नशीली दवाओं के साथ तीन लोग पकड़े गए, बाहर से आई थी खेप

Bilaspur News - पुलिस ने सिविल लाइन क्षेत्र से नशीली दवाओं का कारोबार करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से 3000...

Bhaskar News Network

Aug 21, 2019, 07:45 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news three people were caught with drugs consignments came from outside
पुलिस ने सिविल लाइन क्षेत्र से नशीली दवाओं का कारोबार करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से 3000 रेक्सोजेसिक, 4800 एविल इंजेक्शन व 150 शीशी कफ सिरप जब्त किया गया। शहर में नशीले व मादक पदार्थों की बिक्री हो रही है। मंगलवार को सिविल लाइन पुलिस को मुखबिरों से शहर में बाहर से बड़ी मात्रा में अवैध इंजेक्शन, टेबलेट व सिरप की खेप आने की सूचना मिली। पुलिस ने इमलीपारा रघुराज स्टेडियम के पीछे घेराबंदी कर रविनंदन कश्यप को पकड़ा। वह मोपेड में कार्टन लेकर आ रहा था। जांच करने पर इसमें रेक्सोजेसिक इंजेक्शन मिला। पुलिस को उसने अपने साथियों के नाम बताए। उसकी निशानदेही पर तोरवा पावर हाउस निवासी अविनाश दुबे उर्फ सोनू घेराबंदी कर गिरफ्तार किया गया। उसके कब्जे से 1500 नशीली टेबलेट व सिरप मिला। उसका मोबाइल व बाइक भी जब्त की गई। मुख्य आरोपी रविनंदन की निशानदेही पर कारोबार में लगे उसलापुर नेचर सिटी निवासी दीपेश शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया। वह मूल रूप से कोरबा हरदी बाजार का रहने वाला है। यहां आकर नशीली कारोबार में जुटा हुआ था। उसकी बाइक से 150 कफ सिरप मिला। इसी तरह रविनंदन कश्यप के घर से 4800 एविल इंजेक्शन बरामद किया गया। पकड़े गए तीनों लोगों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया।

इंजेक्शन से नशा लेने में सबसे अव्वल है बिलासपुर

बिलासपुर ड्रग्स की चपेट में, एसपी ने विधानसभा को दी थी जानकारी

बिलासपुर | बिलासपुर में पूरा शहर ड्रग्स की चपेट में है। इसका उपयोग नशा के रूप में किया जा रहा है। हर थाना क्षेत्र में इंजेक्शन, नशीली दवा और दूसरे मादक पदार्थ पकड़े जा रहे हैं। यह चौंकाने वाले खुलासे दो साल पहले एसपी की विधानसभा को भेजी गई रिपोर्ट से मिले थे। सिरगिट्‌टी, खपरगंज, तिफरा, बापू खोली, मगरपारा सहित कई इलाके इसकी चपेट में है। यहां बड़ी आसानी से नाइट्रोसिन, रैक्सोजेसिक, एविल इंजेक्शन की बिक्री चल रही है। पुलिस ने इन इलाकों पर लगातार कार्रवाई कर रही है। रिपोर्ट में सिविल लाइन में जरहाभाठा स्थित मिनी बस्ती, जतिया तालाब का किनारे व इसके आसपास का मोहल्ला नशीली दवाओं की बिक्री को लेकर संवेदनशील बताया गया है। महिलाओं से लेकर बच्चे तक इस कारोबार में लिप्त हैं। आज तक पुलिस के हाथ बड़े कारोबारी नहीं लग सके, जो कई सालों से शहर में धीमे जहर की सप्लाई कर रहे हैं। कई जगह पुलिस की सेटिंग तो कई क्षेत्रों में गोपनीय तरीके से इसका कारोबार संचालित हो रहा है।

इन 24 स्थानों पर है कारोबार

सिरगिट्‌टी, खपरगंज, तिफरा, बापू खोली, मगरपारा, संजय नगर, तालापारा, हेमूनगर, जतियातालाब, चिंराजपारा, मिनी बस्ती, किलावार्ड, जूना बिलासपुर, पचरीघाट, करबला, इंदिरा विहार गेट, चकरभाठा, बहतराई, गीतांजली िसटी, सैदा, तखतपुर, बंधवापारा, टिकरापारा, गुरुनानक चौक, जगमल चौक, गुरुनानक चौक, चिंगराजपारा, राजकिशोर नगर, मगरपारा चौक, मंदिर चौक सरकंडा, मंगला चौक।

अंकुश लगाना हमारी प्राथमिकता-एसपी

एसपी प्रशांत अग्रवाल का कहना है कि शहर में नशे की समस्या तो है। इसपर अंकुश लगाने हमारी प्राथमिकता में शामिल है। इसी के चलते ही बाकी क्राइम होता है। चोरियां,लूट होती है। नशे के खिलाफ हमारा अभियान चल रहा है और यह आगे भी जारी रहेगा।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news three people were caught with drugs consignments came from outside
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना