सावन में रात होते गूंजती हैं रामायण की चौपाइयां

Bilaspur News - सावन के महीने में तैसे ही रात के 8 बजते हैं और लोगों के कदम रामबाड़ा की तरफ बढ़ने लगते हैं। कोई हाथों में फूल तो कोई...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 06:50 AM IST
Sipat News - chhattisgarh news the nights of ramayana echo in the spring
सावन के महीने में तैसे ही रात के 8 बजते हैं और लोगों के कदम रामबाड़ा की तरफ बढ़ने लगते हैं। कोई हाथों में फूल तो कोई प्रसाद लेकर आता है और शुरू होता है रामायण का पाठ। इसके बाद श्रीराम हनुमान मंदिर में गूंज उठती हैं रामायण की चौपाइयां एवं संगीत।

हर साल सावन माह में यह नजारा नगर के रामबाड़ा चौक में श्रीराम हनुमान मंदिर में दिखाई देता है। 63 साल से समिति के सदस्य रामायण की चौपाइयां पढ़ते आ रहे हैं। 1956 में समिति के सदस्यों ने श्रावण में रामायण पारायण का संकल्प लिया था। तब से लेकर आज तक परंपरा चल रही है। सामूहिक रूप से मंदिर में रामायण पढ़ी जाती है। समिति के युवा सदस्य बुजुर्ग हो गए और बच्चे जवान हो गए लेकिन रामायण की चौपाइयों के स्वर गूंजना बंद नहीं हुए। हर साल समिति के नए सदस्य जुड़ते हैं। इनकी संख्या 100 से तक पहुंच गई है। भीष्म गुप्ता व अश्वनी गुप्ता ने बताया कि रामायण पाठ करने वालों में सीताराम गुप्ता, सुशील गुप्ता, दिलीप गुप्ता, प्रीतम गुप्ता, हरीश गुप्ता, नरोत्तम गुप्ता, ध्रुव गुप्ता, हरबंश गुप्ता, काशीराम, टिंकू सहित भक्तगण व श्रध्दालु शामिल हैं।

X
Sipat News - chhattisgarh news the nights of ramayana echo in the spring
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना