीसगढ़ शासन की योजना के अंतर्गत 16 एकड़ भूमि में मॉडल गोठान तैयार किया गया है। जिसका कुछ दिन पहले ही प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा ग्राम पंचायत नेवरा में उद्घाटन किया गया था।

मवेशी सड़कों पर बैठे रहते हैं, ट्रैफिक में बन रहे बाधा

मस्तूरी- लवन हाईवे पर इस तरह से एक साथ बड़े समूह में घूमते नजर आते हैं मवेशी, जो बनते हैं हादसे का कारण।

फसलों को मवेशी पहुंचा रहे नुकसान

मवेशियों के खुले में घूमने का खामियाजा किसानों को उठाना पड़ रहा है। बड़ी संख्या में घूमने वाले मवेशी किसानों की फसलों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं। किसानों ने बताया कि इन दिनों मवेशी बड़े समूह के रूप में घूमते हैं। जैसे ही उन्हें मौका मिलता है तो वे खेतों पर धावा बोल देते हैं। इससे उनकी पूरी फसल ही उजड़ने की स्थिति में आ जाती है। इस स्थिति को भी जनप्रतिनिधियों के द्वारा जानबूझकर अनदेखा किया जा रहा है।

हर दो दिन में होता है एक हादसा

औसतन देखा जाए तो हर दो दिन में मवेशियों के कारण एक हादसा हो रहा है। मवेशियों के कारण सड़कों पर अभी तक दर्जनों दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। जिसमें कई लोग और मवेशियों की मौत भी हो चुकी है। कई ग्राम पंचायतों में हरेली त्योहार को जानवरों की बंधेज हो चुकी है। सब अपने अपने घर में जानवरों को बांधकर रखते हैं, ताकि किसी की फसल को नुकसान ना पहुंचाएं। लेकिन वेद परसदा में मॉडल गोठान बनने की वजह से वहां के ग्रामीण ना तो अपने जानवरों को बंधेज करके रखे हैं और ना ही मॉडल गोठान में भेजते हैं।

ग्रामीणों का नहीं मिल रहा सहयोग

ग्रामीणों का नहीं मिल रहा सहयोग


पार्षदों ने नपं की बैठक में दिया प्रस्ताव

मंगलवार को हुई नगर पंचायत की सामान्य बैठक में पार्षदों ने सर्व सहमति से एक प्रस्ताव सौंपा। जिसमें नगर पंचायत को बिलासपुर नगर निगम में शामिल करने का विरोध किया गया। इसके अलावा तय किया गया कि मुख्यमंत्री की जनसुनवाई में भी विरोध किया जाएगा। बुधवार को सकरी आ रहे गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को भी ज्ञापन सौंपा जाएगा।

पार्षदों ने नपं की बैठक में दिया प्रस्ताव

मंगलवार को हुई नगर पंचायत की सामान्य बैठक में पार्षदों ने सर्व सहमति से एक प्रस्ताव सौंपा। जिसमें नगर पंचायत को बिलासपुर नगर निगम में शामिल करने का विरोध किया गया। इसके अलावा तय किया गया कि मुख्यमंत्री की जनसुनवाई में भी विरोध किया जाएगा। बुधवार को सकरी आ रहे गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को भी ज्ञापन सौंपा जाएगा।

Masturi News - chhattisgarh news 18 gaithans ready in 21 yet cattle roaming on the streets are the cause of the accident
X
Masturi News - chhattisgarh news 18 gaithans ready in 21 yet cattle roaming on the streets are the cause of the accident
Masturi News - chhattisgarh news 18 gaithans ready in 21 yet cattle roaming on the streets are the cause of the accident
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना