सेंदरी में ढाबा किनारे झोलाछाप डॉक्टर की दुकान साडी़ का घेरा कर लगा रहे इंजेक्शन, चढ़ा रहे ड्रिप

Bilaspur News - शहर से सात किलोमीटर दूर अपना ढाबा के किनारे एक झोलाझाप डॉक्टर की दुकान चल रही है। बिना नर्सिग होम एक्ट के पालन किए...

Nov 01, 2019, 06:50 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news in the sentry at the dhaba the hawks doctor39s shop are injecting sari around the sari dripping
शहर से सात किलोमीटर दूर अपना ढाबा के किनारे एक झोलाझाप डॉक्टर की दुकान चल रही है। बिना नर्सिग होम एक्ट के पालन किए बिना ही यहां बच्चों को इंजेक्शन लगाए जा रहे। महिलाओं को ड्रिप चढ़ाई जा रही है। सुरक्षा के तौर पर एक लाल साड़ी का घेरा किया गया है। और ऐसे ही मरीजों का इलाज चल रहा है। सीएमएचओ का कहना है कि वे बीएमओ से इसकी जानकारी लेंगे। उनके मुताबिक नियमों का पालन नहीं करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

जिले में 300 से अधिक झोलाछाप डॉक्टर सक्रिय हैं। इनके द्वारा गलत इलाज किए जाने से एक युवती और चार माह के बच्चे की मौत के बाद भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है। कार्रवाई के नाम पर कर सिर्फ एक-दो अवैध क्लीनिक को नर्सिंग होम एक्ट के तहत सील कर दिया गया। लेकिन इसके बाद कुछ नहीं किया गया। दूसरी तरफ कार्रवाई होने की भनक भी झोलाछापों तक पहुंच जाती है जिससे स्पष्ट हो रहा है कि विभाग के ही कुछ लोग नहीं चाहते कि इनकी दुकानदारी बंद हो। स्वास्थ्य विभाग की कार्यवाही से बचने के लिए झोलाछाप अपनी अवैध क्लीनिक के ऊपर लगाए गए बोर्ड तो हटा ले रहे हैं। दैनिक भास्कर ने इसकी पड़ताल की तो सामने आया कि सेंदरी में ऐसे ही एक डॉक्टर की दुकान संचालित हो रही है। यहां नर्सिंग होम एक्ट का पालन करना तो दूर कोई यह तक नहीं जानता कि इलाज करने वाले डॉक्टर एमबीबीएस है या नहीं? ऐसी ही स्थिति में पास गांव के लोग अपना इलाज कराने पहुंच रहे हैं। उनका हर तरह का इलाज किया जा रहा है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग इसकी ओर ध्यान नहीं दे रहा है। कुछ दिन पहले हाईकोर्ट ने भी झोलाछाप डॉक्टरों की क्लीनिक सील करने करने के निर्देश दिए थे। दिखावे के लिए कुछ जगह अभियान चलाया गया।

सेंदरी में अपना ढाबा के किनारे चंद कर्मचारी और डॉक्टर इलाज करने का काम कर रहे हैं।

हाईकोर्ट ने दिए हैं निर्देश, फिर भी पालन नहीं करवा रहे

जिले में बिना डिग्री और सुविधाओं के अभाव में चल रहे क्लीनिक को हाईकोर्ट ने बंद कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से इसकी रिपोर्ट भी मांगी थी। इसके बावजूद शहर और आसपास अभी भी यहं संचालित हो रहे। आरोप लग रहे हैं कि स्वास्थ्य विभाग के कुछ अधिकारी झोलाछाप डॉक्टरों से मिले हैं। जो नहीं चाहते कि इनकी क्लीनिक सील हो। कार्रवाई से पहले इन्हें सचेत किया जा रहा। और इसके कारण ही कई बार बड़ी लापरवाही सामने आ चुकी है।

मैं आज ही बीएमओ से कहता हूं, कार्रवाई करे


Bilaspur News - chhattisgarh news in the sentry at the dhaba the hawks doctor39s shop are injecting sari around the sari dripping
X
Bilaspur News - chhattisgarh news in the sentry at the dhaba the hawks doctor39s shop are injecting sari around the sari dripping
Bilaspur News - chhattisgarh news in the sentry at the dhaba the hawks doctor39s shop are injecting sari around the sari dripping
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना