4 साल में बदल गए सात खाद्य नियंत्रक, स्टाफ ज्यादा पर इस साल एक केस भी नहीं बनाया

Bilaspur News - चार साल में एक-दो नहीं बल्कि सात बार खाद्य नियंत्रक बदले जा चुके हैं पर यहां कोई भी अफसर गैस की कालाबाजारी पर रोक...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:26 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news seven food controllers changed in 4 years staff did not even make a case this year
चार साल में एक-दो नहीं बल्कि सात बार खाद्य नियंत्रक बदले जा चुके हैं पर यहां कोई भी अफसर गैस की कालाबाजारी पर रोक नहीं लगा सका। जिले के दूरस्थ अंचलों की तो बात छोड़िए बिलासपुर शहर और आसपास के इलाके में तक खुलेआम हो रही घरेलू गैस की अवैध बिक्री राेकने ये पूरी तरह नाकामयाब रहे हैं। दिखावे के लिए कभी-कभी कार्रवाई करते थे। इस साल तो एक भी केस नहीं बनाया गया है।

जनवरी 2016 में आठ साल से जमे खाद्य नियंत्रक जीएस पैकरा के तबादले के बाद केके सोमावार, आलोक पांडेय, आशुतोष चतुर्वेदी, डॉ.जीडी पटेल, एसके गुप्ता, फिर से केके सोमावार प्रभारी खाद्य नियंत्रक बनाए गए। ये सभी गैस की कालाबाजारी रोकने में विफल रहे। अगस्त 2018 में दिनेश्वर प्रसाद आए। छह माह में ही इन्होंने संचालनालय को पत्र लिखकर काम नहीं कर पाने में विवशता जता दी। अक्टूबर 2019 में हिजकिएल मसीह बिलासपुर के नए खाद्य नियंत्रक बनाए गए। चार साल में सात खाद्य नियंत्रक बदल गए और अब आठवें खाद्य नियंत्रक के तौर पर मसीह काम कर रहे हैं। पर गैस की कालाबाजारी पर रोक नहीं लगी। ऐसा भी नहीं है कि विभाग के पास अमले की कमी हो। अमला ज्यादा है। तभी तो दो खाद्य निरीक्षक को दफ्तर में पदस्थ कर वेतन दिया जा रहा है। शहर में दो खाद्य निरीक्षक,एक सहायक खाद्य अधिकारी हैं। खाद्य नियंत्रक कार्यालय भी यहीं है। साल का ग्यारहवां माह चल रहा है। अब तक इस साल घरेलू गैस की बिक्री करने वाले एक के खिलाफ भी केस नहीं बनाया गया है। 2018 में 26 संस्थानों के खिलाफ केस बना था।

अधिकारी वहीं से होकर गुजरते हैं, पर कार्रवाई नहीं कर रहे

पुराने बस स्टैंड रोड पर खुलेआम घरेलू गैस की अवैध बिक्री धड़ल्ले की जा रही है।

इन इलाकों में होती है कालाबाजारी

भीड़ वाले इलाकों जैसे पुराना बस स्टैंड, महामाया चौक से नूतन चौक सरकंडा, तिफरा काली मंदिर के पास, तोरवा चौक, सकरी, उसलापुर आदि जगह घरेलू गैस की अवैध कालाबाजारी खुलेआम की जा रही है। वहीं से होकर अधिकारी गुजरते हैं लेकिन वे कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने हिम्मत नहीं जुटा पाते।

छापेमारी के निर्देश दूंगा


अधिकारी बना रहे राशनकार्ड में व्यस्तता का बहाना





X
Bilaspur News - chhattisgarh news seven food controllers changed in 4 years staff did not even make a case this year
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना