जीण माता को 56 भोग चढ़ा, भजनों पर झूमते रहे भक्त

Bilaspur News - श्री जीण माता सेवा समिति ने लिंक रोड स्थित रुक्मणि परिसर में रविवार को जीण माता महोत्सव का आयोजन किया। मां के...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:20 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
श्री जीण माता सेवा समिति ने लिंक रोड स्थित रुक्मणि परिसर में रविवार को जीण माता महोत्सव का आयोजन किया। मां के अलौकिक श्रृंगार, मंगल पाठ के साथ भक्ति संगीत का कार्यक्रम हुआ। जीण माता के अलौकिक श्रृंगार से कार्यक्रम की शुरूआत और अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित की गई। जीण धाम के पुजारी आनंद पाराशर ने माता का मंगलपाठ कर कार्यक्रम को भक्ति रस से सराबोर कर दिया। मां की विशेष पूजा-अर्चना के साथ 56 भोग लगाया गया। शाम को भंडारे में भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया।

कार्यक्रम के दौरान कोलकाता के कलाकार सोनाली जोशी और जयपुर के कलाकार सुरेंद्र ठाकरान ने भजनों से समां बांधा। इस दौरान कलाकारों ने जीण-जीण भज बारंबारा, हर संकट का हो निस्तारा, नाम जपे मां खुश हो जावे, संकट हर लेती हैं सारा..., कर लो मंगल पाठ ये जीने का सहारा है..., ये मइया मेरी है..., चुनड़ी ओढ़ाउं मेहंदी लगाउं...जैसे भक्ति गीतों की ऐसी प्रस्तुति दी कि श्रोता भक्तिरस से सराबोर माता की आराधना में डूबे रहे। कार्यक्रम में कलाकारों ने अपने भजनों से भक्तों को खूब झूमाया। रात में मां की विशेष आरती के बाद छप्पन भोग का वितरण किया गया। महोत्सव में विशेष आकर्षण माता का गजरा उत्सव व चुनरी रहा। गजरा उत्सव व चुनरी उत्सव में समिति के सदस्यों ने नाचते गाते हुए माता की सेवा में चुनरी व गजरा भेंट किया। श्रीजीण भवानी विराजमान रहीं। महोत्सव के आयोजन में जीणमाता सेवा समिति के सभी सदस्यों का योगदान रहा। महिलाओं में कोमल शर्मा सहित अन्य और आयोजन में जीण माता सेवा समिति के कमलेश अग्रवाल, आशीष अग्रवाल, सजन सोनी, संतोष शर्मा, राजेश सोनी, प्रकाश सोनी, राजेश अग्रवाल, विमलेश अग्रवाल, ओम मोदी, सूरजमल अग्रवाल, सजन अग्रवाल, हेमंत मोदी, रघुनाथ सोनी, रमेश मोदी, ओमप्रकाश सोनी समेत अन्य श्रद्धालु मौजूद रहे।

माता के दर्शन करते हुए श्रद्धालु।

जीण धाम पुजारी आनंद ने किया मंगल पाठ, उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

लिंक रोड स्थित रुक्मणि परिसर में चल रहे महोत्सव के दौरान मंगल पाठ करती हुईं महिलाएं।

भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया

श्रृंगार के बाद माता को खीर, चूरमा, बूंदी, काजू कतली, मेवा, फल और हलवा का भोग लगाया गया। इसके बाद जीण धाम से आए पुजारी आनंद ने मंगलपाठ किया। कार्यक्रम सुबह से शुरू हुआ। इस कार्यक्रम में राजस्थानी परिवारों के साथ ही दूसरे समाज के लोगों ने भी भाग लेकर प्रसाद ग्रहण किया।

Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
X
Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
Bilaspur News - chhattisgarh news jivan mata has sacrificed 56 devotees devotees staying on bhajans
COMMENT