अजीत जोगी के बंगले पर नौकर का शव फंदे पर लटका मिला

Bilaspur News - पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले पर उनके नौकर का शव फांसी के फंदे पर लटकते मिला। उससे चांदी का जग चोरी करने का...

Jan 16, 2020, 06:50 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news servant39s body found hanging on ajit jogi39s bungalow
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले पर उनके नौकर का शव फांसी के फंदे पर लटकते मिला। उससे चांदी का जग चोरी करने का आरोप लगाकर पूछताछ की जा रही थी। पुलिस का कहना है प्रारंभिक जांच के दौरान मामला खुदकुशी का लग रहा है। जांच के बाद असली कारणों का पता चलेगा। शव को जिला अस्पताल के मरच्युरी में रखवा दिया गया है। मरने वाले का नाम संतोष कौशिक पिता पुसऊ कौशिक 32 वर्ष था। पिछले पांच साल से वह पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के आईजी आफिस के पास के बंगले मरवाही सदन पर घर का काम करता था। बंगले में रहता था। संतोष मूल रूप से कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम रमतला का रहने वाला था। उसकी प|ी कविता व दो बच्चे हैं। दोनों रमलता में ही थे। शाम करीब 4 बजे संतोष ने अपनी प|ी कविता काे फोन कर कहा कि उसपर बंगले में चोरी का इल्जाम लगा रहे हैं। इसके कुछ देर बार उसके परिजनों को उसके मरने की सूचना मिली। सिविल लाइन पुलिस ने कविता के भाई को फोन कर जानकारी दी। परिजन पहुंचे तो शव को नीचे उतारा गया। घटना की सूचना मिलते ही एसपी प्रशांत अग्रवाल सहित पुलिस के अाला अफसर पूर्व मुख्यमंत्री के बंगले पर पहुंचे। शव काे पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है। पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है।

मृतक संतोष।

फोन पर रो रहा था, प|ी से बाेला-मेरे ऊपर चाेरी का इल्जाम लगा रहे हैं

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले से नौकर संतोष कौशिक उर्फ मनवा ने शाम को 4 बजे अपनी प|ी को फोन किया था। वह रो रहा था। प|ी से कहा उसपर बंगले में चोरी का इल्जाम लगा रहे हैं जबकि वह इसमें शामिल नहीं है। इसके बाद उसने फोन काट दिया। प|ी परेशान हो गई और उसने अपने भाई सरोज कश्यप को फोन कर इस बात की जानकारी दी और उन्हें जोगी बंगले में भेज। सरोज 4.30 बजे पहुंचा ताे गार्ड ने भीतर जाने से रोका। सरोज वहां से जिला कोर्ट की ओर चला गया। शाम 5.30 बजे उसके पास सिविल लाइन पुलिस का फोन गया और संतोष के फांसी लगाकर खुदकुशी करने की सूचना दी तो वह अवाक रह गया।

क्राइम रिपोर्टर | बिलासपुर

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले पर उनके नौकर का शव फांसी के फंदे पर लटकते मिला। उससे चांदी का जग चोरी करने का आरोप लगाकर पूछताछ की जा रही थी। पुलिस का कहना है प्रारंभिक जांच के दौरान मामला खुदकुशी का लग रहा है। जांच के बाद असली कारणों का पता चलेगा। शव को जिला अस्पताल के मरच्युरी में रखवा दिया गया है। मरने वाले का नाम संतोष कौशिक पिता पुसऊ कौशिक 32 वर्ष था। पिछले पांच साल से वह पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के आईजी आफिस के पास के बंगले मरवाही सदन पर घर का काम करता था। बंगले में रहता था। संतोष मूल रूप से कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम रमतला का रहने वाला था। उसकी प|ी कविता व दो बच्चे हैं। दोनों रमलता में ही थे। शाम करीब 4 बजे संतोष ने अपनी प|ी कविता काे फोन कर कहा कि उसपर बंगले में चोरी का इल्जाम लगा रहे हैं। इसके कुछ देर बार उसके परिजनों को उसके मरने की सूचना मिली। सिविल लाइन पुलिस ने कविता के भाई को फोन कर जानकारी दी। परिजन पहुंचे तो शव को नीचे उतारा गया। घटना की सूचना मिलते ही एसपी प्रशांत अग्रवाल सहित पुलिस के अाला अफसर पूर्व मुख्यमंत्री के बंगले पर पहुंचे। शव काे पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है। पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news servant39s body found hanging on ajit jogi39s bungalow

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना