• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Bilaspur News chhattisgarh news safety officer was not present the laborers were not registered in the insurance and labor department

सेफ्टी अफसर मौजूद नहीं था, मजदूरों का बीमा और श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन नहीं कराया गया था

Bilaspur News - 1261 करोड़ जैसे मेगा प्रोजेक्ट में भी लोखंडी फाटक के पास हुए हादसे के तीसरे दिन एनएचएआई का कोई भी इंजीनियर नहीं...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 06:25 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news safety officer was not present the laborers were not registered in the insurance and labor department
1261 करोड़ जैसे मेगा प्रोजेक्ट में भी लोखंडी फाटक के पास हुए हादसे के तीसरे दिन एनएचएआई का कोई भी इंजीनियर नहीं पहुंचा। इस हादसे में एक मजदूर की जान चली गई और दो घायल हो गए थे। निर्माणाधीन आरओबी में सैंटरिंग का ढांचा तैयार करते वक्त एनएचएआई के अफसरों ने सुरक्षा के मापदंडों की अनदेखी करते हुए मजदूरों को यूं ही छोड़ दिया था और अब अफसर इसे मजदूरों की लापरवाही बता रहे हैं। कंपनी में जोखिम वाले कामों में देखरेख के लिए सुरक्षा अधिकारी होते हैं लेकिन तब कोई भी सुरक्षा अधिकारी मौजूद नहीं था। सुरक्षा अधिकारी राम ठाकुर से हादसे के दौरान मौजूद नहीं होने के सवाल पर उन्होंनें कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। लोखंडी फाटक के पास हुए हादसों के लिए एनएचएआई के अफसर अभी भी गंभीर नहीं है। तीसरे दिन निर्माणाधीन आरओबी वाली जगह पर कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं था सिर्फ गार्ड को तैनात कर दिया गया था। फिलहाल मामले की जांच के लिए कंपनी के अधिकारी गौरांग देवधरे और एक अन्य अधिकारी हो जांच का जिम्मा सौंपा गया है।

एनएचएआई के अफसरों ने दो अधिकारियों को सौंपा है जांच का जिम्मा

इसी को बांधने में हुई थी गड़बड़ी। जीआई तार से बांधा गया था। क्रास का यह चिह्न जैसे पहले से ही खतरे का संकेत दे रहा था।

  नरेंद्र सिंह, प्रोजेक्ट डायरेक्टर


- यह ट्रेनिंग तो हर छह माह में दी जाती है।


- नहीं ऐसा नहीं है। ढांचा बनाने में छड़ें वर्टिकल ही लगाई जाती है।


- मैं अवकाश पर अभी बाहर हूं इसलिए नहीं जा सका।


- हमनें दो अधिकारियो को जांच का जिम्मा दिया है।


- अभी पिक्चर क्लियर नहीं है। हो सकता है लेबरों की लापरवाही से ही हादसा हुआ हो।

अभी पिक्चर क्लियर नहीं, हो सकता है लेबर की वजह से हुआ हो हादसा

पेंड्रीडीह से लोखंडी फाटक तक 20 से अधिक जगहों पर पुलिया बनाने का काम चल रहा है। कहीं छोटी पुलिया और कहीं कांक्रीट वाली मध्यम पुलिया का निर्माण चल रहा है। कई जगहों पर लाेखंडी फाटक जैसे हादसे के बाद भी मजदूर अपने आपको खतरे में डालकर काम रहे हैं जबकि उनका बीमा तक नहीं हुआ है।

20 से अधिक जगहों पर और भी हैं खतरे

नेशनल हाइवे का लोखंडी के पास निर्माण हो रहे पुल में काम करने वाले मजदूरों का श्रम विभाग के पास पंजीयन नहीं कराया गया है। बिना रजिस्ट्रेशन के ही उनसे काम लिया जा रहा था। कंपनी के अधिकारियों ने एडीएम से पूछताछ के दौरान इस बात को स्वीकार किया है। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। घटना के समय वहां कौन कौन जिम्मेदार लोग मौजूद थे इसका पता लगाया जा रहा है। एएसपी ग्रामीण संजय ध्रुव के अनुसार जांच में नाम सामने आने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मामले में धारा 304ए लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए मजदूरों का बयान लिया जा रहा है।

पुलिस ने शुरू की जांच

X
Bilaspur News - chhattisgarh news safety officer was not present the laborers were not registered in the insurance and labor department
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना