हमें सुखवास में नहीं, शाश्वत सुख में जीना है: माताजी सिद्ध श्री

Bilaspur News - श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर सरकंडा में अष्टान्हिका महापर्व में 5वंे दिन शनिवार को पूज्य माताजी सिद्ध श्री,...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 06:30 AM IST
Bilaspur News - chhattisgarh news we are living in eternal pleasures not in succession mataji siddha shree
श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर सरकंडा में अष्टान्हिका महापर्व में 5वंे दिन शनिवार को पूज्य माताजी सिद्ध श्री, ह्रीं श्री, आराधना श्री और संस्तुति श्री माताजी के सानिध्य में सुबह सभी प्रमुख इंद्र व सामान्य इंद्रो द्वारा भगवान वासुपूज्य जी का अभिषेक और शांति धारा की गई। शांति धारा गुलाब चंद जैन व वीरेंद्र सेठ परिवार ने किया। शनिवार को श्री सिद्धचक्र महामंडल विधान में 128 अर्ध समर्पित किए गए।

इस अवसर पर माताजी ने अपने प्रवचन में कहा कि अशुभ कार्य संसार बढ़ाने के कारण है तो नहीं। भगवान की आराधना, वंदना, पूजा, भक्ति से यह संसार अल्प रह जाता है। यह जीव भक्ति से क्रम में बढ़ता हुआ तप चरण करके सिद्ध बन जाता है और हमारा लक्ष्य सिद्ध बनना ही है। क्योंकि बिना सिद्ध हुए यह जीव शाश्वत सूख नहीं प्राप्त कर सकता। अभी जो हम यह छोटे-छोटे से सूख मिलने पर फूल जाते हैं, वास्तव में यह सुख नहीं सुखवास है। हमें सुखवास में नहीं, शाश्वत सुख में जीना है। मनीष जैन, आशीष जैन, मनोज जैन, पराग जैन, वीरेंद्र शास्त्री, राजेश जैन, राजेंद्र चौधरी, महेंद्र जैन, भूपेंद्र, कैलाश जैन, वर्षा जैन, रचिता जैन, रैना जैन, प्रियम जैन, मालती सहित अन्य मौजूद रहे।

X
Bilaspur News - chhattisgarh news we are living in eternal pleasures not in succession mataji siddha shree
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना