एयू ने 3 महिला टीमों को खेलने नहीं भेजी, महिला खेल को बढ़ावा देने की बात कागजों में

Bilaspur News - अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी के अधिकारियों की मनमानी के कारण इस सत्र में अब तक चार टीमें खेलने के लिए नहीं भेजी...

Jan 16, 2020, 06:45 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news au did not send 3 women teams to play paper to promote women sports
अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी के अधिकारियों की मनमानी के कारण इस सत्र में अब तक चार टीमें खेलने के लिए नहीं भेजी जा सकीं। एथलेटिक्स में मापदंड पूरा नहीं कर पाने के कारण टीम को नहीं भेजने की बात कहने वाले यूनिवर्सिटी के अधिकारी महिला खेल को बढ़ावा देने की बात सिर्फ कागजों में कर रहे हैं। यहां से तीन महिला टीमों को खेलने तक नहीं भेजा गया। अटल यूनिवर्सिटी के टीम अधिकारियों ने अंतर विश्वविद्यालयीन के लिए जूडो महिला कानपुर, महिला वेटलिफ्टिंग टीम चेन्नई, महिला क्रिकेट टीम एपीएस रीवा नहीं भेजी। इसकी मुख्य वजह यूनिवर्सिटी के खेल विभाग में नियमित संचालक का नहीं होना और विभाग को संचालित करने के लिए आवश्यक उपकरण व कर्मचारियों की कमी होना है। इसके अलावा संचालक के खेल से जुड़े न होने और उनसे खेल विभाग के अलावा योग, फूड प्रोसेसिंग विभाग भी है। तिहरा प्रभार निभाने के साथ ही वे यूनिवर्सिटी के दूसरे काम भी करते हैं। इस कारण वे खिलाड़ियों के तरफ ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। यही वजह है कि यूनिवर्सिटी से मान्यता प्राप्त कॉलेजों में पढ़ रहे खिलाड़ी परेशान हो रहे हैं और खेलने भी नहीं जा पा रहे हैं। खेल अधिकारियों का कहना है कि इस सत्र में हालात यह है कि जिन कॉलेज ने मेजबानी ली थी उन्हें ही खिलाड़ियों को भेजने की जिम्मेदारी भी दे दी गई। इस बार खुद खेल अधिकारी अपने पास से पैसा लगाकर खिलाड़ियों को भेज रहे हैं। खिलाड़ियों को भेजने के लिए समय पर पैसा नहीं मिल पा रहा है।

क्रिकेट टीम जब भेजी तो नहीं कराया रिजर्वेशन

यूनिवर्सिटी की क्रिकेट टीम को कटक जाना था। इस दौरान यूनिवर्सिटी की तरफ से कंसेशन देरी से बनाए जाने के कारण टीम के खिलाड़ियों ने खुद खर्च कर आनन-फानन में रिजर्वेशन कराया। सीट नहीं मिलने पर झारसुगड़ा से खिलाड़ियों को जनरल कोच में सफर करना पड़ा।

हैंडबॉल टीम खुद खर्च कर गई बनारस

यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व करने बनारस गई हैंडबॉल टीम को यूनिवर्सिटी के अधिकारियों टीए-डीए नहीं दिया। हालात यह हो गई कि खिलाड़ियों को भोजन का संकट हो गया। कुल सचिव से शिकायत होने पर पता चला कि टीम खेलने बनारस गई थी और उसके लिए एडवांस आंध्रा यूनिवर्सिटी भेजने के नाम से निकाला गया है।

एथलेटिक्स टीम के समय बनाया बहाना

हाल ही में यूनिवर्सिटी की एथलेटिक्स टीम नहीं गई थी। तब खेल संचालक सौमित्र तिवारी ने कहा था कि खिलाड़ी एथलेटिक्स नियमों के हिसाब से क्वालीफाई नहीं कर पाए थे। इसलिए खिलाड़ियों को नहीं भेजा गया। हालांकि खेल अधिकारियों का कहना है कि महासमुंद में जब चयन की प्रक्रिया की गई थी तो खिलाड़ियों को भेजा जाना था।

  सौमित्र तिवारी, प्रभारी संचालक खेल विभाग एयू


- महिला क्रिकेट के लिए खिलाड़ी नहीं मिलने से इस बार आवंटन नहीं मिला। वेट लिफ्टिंग में मात्र 1 खिलाड़ी थी, चेन्नई जाना था, कोच ने मना कर दिया । यही हाल जूडो टीम के साथ भी हुआ।


- क्रिकेट ड्यूज बॉल से होता है, इस बार क्रीड़ा परिसर की बैठक में आवंटन नहीं दिया गया। खिलाड़ियों के लिए प्रयास कर रहे हैं।


- जूडो की टीम के लिए कैंप लगवाया था । कोच ने बताया टीम खेलने लायक नहीं है। वजन वर्ग के हिसाब से खिलाड़ी खेल नहीं पा रहे थे। सुझाव पर ही टीम नहीं भेजी गई।

क्रिकेट के लिए आवंटन नहीं मिला

X
Bilaspur News - chhattisgarh news au did not send 3 women teams to play paper to promote women sports
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना