शहर की शैली मिस ट्रांस क्वीन में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करेंगी

Bilaspur News - जिंदगी में अगर कुछ करना है या आगे बढ़ना है तो शिक्षा बहुत जरूरी है। शिक्षा ही आपको वह मुकाम दिला सकती है जिसे आप पाना...

Sep 20, 2019, 06:31 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news city style will represent chhattisgarh in miss trans queen
जिंदगी में अगर कुछ करना है या आगे बढ़ना है तो शिक्षा बहुत जरूरी है। शिक्षा ही आपको वह मुकाम दिला सकती है जिसे आप पाना चाहते हैं। यह कहना है बिलासपुर में जन्मीं ट्रांसजेंडर शैली राय का। शैली 17 साल, कक्षा 11वीं तक लड़कों की तरह ही रहीं और इसके बाद परिवार ने उसे घर से निकाल दिया। 29 साल शैली की अब दिल्ली में 3 अक्टूबर को होने वाले मिस ट्रांस क्वीन इंडिया कांटेस्ट में हिस्सा लेकर छत्तीसगढ़ को रिप्रजेंट करेंगी। पिछले साल छग की वीणा सेंद्रे ने देश की पहली ट्रांस क्वीन का खिताब जीता था।

दिल्ली में होने वाले देश के दूसरे मिस ट्रांस क्वीन इंडिया कॉन्टेस्ट में 12 साल से रायपुर के महावीर नगर में रहने वाली शैली प्रदेश को रिप्रजेंट करेंगी। 17 साल तक लड़कों की तरह जिंदगी जीने वाली शैली ट्रांस क्वीन का खिताब जीतकर बतौर मॉडल करियर बनाना चाहती हैं। खिताब जीतने के बाद समाज के प्रति जागरूकता लाना चाहती हैं कि हमारे घर में अगर ऐसा कोई बच्चा पैदा होता है तो हम उसके हुनर को निखारें वह भी हमारा नाम रोशन कर सकता है। सामान्य लड़का या लड़की तरह उसकी भी शिक्षा पूरी करें। रायपुर के समता कॉलोनी में ब्यूटी सेंटर संचालित कर रहीं शैली ने बताया कि जिंदगी में बहुत बुरे दिन देखे हैं। 17 साल की उम्र में परिवार ने उन्हें घर से निकाल दिया। इसके बाद दर-दर की ठोकरें ही मिलीं। सभी की जिंदगी में उतार-चढ़ाव आता है लेकिन मेरी जिंदगी में सिर्फ उतार ही आया फिर भी हार नहीं मानी। अब चढ़ाव शुरू हुआ। घर से निकलने के बाद पेट भरने के लिए धरम अस्पताल (सिम्स) में रातें गुजारीं और ट्रेन में भीख तक मांगनी पड़ी। खुद को संभाला और पढ़ाई के दम पर आगे बढ़ती गईं। प्राइवेट 12वीं पास की। इसके बाद फैशन डिजाइनिंग, मल्टीमीडिया और ब्यूटीशियंस का कोर्स किया। अपनी कम्यूनिटी के दूसरे लोगों को ये बताना चाहती हूं कि हुनर के दम पर हम भी सब कुछ हासिल कर सकते हैं।

29 से शुरू होगा कॉन्टेस्ट

ट्रांस क्वीन कॉन्टेस्ट दिल्ली में 29 सितंबर से शुरू होगा। फिनाले 3 अक्टूबर को होगा। विनर्स का सलेक्शन वोटिंग के आधार पर होगा। कोई भी व्यक्ति 2 अक्टूबर तक 24 घंटे में वोट कर सकता है। शैली को वोट देकर जिताने के लिए https://pageantvote.in/pageants/2387/contestants/7123 साइट पर विजिट कर सकते हैं।

परिवार ने नहीं समझी थी मेरी फीलिंग...

शैली ने बताया कि मेरी फीलिंग औरत की थी, माता-पिता ने मेरा नाम अजीत रखा था। अजीत यानी जिसे कोई जीत नहीं सकता। हमेशा विचार करती थी कि यह नाम तो लड़के का है और मैं तो लड़का नहीं हूं। फिर सोसायटी ने प्राब्लम किया और परिवार ने घर से निकाल दिया, वजह सिर्फ यह कि मैं ट्रांसजेंडर हूं पर मेरी क्या गलती है।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news city style will represent chhattisgarh in miss trans queen
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना