गोवर्धन पर्वत पर बैठकर आज से कथा सुनाएंगी जया किशोरी

Dhamtari News - गोशाला मैदान में 4 दिसंबर से भागवत कथा शुरू हो रही है। कथा वाचक जया किशोरी 25 फीट उंचे बने मिट्टी के प्रतीकात्मक...

Dec 04, 2019, 07:55 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news jaya kishori will tell the story from today sitting on govardhan mountain
गोशाला मैदान में 4 दिसंबर से भागवत कथा शुरू हो रही है। कथा वाचक जया किशोरी 25 फीट उंचे बने मिट्टी के प्रतीकात्मक गोवर्धन पर्वत पर बैठकर कथा सुनाएंगी। इस पर्वत को आकर्षक बनाने 35 सौ औषधीय पौधे लगाएं गए हैं, ताकि पर्वत जैसा ही नजर आए। इसे बंगाल और राजस्थान के कारीगरों ने बनाया है। कथा के दौरान कामधेनु की परिक्रमा, भागवत परिक्रमा और गोवर्धन परिक्रमा का नजारा भी दिखाई देगा। बुधवार को कथा शुभारंभ के पूर्व दोपहर 12 बजे कलश यात्रा निकलेगी।

आज निकलेगी कलश यात्रा : 4 दिसंबर को पुरानी कृषि उपज मंडी से दोपहर 12 बजे कलश यात्रा निकाली जाएगी। सदर मार्ग होते यह शोभायात्रा गोशाला मैदान में समाप्त होगी। 5 को माता अनसुईया वराह, सती चरित्र शिव विवाह की कथा सुनाई जाएगी। कथा के दौरान झांकी निकाली जाएगी। 6 को जड़ भरत की कथा, राजा दक्ष, प्रहलाद चरित्र की कथा, 7 को वामन अवतार, श्रीराम जन्मोत्सव और 8 दिसंबर को गोवर्धन पूजा की कथा सुनाई जाएगी। 9 दिसंबर दिन को गोपी उद्धव संवाद, रासलीला और रुख्मणी विवाह और 10 दिसंबर को सुदामा चरित्र, कथा विराम और पुष्पों की होली सुबह 11 बजे से खेली जाएगी।

धमतरी। गोशाला मैदान में प्रतिकात्मक गोवर्धन पर्वत बनाया गया है। कथा वाचक जया किशोरी पर्वत के नीचे कथा सुनाई जाएगी।

ये सारे पौधे पर्वत पर लगाए गए

25 फीट उंचे गोवर्धन पर्वत में जौं, मक्का, ज्वार, बाजरा, गेहूं, धान, राई, लाल भाजी, चौलाई भाजी, पालक भाजी के साथ औषधीय गुणों वाले सिंदूर, मेहंदी, अर्जुन पौधा, आंवला, बादाम, गुलमोहर शीशम, जामुन, कहुआ, बोगन बेलिया और अकेशिया जैसे अलग-अलग प्रकार के 35 सौ पौधे लगाएं गए हैं। कथा समापन के बाद ये सभी 35 सौ पौधे श्रोताअों को बांटे जाएंगे। वे इसे अपने चुनिंदा स्थानों पर लगवाएंगे।

10 हजार लोगों की बैठक व्यवस्था

कथा के आयोजक राजेश शर्मा ने बताया कि धमतरी धर्म नगरी है। यहां धर्म को लेकर ऐसे अयोजन होते रहने चाहिए। इस कथा को लेकर शहर सहित गांव के श्रद्धालु लगातर जुटे हुए हैं। कथा को ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु सुने, इसलिए एक प्रचार टीम बनाई गई थी। इस टीम ने धमतरी सहित बालोद, दुर्ग, कांकेर जिले के 200 से अधिक गांवों में कथा श्रवण के लिए लोगों को न्योता दिया है। कथा स्थल पर एक विशाल डोम बनवाया गया है। जहां करीब 10 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news jaya kishori will tell the story from today sitting on govardhan mountain
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना