साहित्य साधकों ने कभी शहर के बड़े शाैक नहीं... दूसराें काे हंसाने की ललक देखी

Dhamtari News - य ह पुरानी बात है। तब धमतरी में नारायणलाल परमार, त्रिभुवन पांडेय, सुरजीत नवदीप, भगवती लाल सेन जैसे कवि न सिर्फ शहर...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:52 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
य ह पुरानी बात है। तब धमतरी में नारायणलाल परमार, त्रिभुवन पांडेय, सुरजीत नवदीप, भगवती लाल सेन जैसे कवि न सिर्फ शहर में बल्कि पूरे अंचल में एक पहचान रखते थे। साहित्यिक आयोजनों में इनकी उपस्थिति अनिवार्य हुआ करती थी। गांव-गांव से बुलावे आते थे और ये कविगण किसी को निराश नहीं करते थे। ऐसा ही एक बुलावा पास के गांव खरतुली से आया था।

इसमें राजिम से संत कवि पवन दीवान को भी बुलाया गया था। तब साधन भी नहीं हुआ करते थे। तय हुआ कि साइकिल से चलें। सब कवियों ने किराये पर साइकिलें लीं। साइकिल चलाते कवि सम्मेलन में पहुंचे। लौटते तक रात बहुत हो चुकी थी। और रास्ता ऊबड़-खाबड़। गिरते पड़ते रास्ता तय हुआ। रास्ते में एक संगीत मंडली का खोया हुआ तबला ढूंढने में भी कवियों ने मदद की। जिनके नाम से लोग शहर को जानते थे, उनकी सादगी के ऐसे सैकड़ों किस्से हैं जो शहर की साहित्यिक परंपरा का हिस्सा हैं। इन कवियों को शहर ने कभी बड़े शौक करते नहीं देखा। पूरा जीवन अभावों में बीता लेकिन चेहरे पर हमेशा मुस्कुराहट देखी। खुद की पीड़ा छिपाकर दूसरों को हंसाने की ललक देखी। जिला हिंदी साहित्य परिषद इनकी परंपरा को आगे बढ़ा रही है। उस दौर के कवि सुरजीत नवदीप और त्रिभुवन पांडेय अभी भी नए कवियों का मार्गदर्शन कर रहे हैं।

सुनहरी यादें

(वयाेवृद्ध कवि त्रिभुवन पांडेयजी से नारायण लाल परमारजी के पुत्र निकष परमार से बातचीत पर आधारित)

Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
X
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
Dhamtari News - chhattisgarh news literature seekers have never seen the big shakes of the city others crave for laughter
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना