पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Champa News Chhattisgarh News Now The Need For Spiritual Revolution Sarika

अब आध्यात्मिक क्रांति की जरूरत: सारिका

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा स्वच्छ, स्वस्थ, सशक्त, व्यसनमुक्त गांव के निर्माण से स्वर्णिम भारत की स्थापना के उद्देश्य से निकला किसान सशक्तिकरण अभियान तीसरे दिन नरियरा पहुंचा। जहां बालक व कन्या उ.मा.शाला, सरस्वती शिशु मंदिर के छात्र छात्राओं व ग्रामीण युवा सशक्तिकरण विषय पर जानकारी दी गई।

कोल्हापुर से आईं मुख्य वक्ता ब्रह्माकुमारी सारिका बहन ने बताया कि पाश्चात्य देशों के अनुकरण फलस्वरूप नए-नए प्रकार की रासायनिक खादों व जहरीली कीटनाशक दवाओं के प्रयोग से हमारी धरती मां की उर्वरक शक्ति का ह्रास होता गया। साथ ही खाद्य पदार्थों में रसायनों का दुष्प्रभाव जहर के रूप में फैलता गया जिससे अनेक शारीरिक व मानसिक बीमारियां होने लगी। मानसिक संतुलन बिगड़ने के कारण नैतिक पतन हुआ। अब ऐसी परिस्थितियों में किसानों को फिर से बलराम व कृष्ण समान बनने व उत्तम बीज, उत्तम खाद व उत्तम विचार प्रयोग करने की आवश्यकता है। रासायनिक खाद त्याग कर गाय के गोबर, गौमूत्र, जैविक खाद व कम्पोस्ट खाद का स्वयं निर्माण कर धरती मां की शक्ति को पुनः बढ़ाने में सहयोग दें।

अब जरूरत है हरित व श्वेत क्रांति के बाद आध्यात्मिक क्रांति की।ग्राम नरियरा और आरसमेटा में भी किसानों को जानकारी दी गई। टिकरापारा सेवाकेन्द्र प्रभारी ब्रह्मकुमारी मंजू दीदी ने सभी स्थानों पर उपस्थित किसानों को गांव की स्वच्छता के लिए प्रय|शील रहने, रासायनिक खाद व कीटनाशकों का प्रयोग न कर यौगिक खेती करने, गांव के कल्याण के लिए हर रोज सकारात्मक चिंतन करने, शरीर व मन की शक्ति को खत्म करने वाली बीड़ी-सिगरेट, गुटखा, शराब आदि अन्य व्यसनों का त्याग करें।

मंच से लोगों को संदेश देती ब्रह्मकुमारी

सर्व कल्याणकारी है महामृत्युंजय-पं. दुबे
महामृत्युंजय मंत्र जाप एवं रूद्राभिषेक में शामिल श्रद्धालु।

भास्कर संवाददाता | बिर्रा-चांपा

भगवान आशुतोष जितने शांत प्रवृत्ति के है उतने ही कल्याणकारी हैं। जो व्यक्ति भगवान महामृत्युंजय मंत्र की जाप करता है और कराता है दोनों को ही सिद्ध फल की प्राप्ति होती है। उक्त बातें बिर्रा संजयनगर में राजकुमार कश्यप परिवार द्वारा आयोजित तीन दिवसीय महामृत्युंजय मंत्र जाप एवं रूद्राभिषेक के समापन अवसर पर यज्ञाचार्य पं.विनोद दुबे (सिलादेही) ने कही। तीन दिन जल,दुग्ध व गन्ना रस से अभिषेक कराया गया।उन्होंने कहा कि गंगाजल या तीर्थ के जल से रूद्राभिषेक कराने से सर्व पाप धुल जाते है,दुग्ध से सर्वाभिष्ट योग की प्राप्ति होती है वहीं गन्ने रस से रूद्राभिषेक करने से ऐश्वर्य सम्पन्नता की प्राप्ति होती है। पं.जितेन्द्र तिवारी, पं.विरेन्द्र दुबे, पं.प्रवीण तिवारी द्वारा महामृत्युंजय मंत्र जाप किया गया।

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें