लोगों को इलाज की सुविधा देने के लिए 95 उपस्वास्थ्य केंद्र में बनाए जाएंगे वेलनेस सेंटर

Champa News - जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को वेलनेस सेंटर बनाया गया है, इन...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:05 AM IST
Janjgeer News - chhattisgarh news wellness centers to be built in 95 sub health centers to provide treatment to people
जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को वेलनेस सेंटर बनाया गया है, इन स्वास्थ्य केंद्रों के अंतर्गत आने वाले 95 उपस्वास्थ्य केंद्रों को भी अब वेलनेस सेंटर के रूप में अपग्रेड किया जाएगा। इन केंद्रों में लोगो को स्वास्थ्य जांच की सभी सुविधाएं मिलेंगी। स्वास्थ्य कार्यकर्ता, मितानिनों के सहयोग से डोर टू डोर जाकर प्रत्येक व्यक्ति का रिकॉर्ड भी रखेंगे। इसके लिए मेडिकल ऑफिसर व 262 अन्य मेडिकल स्टॉफ की भर्ती की प्रक्रिया जल्दी शुरू होगी। आने वाले तीन माह के अंदर जिले में इन सभी वेलनेस सेंटर को प्रारंभ करने की तैयारी की जा रही है।

लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। जिले के 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को तो पहले ही वेलनेस सेंटर के लिए अपग्रेड किया गया है, लेकिन उप स्वास्थ्य केंद्र अभी भी इन सुविधाओं से वंचित है। इसलिए अब उप स्वास्थ्य केंद्रों काे भी वेलनेस सेंटर बनाया जाएगा।

जगमहंत का उप स्वास्थ्य केंद्र अपग्रेड होकर बनेगा वेलनेस सेंटर।

वेलनेस सेंटर में ये स्वास्थ्य कर्मी लोगों को सेवा देंगे

वेलनेस सेंटर पर एक चिकित्सा अधिकारी, दो स्टाफ नर्स, लैब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट, लेडी हेल्थ विजिटर्स और अायुर्वेदिक प्रैक्टिशनर की भी नियुक्ति की जाएगी।

फिलहाल उप स्वास्थ्य केंद्रों में है ये सुविधा

उप स्वास्थ्य केंद्रों पर दो तरह की सुविधाएं ही उपलब्ध हैं। इसमें टीकाकरण और मातृत्व हेल्थ की जांच शामिल है। इसके अलावा टीबी, मलेरिया की रोकथाम के लिए उपाय किए जाएंगे।

1720 बच्चे गंभीर कुपोषण से हुए मुक्त

कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने में भी जिले में पिछले छह माह में अच्छा काम हुआ है। इस दौरान जिले में करीब 2 प्रतिशत गंभीर कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त किया गया है। प्रशासन द्वारा 1 लाख 45 हजार 742 बच्चों का वजन कराया गया जिसमें 19 हजार 835 मध्यम कुपोषित तथा 3581 गंभीर कुपोषित पाए गए थे। इन गंभीर कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने के लिए अभियान चलाया गया जिसमें 1720 बच्चे गंभीर कुपोषित की श्रेणी से बाहर आए।

बीमारी का रिकॉर्ड रहेगा विभाग के पास

हेल्थ वेलनेस सेंटर मार्च तक हर हाल में प्रारंभ किए जाएंगे। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ता गांव की मितानिनों के साथ मिल कर जिले भर के गांवों में लोगों के घरों तक डोर टू डोर जाकर उन घरों के प्रत्येक व्यक्ति का रिकॉर्ड रखेंगे। कि उन्हें ब्लड प्रेशर, शुगर, त्वचा संबंधी रोग, एनिमिया या फिर मुंह के कैंसर सहित किस प्रकार की बीमारी है। इस सर्वे के बाद स्वास्थ्य विभाग के पूरी जानकारी सरकार को भेजी जाएगी, इससे सरकार के पास प्रत्येक व्यक्ति के स्वास्थ्य का हिसाब-किताब सरकार के पास रहेगा।

अपग्रेड होने पर वेलनेस सेंटर में होंगी सुविधाएं

केंद्रों में मातृत्व स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, किशाेर स्वास्थ्य, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, कैंसर, अंधत्व, श्रवण बाधित रोग, संचारी रोग प्रबंधन एवं उपचार, गैर संचारी रोग प्रबंधन एवं उपचार, ओरल हेल्थ, मेंटल हेल्थ आपात कालीन चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

6 करोड़ 8 लाख रुपए कलेक्टर ने किए मंजूर

वेलनेस सेंटर में डॉक्टर व अन्य स्टॉफ के लिए पिछले दिनों कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक ने 6 करोड़ 8 लाख 59 हजार रुपए की मंजूरी दी है। इससे जिला अस्पताल में भर्ती किए गए 12 स्पेशलिस्ट डॉक्टर के अलावा 15 मेडिकल ऑफिसर 262 पैरामेडिकल स्टाफ की व्यवस्था की जाएगी।


X
Janjgeer News - chhattisgarh news wellness centers to be built in 95 sub health centers to provide treatment to people
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना