डभरा से एसडीएम और प्रभारी तहसीलदार को हटाया, कलेक्टर ने कहा: जांच के बाद कार्रवाई

Champa News - डभरा में पटवारी, प्रभारी तहसीलदार केके लहरे और एसडीएम अनुपम तिवारी के विवाद को सुलझाने के लिए एडीएम ने शनिवार की...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:00 AM IST
Janjgeer News - chhattisgarh news removed sdm and in charge tehsildar from dabhra collector said action after investigation
डभरा में पटवारी, प्रभारी तहसीलदार केके लहरे और एसडीएम अनुपम तिवारी के विवाद को सुलझाने के लिए एडीएम ने शनिवार की सुबह प्रभारी तहसीलदार डभरा और एसडीएम दोनों को डभरा से हटा दिया। डभरा के प्रभारी तहसीलदार के ट्रांसफर की मांग को लेकर पटवारी तीन दिन से धरना दे रहे थे। आंदोलन के दूसरे दिन देर शुक्रवार की शाम को प्रभारी तहसीलदार और एक पटवारी का ऑडियो वायरल हुआ, जिसमें इस बात का जिक्र है कि आंदोलन के लिए एसडीएम के बंगले में रणनीति बनी थी। ऐसे में विवाद को निपटाने के लिए प्रशासन ने यह कदम उठाया। कलेक्टर ने कहां- मामले में दोषी बख्शे नहीं जाएंगे। जांच के बाद कार्रवाई होगी।

डभरा के पटवारियों ने प्रभारी तहसीलदार केके लहरे पर पैसा मांगने, किसानों व वकीलों के सामने जलील करने व ट्रांसफर रुकवाने में हुए खर्च की रिकवरी पटवारियों से करने सहित आरोप लगाए थे। कलेक्टर को शिकायत करते हुए हटाने की मांग की थी। उन्होंने धरना प्रदर्शन भी शुरू कर दिया था। शनिवार को भी पटवारी संघ के पदाधिकारी व सदस्य डभरा में प्रदर्शन शुरू कर दिया। इधर एडीएम लीना कोसम ने ट्रांसफर आदेश जारी कियाा।इससे प्रभारी तहसीलदार केके लहरे व एसडीएम अनुपम तिवारी दोनों प्रभावित हुए।

प्रभारी तहसीलदार को हटाने की मांग को लेकर 3 दिन से पटवारी कर रहे थे हड़ताल

आंदोलन के लिए एसडीएम जिम्मेदार: तहसीलदार लहरे

प्रभारी तहसीलदार केके लहरे ने पटवारियों के आंदोलन के लिए डभरा एसडीएम अनुपम तिवारी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि वे खुद इस आंदोलन के लिए डभरा एसडीएम पर आरोप लगा रहे हैं। एसडीएम का पूरा संरक्षण पटवारियों को था, इसीलिए आंदोलन से पहली रात उनके बंगले में डेढ़ घंटे तक बैठक हुई, वे चाहते तो मना कर सकते थे, किंतु दूसरे दिन पटवारियों ने नोटिस का जवाब देने के बजाय वे आंदोलन में बैठ गए।

आदेश जारी, अब आंचला होंगे डभरा एसडीएम

पामगढ़ के एसडीएम रामप्रसाद आंचला को डभरा का नया एसडीएम बनाया गया है, वहीं डभरा से अनुपम तिवारी को पामगढ़ भेजा है। डभरा से नायब तहसीलदार केके लहरे को मालखरौदा भेजा गया है वहीं सक्ती से नायब तहसीलदार भोजकुमार डहरिया को डभरा तहसील की जिम्मेदारी दी गई है। उन्हें अपना-अपना प्रभार तुरंत ग्रहण करने के लिए कहा गया है।

शनिवार को भी आदेश से पहले आंदोलन करते पटवारी

जिनके खिलाफ सभी पटवारी वे समझें अपनी गलती: एसडीएम

एसडीएम अनुपम तिवारी ने ऑडियो के संबंध में कहना है कि किसी को बदनाम करने के लिए अपने लोगों को खड़ा कर ऑडियो बनाया जा सकता है। यह वैसा ही है। सुनने से भी समझ में आ रहा है कि प्लानिंग करके किया गया है। सभी पटवारी एक होकर आंदोलन किए उसी से समझ लेना चाहिए। पटवारियों के क्या आरोप है, क्यों हड़ताल किया यह तो स्पष्ट है। उसमें एसडीएम का क्या रोल हो सकता है।

जांच की जाएगी जो भी दोषी मिलेगा कार्रवाई होगी


तहसीलदार-एसडीएम की अंतर्कलह उजागर

विवाद से यह तो स्पष्ट हो गया कि प्रभारी तहसीलदार और एसडीएम के बीच कोई बड़ा मतभेद रहा होगा, क्योंकि तहसीलदार उन पर स्पष्ट आरोप लगा रहे हैं। एक ऑडियो भी वायरल हुआ, जिसे कथित रूप से श्री लहरे और डभरा मुख्यालय पटवारी के बीच की बातचीत बताई जा रही है। ऑडियो में कथित तहसीलदार पूछ रहे हैंं कि पटवारियों के आंदोलन में एसडीएम का क्या रोल है। जवाब में पटवारी दावा कर रहे हैं कि उन्हीं का अहम रोल है। वे चाहते तो आंदोलन को राेक सकते थे। ऑडियो में पटवारी यह भी कह रहे हैं कि एसडीएम को ही हटवाएं, तब श्री लहरे खुद को अक्षम बताते हुए कह रहे हैं कि वे उनके वरिष्ठ अफसर है। वे यह भी कह रहे हैं कि जो गलत कर रहा है, उसके लिए आंदोलन नहीं हो रहा है।

X
Janjgeer News - chhattisgarh news removed sdm and in charge tehsildar from dabhra collector said action after investigation
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना