विज्ञापन

कांग्रेस में निष्क्रिय पदाधिकारी निकाले जाएंगे

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 02:20 AM IST

Bilaspur News - लोकसभा चुनाव के पहले होने जा रहे संकल्प शिविर को लेकर जहां तैयारी शुरू हो चुकी है, वहीं विधानसभा में निष्क्रिय...

Bilaspur News - chhattisgarh news inactive congressmen will be removed in congress
  • comment
लोकसभा चुनाव के पहले होने जा रहे संकल्प शिविर को लेकर जहां तैयारी शुरू हो चुकी है, वहीं विधानसभा में निष्क्रिय रहने वाले पदाधिकारियों को निकाले जाने और बढ़िया प्रदर्शन करने वालों को सम्मानित भी करने की योजना बनाई जा चुकी है। पार्टी निष्क्रिय पदाधिकारियों के सहारे लोकसभा चुनाव के मैदान में नहीं उतरना चाह रही है।

भले ही लोकसभा चुनाव को लेकर तारीख तय नहीं हुई है लेकिन यह माना जा रहा है कि मार्च के पहले सप्ताह चुनाव आचार संहिता लग जाएगी और इसके बाद चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। तैयारी के लिए राजनीतिक दलों के पास ज्यादा समय नहीं है। यही वजह है कि विधानसभा चुनाव जीतकर पंद्रह साल बाद छत्तीसगढ़ में सत्ता पर काबिज कांग्रेस संकल्प शिविरों के बहाने जीत की तलाश में जुट गई है। भले ही पार्टी ने विधानसभा में भीतरघात करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की लेकिन वह निष्क्रिय रहने वाले बूथ कमेटी के पदाधिकारियों को निकालने की योजना बना चुकी है। जिला व शहर अध्यक्षों से बूथों के निष्क्रिय पदाधिकारियों की सूची मांगी गई है। कहा गया है कि विधानसभा चुनाव के दौरान कई पदाधिकारी घर से ही नहीं निकले। उनका व्यवहार ऐसा रहा जैसे कि उन्होंने पार्टी छोड़ दी हो। वे जरा भी एक्टिव नहीं रहे और उनका काम नजर ही नहीं आया। ऐसे लोगों को बदलकर नए लोगों को रखा जाएगा। वहीं ऐसे बूथ, सेक्टर या जोन जहां के पदाधिकारियों ने बढ़िया नतीजे दिए और जिनका प्रदर्शन अच्छा रहा, उन्हें सम्मानित किया जाएगा। जिला व शहर अध्यक्षों पर ऐसे पदाधिकारियों के नाम ऊपर देने की जिम्मेदारी है। बता दें कि जिले के कोटा विस में कोटा, शहर कांग्रेस कमेटी रतनपुर, बेलगहना, गौरेला, पेंड्रा, तखतपुर विस में तखतपुर, सकरी, तखतपुर शहर, बिल्हा विस में बिल्हा कांग्रेस कमेटी, तिफरा शहर कांग्रेस, मस्तूरी विस में सीपत ब्लॉक कांग्रेस कमेटी, मस्तूरी ब्लॉक कांग्रेस, बेलतरा विस में रतनपुर ग्रामीण व बेलतरा ब्लॉक कांग्रेस कमेटियां हैं।

संकल्प शिविर को लेकर तैयारी बैठक में शामिल पदाधिकारी व कार्यकर्ता।

इधर विधानसभा के भीतरघातियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं

इधर विधानसभा चुनाव के दौरान भीतरघात करने वाले नेताओं के खिलाफ पार्टी ने अभी तक कार्रवाई नहीं की है। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी और शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नरेंद्र बोलर को ऐसे लोगों की सूची बनाकर देने कहा गया था लेकिन उन्होंने अब तक सूची ही नहीं दी है। वे जानते हैं किन-किन लोगों ने भीतरघात किया लेकिन वे उन्हें बचाने की कोशिश में लगे हैं। वहीं बड़े नेता लोकसभा की तैयारी में जुटे हैं और उनका इस ओर ध्यान नहीं है।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news inactive congressmen will be removed in congress
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें