• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Bilaspur News chhattisgarh news smile on the faces of the farmers blossomed with the golden glow of paddy the possibility of bumper production the government set a target of procuring 46 lakh quintals for the first time

धान की सुनहरी चमक से खिली किसानों के चेहरों पर मुस्कान, बंपर उत्पादन की संभावना, पहली बार 46 लाख क्विंटल खरीदी का रखा शासन ने लक्ष्य

Bilaspur News - पहले कम बारिश और पक चुके धान में बेमौसम वर्षा ने किसानों को चिंता में डाल दिया था लेकिन धान की सुनहरी चमक से उनके...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:46 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news smile on the faces of the farmers blossomed with the golden glow of paddy the possibility of bumper production the government set a target of procuring 46 lakh quintals for the first time
पहले कम बारिश और पक चुके धान में बेमौसम वर्षा ने किसानों को चिंता में डाल दिया था लेकिन धान की सुनहरी चमक से उनके चेहरों पर मुस्कान खिलने लगी है। अधिकांश खेतों में धान की फसल पक चुकी है और कहीं-कहीं कटाई भी शुरू हो गई है। कुछ दिनों में ही तेजी से धान की कटाई होगी। इस बार शासन ने पहली दफा जिले में 46 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य रखा है।

2012-13 में खरीदा गया था 46 लाख क्विंटल धान

2012-13 में धान खरीदी का लक्ष्य तो कम था लेकिन खरीदा गया था 46 लाख क्विंटल धान। हालांकि सरकार इसके लिए तैयार नहीं थी और नुकसान भी हुआ। इस बार ऐसा नहीं होगा क्योंकि शासन ने खुद इतना धान खरीदने का लक्ष्य रखा है।

अधिकांश खेतों में धान की फसल पक चुकी है। कहीं-कहीं कटाई भी शुरू हो गई है।

हार्वेस्टर से कटाई का चलन तेजी से बढ़ा

कुछ वर्षों में हार्वेस्टर से कटाई का चलन तेजी से बढ़ गया है। यही वजह है कि धान की कटाई और मिसाई जल्द हो जाती है और यह खरीदी केंद्रों में जल्दी ही पहुंच जाता है। हालांकि इसमें नमी अधिक होती है। 14 फीसदी से ज्यादा नमी होने पर धान नहीं खरीदते।

पिछले साल से 1355 हेक्टेयर अधिक में बोनी

इस बार पिछले साल की तुलना में 1355 हेक्टेयर अधिक रकबा में धान की बोआई हुई है। इससे भी अधिक उत्पादन की संभावना है। कृषि अधिकारियों के मुताबिक बारिश से रोपा पद्धति से कम बोआई हुई जबकि बोनी पद्धति से अधिक बोआई हुई है। 2019 में धान का रकबा 2 लाख 17 हजार 127 हेक्टेयर है।

46 लाख क्विंटल धान खरीदने की तैयारियां

अभी तक नीति नहीं बनी है लेकिन हम 46 लाख क्विंटल धान खरीदने की तैयारी कर रहे हैं। आधे से अधिक बारदानों का इंतजाम हो चुका है। अन्य स्तर पर भी तैयारी चल रही है। शोभना तिवारी,जिला विपणन अधिकारी

पहले कम बारिश और पक चुके धान में बेमौसम वर्षा से उबरे किसान

X
Bilaspur News - chhattisgarh news smile on the faces of the farmers blossomed with the golden glow of paddy the possibility of bumper production the government set a target of procuring 46 lakh quintals for the first time
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना