कांग्रेस: राजीव भवन का गेट बंद करना पड़ा

Bilaspur News - कांग्रेस: राजीव भवन का गेट बंद करना पड़ा कांग्रेस ने बस्तर संभाग के सभी प्रत्यािशयों की सूची जारी कर दी है।...

Dec 04, 2019, 07:31 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news congress rajiv bhawan39s gate had to be closed
कांग्रेस: राजीव भवन का गेट बंद करना पड़ा

कांग्रेस ने बस्तर संभाग के सभी प्रत्यािशयों की सूची जारी कर दी है। रायपुर-बिलासपुर समेत सभी नगर निगमों के उम्मीदवारों के नाम बुधवार को तय किए जाएंगे।

अप्रत्यक्ष चुनाव से बिगड़ा गणित : इस बार निगमों के मेयर और नगर पालिका व पंचायतों के अध्यक्षों का चुनाव अप्रत्यक्ष पद्धति से होना है। इस वजह से सियासी समीकरण गड़बड़ा गया है। कांग्रेस और बीजेपी दोनों के दलों के मेयर पद के दावेदार अपने लिए वार्ड की तलाश कर रहे हैं। इन वार्डों में पिछले पांच साल से सक्रिय पार्षद या दावेदार उनके लिए वार्ड छोड़ने तैयार नहीं हैं। राजधानी में तो कई बड़े नेता ही वार्डों में विरोध का सामना कर रहे हैं। परिसीमन और आरक्षण ने भी कई नेताओं को अपने ही वार्ड में पराया बना दिया है।

चुनाव में बगावत की आशंका : प्रदेश में यह पहला मौका है, जब नगरीय निकाय चुनाव के समय कांग्रेस की सरकार है और भाजपा विपक्ष में है। दोनों ही दलों में कार्यकर्ताओं को काफी उम्मीद है। इस वजह से दावेदारों की संख्या काफी ज्यादा है। एक ही वार्ड में एक दर्जन दावेदार हैं। इन कारण चुनाव में विस्फोटक स्थिति बन सकती है। बीजेपी में तो पूर्व विधायक व संसदीय सचिव रहे युद्धवीर सिंह जूदेव ने मोर्चा खोल दिया है। जूदेव ने पार्टी का उम्मीदवार घोषित होने से पहले ही अपने समर्थकों को उम्मीदवार बना दिया है।

बाजार में समोसा 10 से 15 रु., लेकिन चुनावी समोसा 8 रु. का

हालांकि बहुत सी सामग्रियों के दाम बाजार मूल्य से कम हैं जबकि कुछ ऐसी भी हैं। इसके दाम प्रचलित कीमतों से ज्यादा निर्धारित कर दिए गए हैं। आयोग की प्रचलित परिपाटी के मुताबिक जिला निर्वाचन अधिकारी चुनाव के लिए रेट कार्ड बनाने से पहले राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा करते हैं, जिसके आधार पर ही रेट लिस्ट का निर्धारण किया जाता है। वार्ड का दायरा विधानसभा क्षेत्र या लोकसभा क्षेत्र की तुलना में बहुत ज्यादा कम होता है। यही नहीं खर्च की सीमा भी पार्षद प्रत्याशियों के लिए बेहद कम है। लेकिन पार्षद प्रत्याशियों के रेट कार्ड में लोकसभा और विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों के रेट लिस्ट में मामूली सा ही अंतर है।

10 हजार रुपए में बनेगा हेलिपेड :

पार्षद प्रत्याशी प्रचार के लिए ऐसे व्यक्ति को बुलाते हैं, जो हेलिकॉप्टर से आता है। तो इसके हेलिपेड को बनाने के लिए आयोग ने 10 हजार रुपए का खर्च निर्धारित किया है। प्रचार सभा या चुनाव कार्यालय में दरी या चटाई का रेट 3 रुपए प्रति वर्ग फुट रोजाना की दर से लगाया जा रहा है। वार्ड में घूमने के लिए अगर उम्मीदवार चौपहिया वाहन का इस्तेमाल करता है तो इसके लिए डीजल खर्च छोड़कर 1 हजार रुपए से लेकर ढ़ाई हजार रुपए रोजाना की दर से लगाया गया है।

टोपी-गमछे 25 और10 का दुपट्टा : समर्थकों के टोपी गमछे बिल्ले वगैरह के रेट भी तय किए गए हैं। टीशर्ट की कीमत जहां 60 रुपए प्रतिनग लगाई गई है। वहीं टोपी और गमछे का दाम 25 रुपए रखा गया है। प्रचार में झंडियों की तोरण लगाने के लिए प्रति व्यक्ति 400 रुपए की मजदूरी फिक्स की गई है। दो घंटे के राउत नाचा या म्यूजिक के साथ प्रचार के लिए 10 हजार रुपए निर्धारित हैं। मेटल का एक बिल्ला 25 रुपए का और कागज के एक हजार बिल्लों के लिए 100 रुपए की दर है।

पार्षद जी का खर्च कार्ड

सामग्री - दर

चाय (फुल) - 08 रुपए

काफी (फुल)- 20 रुपए

समोसा, आलू गोंडा, कचौड़ी (प्रतिनग) - 8 रुपए

आलू पोहा (प्रति प्लेट) - 15 रुपए

मिक्चर (50 ग्राम) - 05 रुपए

जलेबी (50 ग्राम) - 05 रुपए

पूड़ी सब्जी (5 नग पुड़ी प्रति प्लेट) - 30 रुपए

पानी की बोतल (1 लीटर)-15 रु.

जनरल थाली - 65 रुपए

नार्मल थाली - 80 रुपए

स्पेशल थाली - 120 रुपए

केसर लस्सी (प्रति गिलास)-30 रु.

शरबत (प्रति गिलास) - 10 रुपए

पेपर पैक फ्रूटी - 15 रुपए

कोल्ड ड्रिंक (200 एमएल)-18 रु.

पानी की बोतल (1 लीटर)- 15 रु.

कुर्सी - 6 रुपए प्रतिनग, रोजाना

वीआईपी कुर्सी- 85 रु. प्रतिनग, रोजाना

सोफा थ्री सीटर - 400 रुपए प्रतिनग, रोजाना

लोस चुनाव के रेट कार्ड से ज्यादा थालियों के दाम

थाली - लोस चुनाव में दाम

जनरल - 50 रुपए

नार्मल - 75 रुपए

स्पेशल - 100 रुपए

ये 80 लाख लोग इंसान तो नहीं हैं...

इस वेबसाइट में हैदराबाद की पीड़ित का नाम टॉप ट्रेंडिंग में रहा। साइबर विशेषज्ञों का मानना है कि यह डेटा सिर्फ एक वेबसाइट का है। भारत में सैकड़ों पोर्न साइटें प्रतिबंधित होने के बावजूद डोमेन नेम बदलकर चल रही हैं। जब एक साइट पर पीडित का नाम इतनी बार सर्च किया गया तो सैकड़ों साइटों पर कितनी बार सर्च किया गया होगा, इसका अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है।

निर्भया के दरिंदे की दया याचिका खारिज होते ही चारों को फांसी देने की तैयारी

तिहाड़ जेल ने स्पष्ट कर दिया है कि जैसे ही एक दोषी की दया याचिका खारिज होगी, चारों दोषियों को एक साथ फांसी दी जा सकती है। जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया कि 29 अक्टूबर को चारों कैदियों को राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाने के लिए सात दिन का समय दिया गया था। सिर्फ विनय शर्मा ने दया याचिका लगाई, जबकि अक्षय, पवन और मुकेश ने एेसा नहीं किया। विनय की दया याचिका खारिज होते ही चारों दाेषियों को एक साथ फांसी देने की अर्जी पटियाला हाउस अदालत में लगा दी जाएगी। तिहाड़ जेल में अभी कोई भी जल्लाद नहीं है, इस सवाल पर गोयल ने कहा कि जरूरत पड़ने पर जल्लाद किसी भी दूसरे जेल से बुलाया जा सकता है।

गृह राज्यमंत्री बोले- मुश्किल में मदद करेगा 112 इमरजेंसी हेल्पलाइन एप : केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्‌डी ने लोगों से अपील की है कि वे 112 इमरजेंसी हेल्पलाइन एप डाउनलोड करें। पूरे देश में यह एप तुरंत पुलिस की मदद उपलब्ध कराएगा। रेड्‌डी मंगलवार को लोकसभा में बोल रहे थे। उधर, आंध्र प्रदेश पुलिस महानिदेशक ने राज्य पुलिस को निर्देश दिया है कि मामला उनके पुलिस क्षेत्र का हो या न हो पीड़िता यदि कहती है तो उसकी शिकायत जरूर दर्ज करें।

िभलाई: जिस संचालक पर अकाउंटेंट की हत्या का शक था, उसकी भी हो गई हत्या

सिर पर पत्थर मारकर एकाउंटेंट की हत्या : एसएसपी अजय कुमार यादव ने बताया कि सोमवार शाम खेत में आनंद (59) निवासी हरिनगर (दुर्ग ) का शव पड़ा मिला था। सिर पर पत्थर मारकर हत्या की गई थी। मौके से पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल पत्थर भी बरामद कर लिए थे। करीब दो सौ मीटर दूरी पर मोपेड गाड़ी पड़ी मिली थी। नंबर के आधार पर पता चला कि वह स्कूल संचालक विवेकानंद की है। घटना के बाद से उसका मोबाइल बंद थी। इस वजह से पुलिस को हत्या में संचालक के शामिल होने की शंका थी। घटना के बाद पुलिस ने अकाउंटेंट और संचालक की कॉल डिटेल खंगाली। दोनों नंबरों में एक युवक का नंबर संदेह के दायरे में आ गया।

कॉल डिटेल से हुआ खुलासा :पुलिस ने देर रात दबिश देकर गुंडरदेही से हत्या में शामिल बदमाश को पकड़ कर लिया। उसके निशानदेही पर दूसरे बदमाश भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। दोनों ने पूछताछ में बताया कि स्कूल संचालक की भी हत्या की है। पहले तो दोनों बदल बदलकर पुलिस को बयान देते रहे। सख्ती करने पर दोनों टूट गए। शाम को दोनों ने संचालक की हत्या कर शव रनचरई (बालोद) इलाके में परसई गांव के आस पास फेंकना कबूल किया।

संचालक के शव को जानवरों ने नोच लिया : एएसपी लखन पटले ने बताया कि हत्यारों के निशानदेही पर पुलिस संचालक की लाश के तलाश में गई थी। एसडीओपी पाटन आकाश राव और टीआई राकेश झा की टीम को छानबीन के बाद शव मेन रोड से करीब छह किलोमीटर दूर नहर में पड़ा मिला। शव के उपरी हिस्से को जानवरों ने नोच लिया था। आसपास छानबीन की गई तो पता चला कि करीब तीन किलोमीटर दूर सिर पर हथौड़ा मारकर संचालक को मौत के घाट उतारा गया था। इसके बाद शव को ठिकाने लगाने के उद्देश्य से शव को नहर में फेंककर बदमाश फरार हो गए। पुलिस के मुताबिक लेनदेन को लेकर हत्या करना बदमाशों ने कबूल किया है। दोनों हत्यारों के बयानों की तस्दीक की जा रही है। पूरे मामलों की पुलिस जल्द खुलासा करने का दावा कर रही है।

यूपी: बेटे-बेटी काे जहर दिया, बिजनेस पार्टनर के साथ कूदकर दंपती ने दी जान

एेसे में विवाहेत्तर संबंधाें का एंगल भी अभी खारिज नहीं किया गया है। दंपती के फ्लैट की दीवार पर सुसाइड नोट लिखा था। 500 रुपए का नोट चिपकाकर लिखा था कि यह हमारे अंतिम संस्कार के लिए है। साथ ही अंतिम इच्छा लिखी थी कि सभी का अंतिम संस्कार एक साथ किया जाए। दीवारों पर कुछ बाउंस चेक भी चिपके थे। सुसाइड नोट में राकेश वर्मा नाम के शख्स काे माैताें का जिम्मेदार बताया गया है। पुलिस के मुताबिक वह गुलशन का साढ़ू है। गुलशन के भाई ने आरोप लगाया कि उनके भाई और साढ़ू के बीच 2 करोड़ रुपए के लेन-देन का विवाद था। यही विवाद इस घटना का कारण बना।

2010-19 सबसे गर्म दशक; धरती का तापमान 1.1O बढ़ा....

दुनिया के समुद्र 150 साल पहले की तुलना में 26% अम्लीय हो गए हैं, जिसके कारण लोगों के भोजन और नौकरियों पर असर पड़ सकता है। डब्ल्यूएमओ के महासचिव पेटरी तलास ने कहा- ‘एक और साल, एक और रिकॉर्ड। साल 2015 में जो हमने सबसे ऊंचा तापमान दर्ज किया था, वह 2020 में टूटने वाला है। लू, बाढ़, सूखा और चक्रवात की घटनाएं पहले सदियों तक नहीं हाेती थीं, लेकिन बढ़ते कार्बन उत्सर्जन और ग्रीन हाउस गैसाें के कारण तापमान बढ़ने से आए दिन इसके दुष्परिणाम देखने को मिल रहे हैं। यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और जापान में लू, द. अफ्रीका में महातूफान, ऑस्ट्रेलिया, कैलिफोर्निया के जंगलों में आग की घटना इसका ताजा उदाहरण है। पिछले 40 साल में हर साल पिछले से अधिक गर्म रहा है। रिपोर्ट में कहा गया कि इस साल के अंत तक मौसम में बदलाव के चलते विस्थापित होने वालाें की संख्या 2.2 करोड़ पहुंच सकती है। इधर, संयुक्त राष्ट्र ने पिछले हफ्ते जारी बयान में कहा कि दुनिया को कार्बन उत्सर्जन में हर साल 7.6% की कटौती की जरूरत है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो 2030 तक तापमान 1.5 डिग्री बढ़ सकता है। अगर ऐसा हुआ तो यह सबसे भयावह स्थिति होगी।

अयाेध्या मामला: मुस्लिम पक्ष ने राजीव धवन काे बीमार बताकर सुनवाई से हटाया

धवन ने कहा कि बाबरी केस के वकील (एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड) एजाज मकबूल ने मुझे बर्खास्त कर दिया है, जो जमीयत का मुकदमा देख रहे हैं। मुझे बर्खास्तगी का पत्र भेजा गया है। वहीं एजाज मकबूल ने कहा कि यह कहना गलत है कि राजीव धवन को उनकी बीमारी के कारण केस से हटाया। मुद्दा यह है कि मेरे मुवक्किल (जमीयत उलेमा-ए-हिंद) कल (साेमवार) ही पुनर्विचार याचिका दायर करना चाहते थे। इसे राजीव धवन को पूरा करना था। मैं उनका नाम याचिका में नहीं दे सका, क्योंकि वह उपलब्ध नहीं थे। यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। मुस्लिम पक्षकार एम सिद्दीकी ने सोमवार को अयोध्या रामजन्मभूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में 217 पन्नाें की पहली पुनर्विचार याचिका दाखिल की है।

एअाईएमपीएलबी ने कहा- उम्मीद है कि हमारी पुनर्विचार याचिका धवन ही दाखिल करेंगे: अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लाॅ बाेर्ड (एअाईएमपीएलबी) ने उम्मीद जताई है कि अयाेध्या विवाद में सुप्रीम काेर्ट के फैसले के खिलाफ जब वह अपनी पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा, तब उसकी पैरवी वकील राजीव धवन करेंगे। बाेर्ड के प्रवक्ता ने खालिद सैफुल्ला रहमानी ने ट्वीट किया, “राजीव धवन हमेशा से ही न्याय और एकता के प्रतीक रहे हैं। बाेर्ड सुप्रीम काेर्ट में उनके नेतृत्व में ही अागे बढ़ेगा।’ बाेर्ड के सदस्य माैलाना उमरेन ने ट्वीट किया, “बाबरी मस्जिद केस में हम वकील राजीव धवनजी के कर्जदार हैं। उन्हाेंने इस केस की पूरी गंभीरता अाैर प्रतिबद्धता से पैरवी की है। हमें उम्मीद है कि उनके जरिए ही हम पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे।’ बाेर्ड के महासचिव माेहम्मद वली रहमानी ने एक बयान में कहा कि वकीलाें की टीम पुनर्विचार याचिका का मसाैदा तैयार कर रही है। इसे राजीव धवन के जरिए दाखिल किया जाएगा। बाेर्ड सचिव जफरयाब जिलानी ने कहा कि पुनर्विचार याचिका अगले दाे-तीन दिनाें में दाखिल कर दी जाएगी।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news congress rajiv bhawan39s gate had to be closed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना