किराना दुकान में लगी आग, परिवार के निकलते ही सिलेंडर फटा, बाल-बाल बचे

Bilaspur News - ग्राम बेलपान में अज्ञात कारणों से लगी आग के कारण किराना व्यवसायी की दुकान सहित गृहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया।...

Jan 19, 2020, 07:50 AM IST
Takhatpur News - chhattisgarh news fire in grocery store cylinder breaks as family leaves narrow escape
ग्राम बेलपान में अज्ञात कारणों से लगी आग के कारण किराना व्यवसायी की दुकान सहित गृहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया। समय पर नींद खुल जाने से परिवार के सदस्यों की जान बच गई। घर से बाहर निकलने के कुछ मिनट बाद गैस सिलेंडर फट गया था। इस आग में व्यवसायी के साथ ही एक फर्नीचर दुकान और दो पान के ठेले भी जल गए। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। लेकिन शॉर्ट सर्किट की आशंका जताई जा रही है।

तखतपुर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत बेलपान में बीती रात भीषण आग लगने से किराना दुकान संचालक की दुकान जलकर खाक हो गई। दुकान के सामान के साथ ही फ्रिज, कूलर, टीवी और कपड़े सहित नकद और बिस्तर भी जल गया। समय रहते संचालक की नींद खुल जाने के कारण परिवार के सभी सदस्य सुरक्षित बच गए। इस आग में दुकान संचालक को लाखों का नुकसान हो गया। वहीं पास ही स्थित फर्नीचर दुकान और पान ठेले भी जल गए। पुलिस के अनुसार ग्राम उमरिया निवासी अशोक यादव पिता कार्तिक यादव उम्र 42 वर्ष ग्राम बेलपान में ही रहकर मुख्य मार्ग में बाज़ार में किराना दुकान संचालित करते हैं और परिवार सहित वहीं रहते हैं। अशोक की दुकान से ही लगाकर हरदी निवासी संतोष कौशिक की फर्नीचर बनाने की दुकान है, वह भी आग के कारण पूरी जल गई।

हादसा
आग से लाखों का नुकसान, परिवार के पास कुछ नहीं बचा, लोगों ने की मदद

ग्रामीणों ने की पीड़ित की मदद

किराना दुकान संचालक अशोक यादव की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। वह किराना दुकान से ही अपने परिवार का भरण पोषण करता था और वही रहता भी था। रात में लगी आग के कारण उसका सारा सामान जलकर खाक हो गया। केवल पहने हुए कपड़े ही बचे थे। लोगों से जानकारी होने और उनकी अनुशंसा पर पंचायत चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों ने उसकी तात्कालिक आर्थिक सहायता की। जिससे वह अपने परिवार के लिए खाने का सामान और कपड़े खरीद सका। साथ ही जनपद पंचायत के प्रत्याशी ने चावल की भी मदद की।

फर्नीचर दुकान और ठेले भी जल गए

रात में लगी इस भीषण आग में संतोष कौशिक की फर्नीचर दुकान में रखा लकड़ी, समेत मशीनें जल गईं। साथ ही बेलपान के ही रहने वाले मान सिंह मरावी पिता तिलोचन और कलेश नेताम पिता चैतराम के पान ठेले भी जलकर खाक हो गए।

बरगद का पेड़ दूसरे दिन शाम तक जला

आग से पास ही लगा हुआ बरगद का पेड़ भी आ गया और इस आग में बड़ा पेड़ भी जलकर गिर गया और उसका ठूंठ दूसरे दिन शाम तक भी जलता रहा। पेड़े कलेश नेताम के पान ठेले पर गिरा जिससे वह भी जलकर गया।

किराना दुकान में लगी आग।

तखतपुर में दमकल की कमी खली

बेलपान का करीबी शहर नगर पालिका तखतपुर है। नगर पालिका तखतपुर में आग बुझाने के लिए दमकल की कोई व्यवस्था नहीं है। क्षेत्र में कहीं भी आगजनी होती है तो अग्निशमन के लिए बिलासपुर और मुंगेली के दमकलों पर निर्भर होना पड़ता है। तब तक जो संसाधन होते हैं उसी से आग बुझाने की कोशिश करना पड़ता है। आग बुझाने के लिए दमकल को आने में ढाई घंटे का समय लग गया। इस बीच सब कुछ जलाकर खाक हो चुका था। यदि तखतपुर नगर पालिका के पास दमकल रहती तो 10 से 15 मिनट में पहुंच जाती इससे समय रहते कुछ किया जा सकता था। एक बार फिर तखतपुर नगर पालिका में दमकल नहीं होना खल गया।

समय रहते नींद खुली तो बच गई परिवार की जान

रात में अशोक अपने परिवार के साथ सो रहा था। आवाज और आंच आने पर उसकी नींद खुली तो आग तेजी से फैल रही थी। आनन-फानन में वह जैसे ही परिवार को लेकर बाहर आया कुछ ही पलों के बाद घर के अंदर रखा गैस सिलिंडर फट गया। इससे आग और तेज हो गई। यदि उसकी आंख खुलने में थोड़ी भी देर होती तो वह अपने परिवार सहित घर मे जलकर जान गंवा सकता था। किस्मत से उसकी आंख समय रहते खुल गई और वह परिवार को लेकर बाहर आ गया। इससे जन हानि होने से बच गई।

X
Takhatpur News - chhattisgarh news fire in grocery store cylinder breaks as family leaves narrow escape

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना