• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Bilaspur News chhattisgarh news no timely treatment divyang dies in district hospital mla shailesh said if the government is there it does not mean that people yearn for treatment

समय पर इलाज नहीं: दिव्यांग की जिला अस्पताल में मौत, विधायक शैलेश बोले-सरकारी है तो इसका मतलब यह नहीं कि लोग इलाज के लिए तरसे

Bilaspur News - जिला अस्पताल की चौखट पर शनिवार की दोपहर एक दिव्यांग मरीज की इलाज मांगते-मांगते स्ट्रेचर पर ही मौत हो गई। इस मरीज को...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:26 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news no timely treatment divyang dies in district hospital mla shailesh said if the government is there it does not mean that people yearn for treatment
जिला अस्पताल की चौखट पर शनिवार की दोपहर एक दिव्यांग मरीज की इलाज मांगते-मांगते स्ट्रेचर पर ही मौत हो गई। इस मरीज को जब तक इलाज मुहैया होता तब तक उसने दम तोड़ दिया। इस बात की जानकारी शहर विधायक शैलेष पांडेय तक पहुंची तो वे अस्पताल पहुंच गए और मामले की जानकारी ली। उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण भी किया और अव्यवस्थाओं को लेकर सिविल सर्जन डा. मधुलिका सिंह से यहां तक कह दिया कि यह सरकारी अस्पताल है तो इसका मतलब यह नहीं कि हम बेहया हैं। दिव्यांग की मौत के बाद कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दोपहर में वह हर आने-जाने वाले से कह रहा था कि उसे अंदर तक पहुंचा दो, लेकिन किसी ने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया। जब तक उसे स्ट्रेचर पर लेकर केजुअल्टी पहुंचे तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। मौके पर मौजूद डा. राहुल ने जब मरीज की नब्ज पर हाथ रखा तो कुछ हलचल नहीं थी। उन्होंने तत्काल ईसीजी करवाया तब पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है। इसी बीच सिविल सर्जन डा. मधुलिका सिंह भी केजुअल्टी में पहुंच गई और मौजूद स्टाफ को डांटा कि एक मरीज स्ट्रेचर पर लेटा है और किसी को इसकी परवाह नहीं है। मरीज कौन था और इसे कौन जिला अस्पताल में छोड़ गया इसका पता नहीं चला।

कर्मचारियों से चर्चा करते शहर विधायक शैलेश पांडेय।

विधायक निधि से लगेंगे सीसी कैमरे : जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान विधायक पांडेय ने सीसी कैमरे न लगे होने पर कहा कि वे विधायक निधि से रुपए देंगे। एक माह में सीसी कैमरे लगवाए जाए। उन्होंने कहा कि जब तक आप लोग प्रस्ताव बनाकर भेजेंगे नहीं तो कैसे पता लगेगा कि किस सामान की आवश्यकता है।

केजुल्टी देख नाराज हुए विधायक

मरीज की मौत होने के बाद जिला अस्पताल पहुंचे विधायक शैलेष पांडेय केजुअल्टी का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां की व्यवस्थाओं को लेकर उन्होंने सिविल सर्जन डा. मधुलिका सिंह से कहा कि इस तरह की केजुअल्टी का क्या फायदा जहां दो मरीज भी आएं तो इलाज भी नहीं मिले। उन्होंने निर्देश दिए कि वार्ड में गहरे रंग के पर्दे लगवाए जाएं जिससे मरीजों की निजता का ध्यान रखा जा सके। उन्होंने सुरक्षाकर्मी से पूछा कि कब से ड्यूटी कर रहे हो, उसने कहा कि 2 अक्टूबर से। विधायक ने कहा कि क्या तब से घर पर नहीं गए। गार्ड निरुत्तर हो गया। उन्होंने सिविल सर्जन से कहा कि जितने भी सुरक्षाकर्मी हैं उन सभी को ट्रेनिंग दी जाए कि करना क्या है?

सूचना मिलने के बाद दोपहर में जिला अस्पताल पहुंच किया निरीक्षण

शिकायत मिली इसलिए आया

अस्पताल की कुछ शिकायतें मिली थीं ,इसलिए आया था। कुछ कमियां है जिन्हें दूर करने के निर्देश दिए गए हैं। मरीज की मौत होने का मामला है तो बताया गया है कि इलाज प्रारंभ कर दिया था लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई। शैलेष पांडेय, विधायक

डॉक्टर की कोई गलती नहीं

मरीज जब तक डॉक्टर के पास पहुंचा तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। डाक्टर ने ईसीजी भी कराया। इसमें डॉक्टर की कोई गलती नहीं है। लेकिन आगे से इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि इस तरह की कोई घटना न हो। डा. मधुलिका सिंह, सिविल सर्जन

X
Bilaspur News - chhattisgarh news no timely treatment divyang dies in district hospital mla shailesh said if the government is there it does not mean that people yearn for treatment
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना