राष्ट्रीय पुस्तक मेला: कविता और कहानी की मिश्रित रही शाम, कहानीकारों ने सुनाई सुंदर कहानियां

Bilaspur News - लाल बहादुर स्कूल परिसर में राष्ट्रीय पुस्तक मेला चल रहा है। मेले में कहानीकारों ने कहा कि कहानियां जीवन के बहुत...

Nov 11, 2019, 06:31 AM IST
लाल बहादुर स्कूल परिसर में राष्ट्रीय पुस्तक मेला चल रहा है। मेले में कहानीकारों ने कहा कि कहानियां जीवन के बहुत पास की चीज हैं। असली कथा आपके आसपास की लगती है इसलिए वह पाठकों को जोड़ने में सक्षम है। एक जमाना था जब कहानियां अपने पाठक अर्जित कर लेती थीं, लेकिन अभी भी बहुत कुछ नहीं बदला है। प्रेमचंद, कृष्ण चंदर, रामदरश मिश्र, कृष्णा सोबती से लेकर चित्रा मुद्गल, ममता कालिया से होते हुए प्रज्ञा, गीता श्री तक पाठकों की पसंद बनी हुई हैं। रविवार की शाम कविता और कहानी की मिश्रित रही। छग सरकार के सचिव वरिष्ठ आईएएस अधिकारी त्रिलोक चंद महावर ने अपनी कविताओं का पाठ किया।

राष्ट्रीय पुस्तक न्यास भारत ने पुस्तक मेले का आयोजन किया, इसमें बिलासपुर, रायपुर के साथ ही आसपास के कहानीकार आमंत्रित किए गए। शहर के द्वारिका प्रसाद अग्रवाल, रमेश शर्मा रायगढ़, स्नेहा मिश्र, आरती राय, कामेश्वर पांडे कोरबा, श्रीनिवास राव, उर्मिल शुक्ल रायपुर से उपस्थित रहे। पूर्व न्यास के हिंदी संपादक व छग के नोडल अधिकारी डॉ. ललित किशोर मंडोरा ने रचनाकारों का स्वागत किया और उन्हें न्यास के संदर्भ में जानकारी देते हुए आगामी नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले की जानकारी से भी अवगत कराया। पुस्तक मेले में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राज्य निर्वाचन में उप सचिव डॉ. संतोष देवांगन उपस्थित रहे। पुस्तक मेला में डॉ. विनय पाठक, डॉ. सोमनाथ यादव, राजेंद्र मौर्य, डॉ. सुधाकर बिबे, केवलकृष्ण पाठक, अजय शर्मा, महेश श्रीवास, रामेश्वर गुप्ता, अर्पण कुमार, अश्विनी पांडे आदि मौजूद रहे।

लाल बहादुर स्कूल परिसर स्थित राष्ट्रीय पुस्तक मेला में उपस्थित अतिथि।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना