प्रदेश में सबसे ज्यादा एयू में 36 हजार छात्रों ने भरा पुनर्मूल्यांकन का फॉर्म, जमा किए 45 लाख

Bilaspur News - एजुकेशन रिपोर्टर | बिलासपुर अटल यूनिवर्सिटी में इस बार हर साल से ज्यादा छात्रों ने उत्तरपुस्तिका सही चेक नहीं...

Bhaskar News Network

Aug 15, 2019, 09:30 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news 36 thousand students filled the revaluation form in the state39s highest au submitted 45 lakh
एजुकेशन रिपोर्टर | बिलासपुर

अटल यूनिवर्सिटी में इस बार हर साल से ज्यादा छात्रों ने उत्तरपुस्तिका सही चेक नहीं होने का संदेह जताया है। पिछले तीन साल से ज्यादा 36 हजार छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन और पुर्नगणना के लिए आवेदन किया है। वहीं 500 से ज्यादा छात्र सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत उत्तरपुस्तिका निकाल रहे हैं। पुनर्मूल्यांकन के आवेदन के लिए एक विषय का 125 रुपए यूनिवर्सिटी लेती है। अब यूनिवर्सिटी में अधिकारियों की कमी के कारण छात्रों की उत्तरपुस्तिका नहीं निकल पा रही है। इस वजह से छात्रों की उत्तरपुस्तिका बाहर नहीं जा पा रही है। ऐसे में पुनर्मूल्यांकन व पुनर्गणना के रिजल्ट के लिए छात्र यूनिवर्सिटी का चक्कर लगा रहे हैं।

एयू से संबद्ध 180 कॉलेज हैं। इन कॉलेजों के 1 लाख 62 हजार 432 छात्रों ने 95 परीक्षा केंद्रों में परीक्षा दी थी। परीक्षा खत्म होने के दो महीने में यूनिवर्सिटी ने वार्षिक परीक्षा के रिजल्ट जारी कर दिए। प्रदेश में सबसे पहले यूनिवर्सिटी ने रिजल्ट जारी करने का श्रेय भी ले लिया। जब रिजल्ट जारी हुआ तो छात्रों को नंबर कम मिला। इसको लेकर छात्र परेशान रहे। यूनिवर्सिटी में पहुंचकर कई बार विरोध भी जताया, लेकिन यूनिवर्सिटी के अधिकारी उनकी समस्या सुनने की बजाय आरटीआई में उत्तरपुस्तिका निकालने की सलाह दे रहे हैं। ऐसे में छात्रों ने आरटीआई के साथ-साथ पुनर्मूल्यांकन और पुनर्गणना के लिए आवेदन कर रहे हैं। हर साल की अपेक्षा सबसे ज्यादा 36 हजार छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन व पुनर्गणना के लिए आवेदन किया है। इसमें सबसे ज्यादा बीएससी के लगभग 10 हजार छात्रों ने आवेदन किया है। इसमें बीए के 5 हजार से ज्यादा छात्रों ने आवेदन किया है जबकि अन्य विषयों में भी 2 हजार से ज्यादा छात्रों ने फार्म भरा है।

आरटीआई के अंतर्गत भी निकाली जा रही उत्तर पुस्तिकाएं

जांच में पता चला कि दो पेज का मूल्यांकन ही नहीं हुआ

सही उत्तरपुस्तिका जंचने का विश्वास नहीं होने के कारण छात्र आरटीआई से उत्तरपुस्तिका निकाल रहे हैं। अब ऐसे में कई ऐसे छात्रों की उत्तरपुस्तिका जब निकली तो पता चला की किसी का एक तो किसी का दो पेज चेक नहीं हुआ है। इसके विरोध छात्रों ने किया। पर यूनिवर्सिटी के अधिकारी कह रहे हैं कि नंबर बढ़ाने का नियम नहीं है। अब छात्र परेशान हैं।

किस सत्र में कितने छात्रों ने परीक्षा दी

सत्र छात्र

2015-16 1 लाख 63 हजार

2016-17 1 लाख 56 हजार 500

2017-18 1 लाख 59 हजार

2018-19 1 लाख 62 हजार 432

एयू में 36 तो रविवि में 25 हजार आवेदन

अटल यूनिवर्सिटी ने प्रदेश में सबसे पहले रिजल्ट तो जारी कर दिया। छात्रों में सबसे ज्यादा अविश्वास भी एयू की चेकिंग पर है। रविशंकर यूनिवर्सिटी में 25 हजार छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन किया है। वहीं अटल यूनिवर्सिटी में यह आंकड़ा 36 हजार पहुंच गया है।

उत्तर पुस्तिका सही चेक हुई है, जल्द जारी होगा रिवेल का रिजल्ट

अटल यूनिवर्सिटी के परीक्षा नियंत्रक डॉ. प्रवीण पाण्डेय ने कहा कि उत्तरपुस्तिका सही से चेक हुई है। उत्तरपुस्तिकाओं का रिव्यू भी कराया गया है। जो छात्र पुनर्मूल्यांकन के लिए फार्म भरे हैं, उनका रिजल्ट जल्द जारी हो जाएगा।

22% छात्रों को एयू के मूल्यांकन पर भरोसा नहीं

अटल यूनिवर्सिटी में अभी तक 36 हजार छात्रों ने 45 लाख रुपए देकर पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन किया है। 1 लाख 62 हजार 432 छात्रों ने परीक्षा दी थी। इसमें से लगभग 20 से 25 हजार छात्र फेल हैं। अब ऐसे में 22 प्रतिशत छात्र ऐसे हैं, जिन्हें यूनिवर्सिटी के मूल्यांकन पर भरोसा नहीं है। इस कारण वे पुनर्मूल्यांकन, पुनर्गणना, आरटीआई लगा रहे हैं।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news 36 thousand students filled the revaluation form in the state39s highest au submitted 45 lakh
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना