बंदी अपनी पैरवी के लिए निशुल्क अधिवक्ता प्राप्त कर सकते हैं : न्यायाधीश तिगाला

Bilaspur News - राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के संयुक्त तत्वावधान में केन्द्रीय जेल...

Nov 11, 2019, 06:26 AM IST
राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के संयुक्त तत्वावधान में केन्द्रीय जेल बिलासपुर में विधिक सेवा शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि जिला न्यायाधीश व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष एनडी तिगाला थे। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण का उद्देश्य नागरिकों को न्याय के समान अवसर उपलब्ध कराना है। इसी उद्देश्य से संसद ने विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 पारित किया और इसे 1995 से क्रियान्वित किया गया है। उन्होंने बंदियों से कहा कि वे अपने मामलों में पैरवी के लिए निशुल्क विधिक सहायता के अंतर्गत अधिवक्ताओं की सेवाएं प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण व जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों के माध्यम से सजायाफ्ता बंदियों की ओर से अपील प्रस्तुत करने के संबंध में चलाई जा रही मुहिम की जानकारी दी। इस दौरान मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट डीडी चौहान ने बंदियों के अधिकार के संबंध में जानकारी दी। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की उपसचिव श्वेता श्रीवास्तव ने राज्य प्राधिकरण के माध्यम से संचालित विधिक सेवा गतिविधियों की जानकारी दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बिलासपुर के सचिव बृजेश राय ने लीगल एड क्लीनिक, जेल विजिट लायर और अपील संबंधी चलाए गए मुहिम की जानकारी दी। विधिक सहायता अधिकारी वीबी मिश्रा ने विधिक सेवा प्राधिकरण के गठन के उद्देश्य न्याय के समान अवसर के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर केन्द्रीय जेल के उपअधीक्षक यूके पटेल, जेलर एके बाजपेयी सहित अन्य उपस्थित थे। इस दौरान महिला बंदी प्रकोष्ठ में विशेष विधिक सहायता व स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते न्यायाधीश एनडी तिगाला।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना