• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Bilaspur News chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river

बारहों महीने बहेगी अरपा: 4 बांध और 2 एनिकट बनेंगे, हसदेव और तान नदी से पानी लाने की तैयारी

Bilaspur News - सूर्यकान्त चतुर्वेदी, राजू शर्मा | बिलासपुर गर्मियों में सूखी, बेजान हो जाने वाली अरपा। कचरा, मलबा फेंकने और 70...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:46 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
सूर्यकान्त चतुर्वेदी, राजू शर्मा | बिलासपुर

गर्मियों में सूखी, बेजान हो जाने वाली अरपा। कचरा, मलबा फेंकने और 70 नाले नालियों का पानी बहाने के कारण गटर बन चुकी हमारी अरपा को इस त्रासदी से निकालने तथा उसे जीवंत रखने ‘दैनिक भास्कर’ द्वारा चलाया गया अभियान अब सफलता की पटरी पर आने लगा है। शहरवासियों और अरपा के चाहने वाले अरपा पुत्रों के लिए यह खुशखबरी है कि राज्य सरकार ने अरपा में बारहों महीने पानी रखने की योजना के लिए आसन्न बजट में प्रावधान करने का फैसला किया है। कृषि, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने ‘दैनिक भास्कर’ को बताया कि अरपा में पांच बड़ी योजनाएं इसी बजट में मंजूर की जाएंगी। इन योजनाओँ से अरपा में वर्ष भर पानी का बहाव बना रहेगा। उन्होंने कहा कि जिस नदी से जनभावनाएं जुड़ी हैं, उसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अरपा में पानी रखने की स्वयं घोषणा की है। इसके लिए विभाग ने योजना तैयार करने सर्वे शुरू कर दिया है। बता दें कि ‘दैनिक भास्कर’ ने 25 मई 2017 से अरपा को जीवंत रखने सीरिज शुरू की। इस दौरान समाज के विभिन्न वर्गों की बैठक बुलाकर 5 जून को चौपाटी में संकल्प समारोह आयोजित करने जनसमर्थन जुटाया। इसमें सभी से अरपा को स्वच्छ रखने, कचरा, मलबा नहीं फेंकने और दूसरों को फेंकने से रोकने संकल्प कराया। इस कार्यक्रम में सभी दल व संस्था, संगठनों के 7 हजार लोग शामिल हुए। 11 अगस्त 2018 में ‘क्लीन अरपा, ग्रीन अरपा’ मैराथन और पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया। 31 मई 2019 को अरपा के ऊपर आकाश में मंडराते चील, कौए का चित्र छापकर प्रशासन को अरपा की दुर्दशा के प्रति आगाह किया। इसके बाद अरपा को जलकुंभी से मुक्त कराने खबर छाप कर प्रशासन को इसके लिए अभियान चलाने विवश किया।

जल संसाधन मंत्री बोले इसी बजट में स्वीकृत करेंगे

छपराटोला में 80 एमसीएम का बांध इसी जगह बनाएंगे। अरपा के पानी को महानदी में जाने से रोकने की योजना।

छपराटोला, खोंगर में बांध बनेगा: चौबे

जल संसाधन मंत्री चौबे ने बताया कि अरपा में बारहों महीने पानी रखने के लिए अरपा भैंसाझार बैराज से ऊपर छपराटोला, खोंगर में बांध बनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त बैराज और एनीकट की भी स्वीकृति दी जा रही है। अरपा के निचले इलाके में दो स्थानों पर बैराज तथा दो जगहों पर एनीकट बनाए जाएंगे ताकि पानी का बहाव बना रहे। बारिश का पानी रोका जाएगा, ताकि जरूरत के मुताबिक उसका उपयोग तटवर्ती शहरों में जल स्तर बनाए रखने तथा सिंचाई के लिए किया जा सके।

सबसे पहले हसदेव नदी पर 70 एमसीएम क्षमता का बांध बनाया जाएगा। इस बांध से 20 किलोमीटर दूर तान नदी के पास कटघोरा के ऊपर 50 एमसीएम का एक और बांध बनेगा। हसदेव का पानी तान में डायवर्ट करेंगे। फिर तान का पानी भैंसाझार बांध में पानी लाया जाएगा। यहां से अरपा में धीरे-धीरे पानी को छोड़ेंगे ताकि अरपा में बहाव बना रहे। इसकी लागत 1500 करोड़ होगी।

ऐसे समझिए कहां बनाएं जाएंगे बांध व एनिकट

अरपा का पानी महानदी में जाने से रोकेंगे

छपरा टोला फीडर जलाशय अरपा और माटी नाला योजना के तहत छपरा टोला खोंगसरा के पास एक 80 एमसीएम का बांध बनाने की तैयारी है। इस बांध का मुख्य उद्देश्य है कि अरपा से जो पानी बहकर महानदी में जा रहा है उसे रोकना। इसकी लागत 900 करोड़ होगी।

अहिरन का पानी आएगा खूंटाघाट

अहिरन खूंटाघाट योजना के तहत अहिरन नदी के ऊपर पाली ब्लॉक के पास 900 करोड़ से 50 एमसीएम का बांध बनाने की तैयारी है। अहिरन का पानी सीधे खूंटाघाट में लाया जाएगा। इसके बाद अमृत मिशन योजना के अंतर्गत शहरवासियों को पीने के पानी की सप्लाई हो सकेगी।

अरपा पर भास्कर अिभयान के तीन वर्ष

6 जून 2017

13 अगस्त 2018

31 मई 2019

3320 करोड़ की योजना में कहां, क्या बनेगा..

कोटा डिवीजन के कार्यपालन अभियंता अशोक तिवारी बताया कि हसदेव और तान नदी पर बांध बनाने की तैयारी चल रही है। राज्य सरकार के 2019-20 के बजट में इस प्रोजेक्ट को शामिल किया है। 1500 करोड़ के इस प्रोजेक्ट का नाम हसदेव अरपा परियोजना है। इसके अंतर्गत दो बांध बनाए जाएंगे। योजना के अंतर्गत 104 किलोमीटर दूर से अरपा में पानी लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि उक्त योजना के अतिरिक्त 1800 करोड़ में दो और बांध बनेंगे। साथ ही शहर के बीच 20 करोड़ की लागत से दो एनीकट भी बनाने की तैयारी चल रही है। यानी 3320 करोड़ से चार बांध और दो एनीकट बनाए जाएंगे।

Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
X
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
Bilaspur News - chhattisgarh news arpa will flow for twelve months 4 dams and 2 anicuts will be built preparing to bring water from hasdev and tan river
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना