महीनेभर में डेयरियां हटेंगी, श्यामतराई, लोरहसी, मुजगहन में से ही कहीं बनेगा गोकुल नगर

Dhamtari News - शहर में चल रहीं डेयरियों को जल्द ही बाहर किया जाएगा। इसकी तैयारी अफसर कर रहे है। डेयरियों को एक साथ एक स्थान पर...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:55 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news dairies will be removed within a month shyamatrai lhorhasi gokul nagar will be built somewhere from muzgahan
शहर में चल रहीं डेयरियों को जल्द ही बाहर किया जाएगा। इसकी तैयारी अफसर कर रहे है। डेयरियों को एक साथ एक स्थान पर व्यवस्थित करने के लिए श्याम तराई, लोहरसी और मुजगहन में किसी एक स्थान का चयन होगा। इसके बाद यहां गोकुल नगर बसाया जाएगा। ऐसा होने के बाद शहर की सड़कों को पालतू जानवरों से मुक्ति मिल जाएगी। दुर्घटनाएं भी कम होंगी।

शहर में संचालित डेयरी को बाहर बसाने की योजना पर अब तक प्रभावी काम नहीं हो सका है। निगम ने शहर से 8 किमी दूर सोरम में डेयरियां शिफ्ट करने की योजना बनाई। यहां की जमीन को मवेशियों के लिए उपयोगी नहीं बताते हुए डेयरी संचालकों ने जाने से इंकार कर दिया। निगम ने यहां 48 लाख रुपए खर्च कर दिए। मामला लटक गया। महापौर और निगम के अधिकारियों ने भी आगे कोई प्रयास नहीं किया। अब कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर निगम कमिश्नर आशीष टिकरिहा ने फिर तैयारी शुरू की है। दो महीने के भीतर शहर में संचालित डेयरियों को बाहर कर गोकुल नगर में शिफ्ट करने की तैयारी की जा रही है।

पूर्व चयनित सोरम में गोकुल नगर बसाने की योजना फेल होने के बाद अब निगम श्यामतराई, लोहरसी, मुजगहन में जगह देखी है। इसमें से किसी एक स्थान पर गोकुल नगर बनाया जाएगा। निगम में गुरुवार को डेयरी संचालकों के साथ इस संबंध में बैठक भी हो चुकी है।

गोकुल नगर नहीं होने से नेशनल हाईवे में मवेशी इस तरह बैठे रहते हैं।

यहां सबसे ज्यादा पेरशानी

शहर के टिकरापारा, रिसाईपारा, नयापरा, लालबगीचा में 50 से अधिक डेयरी हैं। नालियां गोबर से अटे पड़े हैं। मच्छर बढ़ रहे हैं। बारिश में सड़क तक गोबर फैला रहता है। बदबू से यहां रहने वालों के अलावा इस मार्ग से गुजरने वाले लोग भी परेशान रहते हैं। इसके अलावा कोष्टापारा, मराठापारा, गोकुलपुर सहित अन्य कई वार्डो में डेयरियों से लोग परेशान हैं।

शहर में 90 से अधिक डेयरी

शहर में 90 से अधिक छोटी बड़ी डेयरी हैं। इनका गोबर निपटान शहर की नालियों में ही हो रहा है। वार्ड में ही मवेशी बांध देते हैं, जिससे लोगों को भी परेशानी होती है। डेयरी के अलावा कई लोग पशुपालन भी करते हैं। ये भी मवेशी दूध निकालने के बाद घर से बाहर छोड़ देते हैं।

दूसरी जगह जाने तैयार: डेयरी संघ के अध्यक्ष शंकर ग्वाल, राममूर्ति ग्वाल ने कहा कि सोरम की जगह मवेशियों के लिए ठीक नहीं थी। मुजगहन, लोहरसी, श्यामतराई में से कहीं भी जाने को तैयार हैं।

जल्द जमीन फाइनल कर रहे: कमिश्नर आशीष टिकरिहा ने कहा कि डेयरी संचालकों के साथ मीटिंग हुई है। उन्होंने तीन जगह बताई हैं जमीन जल्द फाइनल करने में जुटे हैं। जमीन देखने शनिवार को जाएंगे।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news dairies will be removed within a month shyamatrai lhorhasi gokul nagar will be built somewhere from muzgahan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना