छत्तीसगढ़  / अब स्कूल में मिलेगा नाश्ता, 18 सितंबर को शिक्षा मंत्री करेंगे पायलेट प्रोजेक्ट की शुरुआत

फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • छत्तीसगढ़ में पहली बार मध्याह्न भोजन के अलावा नाश्ता देने की तैयारी 
  • प्रोटीन युक्त व्यंजनों को किया गया शामिल, शुरूआत पेंड्रा और कोरिया ब्लॉक से 

दैनिक भास्कर

Sep 16, 2019, 03:54 PM IST

कोरिया. छत्तीसगढ़ में स्कूली बच्चों को मध्याह्न भोजन देने के साथ अब नाश्ता भी देने की तैयारी। बच्चों में मौजूद कुपोषण की समस्या को दूर करने यह कदम सरकार उठा रही है। वैसे तो इस योजना को पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा, फिल्हाल इसकी शुरूआत बिलासपुर संभाग के पेंड्रा और कोरिया विकासखंडों से की जा रही है। पायलट प्रोजेक्ट का उद्घाटन स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह 18 सितंबर को करेंगे। 


कोरिया के अनुदान प्राप्त 965 स्कूल भी इसमें शामिल किए गए हैं। इस योजना के तहत प्रायमरी के बच्चों को 100 एमएल सोया मिल्क, मीडिल के बच्चों को 150 एमएल दूध दिया जाएगा। इनके अलावा बच्चों को नाश्ते में प्रोटीन क्रंच, 20 ग्राम सोया बिस्किट,  30 ग्राम पौष्टिक चूड़ा, 50 ग्राम प्रोटीन हलवा नाश्ते के तौर पर शामिल किया गया है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक सोया प्रोडक्ट को अच्छे प्रोटीन स्त्रोत के लिए जाना जाता है। इसलिए यह बच्चों को दिया जाएगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना