आस्था पर लॉकडाउन: मंदिरों की बजाय भक्त कर रहे घरों में शक्ति पूजा, ताकि कोरोना से जीत सकें

Bilaspur News - चैत्र नवरात्रि चल रही है। दूसरे दिन भी भक्तों ने अपने घर में ही आदिशक्ति मां की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की।...

Mar 27, 2020, 06:41 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news lockdown on faith shakti puja in devout houses instead of temples to win from corona

चैत्र नवरात्रि चल रही है। दूसरे दिन भी भक्तों ने अपने घर में ही आदिशक्ति मां की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। मंदिरों में भी पुजारियों द्वारा मां की पूजा-अर्चना और आरती करके पट का बंद कर दिया गया। मां की पूजा-अर्चना कर पूजारियों सहित भक्तों द्वारा कोरोना वायरस से जल्द मुक्ति दिलाने की दुआ की जा रही है। कोरोना वायरस के चलते आस्था पर भी लॉकडाउन हो गया है। यह लॉकडाउन लोग अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए किए हैं। चैत्र नवरात्रि शुरू हो गई है। नवरात्रि के दूसरे दिन भक्तों द्वारा मां ब्रह्मचारिणी देवी की पूजा की। पंडितों ने बताया कि देवी ब्रह्मचारिणी का स्वरूप ज्योर्तिमय है। ये मां दुर्गा की नौ शक्तियों में से दूसरी शक्ति हैं। तपश्चारिणी, अपर्णा और उमा इनके अन्य नाम हैं। इनकी पूजा करने से सभी काम पूरे होते हैं, रुकावटें दूर हो जाती हैं और विजय की प्राप्ति होती है। इसके अलावा हर तरह की परेशानियां भी खत्म होती हैं। देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार, संयम की वृद्धि होती है। ऐसे में पुजारियों द्वारा मंदिरों में विश्व शांति के लिए पूजा-अर्चना की गई। वहीं भक्तों द्वारा घर में पूजा-अर्चना के बाद हवन पूजन किया गया।

घरों में हुआ हवन-पूजन


नवरात्रि के दूसरे दिन भक्तों ने घर पर ही विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। शहर के घोंघा बाबा मंदिर, व्यंकटेश मंदिर, श्रीराम मंदिर, दुर्गा मंदिर सहित अन्य मंदिर बंद रहे। कुछ भक्त मंदिर के बंद गेट के बाहर पूजा-अर्चना की। वहीं भक्तों ने घर में मां की पूजा-अर्चना, आरती के साथ हवन पूजन किया।

का स्वरूप ज्योर्तिमय है। ये मां दुर्गा की नौ शक्तियों में से दूसरी शक्ति हैं। तपश्चारिणी, अपर्णा और उमा इनके अन्य नाम हैं। इनकी पूजा करने से सभी काम पूरे होते हैं, रुकावटें दूर हो जाती हैं और विजय की प्राप्ति होती है। इसके अलावा हर तरह की परेशानियां भी खत्म होती हैं। देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार, संयम की वृद्धि होती है। ऐसे में पुजारियों द्वारा मंदिरों में विश्व शांति के लिए पूजा-अर्चना की गई। वहीं भक्तों द्वारा घर में पूजा-अर्चना के बाद हवन पूजन किया गया।

मंदिरों में पुजारियों ने पूजा-अर्चना कर पट बंद किए।

Bilaspur News - chhattisgarh news lockdown on faith shakti puja in devout houses instead of temples to win from corona
X
Bilaspur News - chhattisgarh news lockdown on faith shakti puja in devout houses instead of temples to win from corona
Bilaspur News - chhattisgarh news lockdown on faith shakti puja in devout houses instead of temples to win from corona

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना