चिंता नहीं चिंतन, व्यथा नहीं व्यवस्था करें

Bilaspur News - श्री धीर मुनि मसा ने अपने प्रवचन में बताया कि यदि सुख में ही प्रभु का चिंतन करें तो दुख होगा की नहीं। परंतु मनुष्य...

Feb 23, 2020, 06:45 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news do not worry do not worry

श्री धीर मुनि मसा ने अपने प्रवचन में बताया कि यदि सुख में ही प्रभु का चिंतन करें तो दुख होगा की नहीं। परंतु मनुष्य चिंता करता है और उस चिंता में ही उसे दुख भोगना पड़ता है। इसके बाद मनुष्य को जो उसने सपने देखे हैं वहां सब यदि उसे प्राप्त हो जाता है तो उसे सुख कहते हैं। परंतु जब मनुष्य को जो प्राप्त हुआ है उसी में वह सुख की अनुभूति करता है तब उसे आनंद कहते हैं। मनुष्य को हमेशा आनंद में ही जीना चाहिए।

टिकरापारा में चल रहे प्रवचन में उन्होंने आगे कहा कि व्यथा नहीं, मनुष्य को व्यवस्था करनी चाहिए। व्यथा तो मनुष्य के जीवन में हमेशा रहती है उसकी व्यवस्था करने से मनुष्य का जीवन सरल और आनंद में रहता है। मनुष्य को हमेशा अपना कर्म तो करना ही पड़ता है। कर्म के साथ-साथ धर्म करना भी जरूरी है। मनुष्य को यह वचन लेना चाहिए कि रोज 24 घंटे में से कुछ समय ही सही पर थोड़ा समय धर्म करने के लिए भी कोशिश करना चाहिए। पुण्य के उदय बिना सब कुछ मिलना संभव नहीं है इसलिए प्रतिफल शुभ विचार धारा रखना जरूरी है। अर्पण विधि प्रवीण भाई दामाणी ने लिया। नौकारसी सुबह अमृतलाल छगनलाल तेजाणी परिवार की तरफ से, दोपहर में स्वामी वत्सल के लाभार्थी भानु बेन सुतारिया परिवार रहे। रविवार को गुरुदेव का आशीर्वाद प्राप्त करने रायपुर श्री संघ के श्रावक-श्राविका आ रहे। प्रवचन में हाईकोर्ट जज गौतम चौरड़िया, विमल चोपड़ा, भगवानदास सुतारिया, मनु भाई मिठाणी, गुलाब तेजाणी, शरद दोषी, गोपाल जोशी, प्रकाश वेलाणी, किशोर देसाई, सुशील वेलाणी, प्रदीप दामाणी, हसमुख कोठारी, मनीष शाह, राजू तेजाणी, दिलीप तेजाणी, प्रमित तेजाणी, मनोज, गोपाल वेलाणी, दीपक सुतारिया, कृष्ण वेलाणी, केतन सुतारिया, नरेंद्र तेजाणी, संजय देसाई, हेमंत सेठ आदि लोग मौजूद रहे।

टिकरापारा में प्रवचन के दौरान उपस्थित श्रावक-श्राविका।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news do not worry do not worry

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना