अटल यूनिवर्सिटी / दीक्षांत समारोह में कांग्रेस विधायक शैलेष पांडेय को अतिथि बनाने की मांग पर हंगामा, कुलपति पर फेंकी चूड़ियां



अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी) अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)
X
अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)

  • एनएसयूआई, महिला कार्यकर्ताओं और पार्षदों ने यूनिवर्सिटी में किया प्रदर्शन, दस्तावेज के पन्ने उड़ाए
  • विवि ने प्रोटोकॉल का हवाला दिया, नहीं माने तो अतिथि बनाने राजभवन को स्वीकृति के लिए भेजा पत्र

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 10:23 AM IST

बिलासपुर. अटल यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह अतिथियों को लेकर विवादों में फंस गया है। एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने शहर विधायक शैलेश पांडेय को अतिथि बनाने की मांग पर जमकर हंगामा किया। उनके साथ महिला कार्यकर्ता और पार्षद भी पहुंच गए। महिला कार्यकर्ताओं ने कुलपति पर चूड़ियां फेंकी और कार्यकर्ताओं ने दस्तावेज के पन्ने उड़ाए। इसके बाद विवि प्रशासन तैयार हो गया और विधायक को अतिथि बनाने के लिए राजभवन की स्वीकृति को लेकर पत्र भेजा। हालांकि वहां से अभी तक जवाब नहीं मिला है। 

कार्यपरिषद की बैठक में नाम तय नहीं होने पर किया प्रदर्शन, पुलिस ने किया बीच-बचाव

  1. दरअसल, एनएसयूआई के कार्यकर्ता स्थानीय विधायक शैलेष पांडेय को दीक्षांत समारोह में अतिथि बनाए जाने की मांग कर रहे थे। कुलसचिव ने कार्यपरिषद की बैठक में निर्णय लेने का आश्वासन दिया था पर कुछ भी निर्णय नहीं लिया। इसके बाद गुरुवार को एनएसयूआई के कार्यकर्ता, पार्षद और महिलाओं ने सैकड़ों की संख्या में यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन किया। इस पर कुलपति प्रो. जीडी शर्मा ने कहा कि प्रोटोकाल के हिसाब से विधायक को अतिथि नहीं बनाया जा सकता है। 

  2. कार्यकर्ता और भी उग्र हो गए। बिट्टू वाजपेयी, सोहेल खलिक ने कुलपति के टेबल पर रखे कागज को उनके ऊपर फेंक दिया। महिलाएं भी आगे आ गईं। शहर विधायक को अतिथि की मांग करते हुए महिलाओं ने चूड़ी निकालकर कुलपति के ऊपर फेंक दीं। इसके बाद कुलपति उठकर चले गए। पुलिस पहंुची, बीच-बचाव किया। 10 लोगों की कमेटी को बुलाकर कुलपति प्रो. शर्मा ने बात की। इस दौरान उन्होंने राज भवन और शहर विधायक शैलेष पाण्डेय को अतिथि बनाने की स्वीकृति के लिए पत्र जारी किया। 

  3. कार्ड में प्रोटोकॉल फालो नहीं, दोबारा छपा

    एयू के द्वितीय दीक्षांत समारोह को लेकर अतिथि तय हो गए और कार्ड भी छप गए हैं। कार्ड में सबसे ऊपर कुलाधिपति, राज्यपाल अनुसुइया उइके, मुख्य अतिथि डॉ. डीपी सिंह और अतिविशिष्ट अतिथि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल, सांसद अरुण साव, महापौर किशोर राय का नाम है। इसमें प्रोटोकॉल के हिसाब से राज्यपाल के बाद मुख्यमंत्री का नाम होना चाहिए। इसको लेकर कलेक्टर ने आपत्ति जताई। इसके बाद रातों-रात यूनिवर्सिटी ने नामों के क्रम में परिवर्तन करते हुए कार्ड छपवाए। इसमें भी नगर विधायक पाण्डेय का नाम नहीं है।

  4. कार्य व विद्यापरिषद सदस्य नीचे बैठेंगे

    अटल यूनिवर्सिटी के द्वितीय दीक्षांत समारोह में इस बार एक नया कार्य और होने जा रहा है, जो किसी भी समारोह में नहीं हुआ है। अटल यूनिवर्सिटी ने विद्यापरिषद और कार्यपरिषद की बैठक में निर्णय लिया है कि मंच पर केवल 7 सदस्य ही बैठेंगे। इसमें राज्यपाल, मुख्यमंत्री, यूजीसी चेरमैन, कुलपति, कुलसचिव, सांसद और महापौर का नाम है। अब ऐसे में कार्यपरिषद और विद्यापरिषद के सदस्य नीचे बैठेंगे। अभी तक के दीक्षांत में कार्यपरिषद, विद्यापरिषद के सदस्य, डीन मंच पर बैठते थे। जो नियम और प्रोटोकॉल में है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना