• Hindi News
  • Rajya
  • Chhattisgarh
  • Dhamtari
  • Dhamtari News chhattisgarh news passengers were denied the driver driving the bus with an ear phone but he did not listen it was a nap he was hit by a tree near jagatra

ईयर फोन लगाकर बस चला रहे ड्राइवर को यात्रियों ने मना किया पर वो नहीं माना, झपकी आई, जगतरा के पास पेड़ से हो गई भिड़ंत

Dhamtari News - सुकमा से रायपुर जा रही पायल ट्रेवल्स की बस पुरूर के पास जगतरा में पलट गई। बस में 35 यात्री सवार थे। इनमें से 2 को...

Nov 18, 2019, 07:01 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news passengers were denied the driver driving the bus with an ear phone but he did not listen it was a nap he was hit by a tree near jagatra
सुकमा से रायपुर जा रही पायल ट्रेवल्स की बस पुरूर के पास जगतरा में पलट गई। बस में 35 यात्री सवार थे। इनमें से 2 को मामूली चोटें आईं हैं। पेड़ की शाखा में फंसने के कारण बस एक पलटी के बाद रुक गई। यात्रियों के मुताबिक ड्राइवर बस चलाते समय इयर फोन लगाए हुए थे। झपकी भी ले रहा था। उसे रोका लेकिन नहीं माना। इसी कारण यह हादसा हुआ।

गुरूर पुलिस के अनुसार हादसा 17 नवंबर को सुबह करीब 4.30 बजे का है। सीजी 07 एमबी 9700 पायल ट्रेवल्स की बस सुकमा से बैलाड़ीला, जगदलपुर, कांकेर होते हुए रायपुर जाने के लिए निकली थी। जगतरा के पास ड्राइवर को झपकी आई। बेकाबू होकर लहराने लगी। बस पलटते ही यात्रियों घबरा गए। हादसा सुबह के समय हुआ, ज्यादातर यात्री सो रहे थे। बस पलटते ही यात्री अपनों की चिंता में चीखने लगे। हालांकि किसी को गंभीर चोट नहीं आई।

दूसरे गाड़ी से सभी को भेजा रायपुर : गुरूर टीआई मनीष शर्मा ने बताया कि घटना की सूचना सुबह करीब 4.45 बजे मिली। पुलिस अधिकारी मौके पर गए। दो यात्री को चोट आई थी। उन्हें संजीवनी एंबुलेंस बुलाकर इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा। अन्य यात्रियों को दूसरी बस से रायपुर भेज दिया।

बेकाबू बस सड़क के किनारे एक पेड़ से टकराकर पलट गई।

जानिए, कैसे हुआ हादसा... सवार यात्रियों की जुबानी

सुकमा के आशीष राठी, लोकेश राठी, रोहित बाफना, विनोद तिवारी, घनश्याम चांड़क ने बताया कि पायल ट्रेवल्स की बस में सुकमा बस स्टैंड से रात करीब 10 बजे बैठे। सुकमा से करीब 25 लोग रायपुर हनुमान भगवान की प्राण-प्रतिष्ठा में शामिल होने जा रहे थे। 17 नवंबर को सुबह करीब 3.45 बजे कांकेर से बस धमतरी के लिए निकली। ड्राइवर गाड़ी चलाते हुए ईयर फोन पर गाना सुन रहा था। लोगों ने उसे टोका। उसे आंख झपकते देखकर गाड़ी रोककर मुंह धोने की सलाह दी। वह नहीं माना। बस जगतरा से आगे बढ़ी ही थी, कि उसकी आंख लगी और बस बेकाबू हो गई। गाड़ी की रफ्तार करीब 70 किमी प्रति घंटे थी। बस सड़क किनारे पेड़ से टकराई।

भास्कर तत्काल : ये भी जानिए, हर 3 से 5 मिनट में हैं परमिट, फिटनेस जांच भी नहीं

नेशनल हाईवे में लगातार बस हादसे सामने आ रहे है। भास्कर टीम ने इसकी पड़ताल की। बस चालकों से पता चला कि रायपुर से जगदलपुर और धमतरी से नगरी, धमतरी से बालोद, दुर्ग व अन्य रूट पर 3 से 5 मिनट के अंतराल पर बसों को परमिट दिए गए हैं। चालकों पर समय से निकलने का दबाव रहता है। इसी कारण अधिकांश बसें 90 से 110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ती हैं। आपात स्थिति में नियंत्रण नहीं होने के कारण हादसे हो रहे हैं। फिटनेस की जांच संजीदगी से नहीं हो रही है।

हमारे शहर से रोज गुजरती है 400 बसें

यातायात और आरटीओ विभाग के अफसरों के अनुसार शहर से रोज करीब 400 बसें गुजरती है। सुरक्षा के लिहाज से शासन ने बसों में स्पीड गवर्नर लगाना अनिवार्य कर दिया है। धमतरी से रायपुर-दुर्ग-राजनांदगांव और बस्तर की ओर चलने वाली एक भी बस में जीपीएस सिस्टम नहीं है।

खानापूर्ति: एक दिन ही निकली स्पीड राडार गन

5 दिन पहले यातायात पुलिस के पास स्पीड राडार गन आई। सरकार ने इस गन को तेज गति भाग रहे वाहनों पर सख्त कार्रवाई के लिए दिया गया। 12 नवंबर को पुलिस अफसरों इस राडार गन से जांच कर करीब 15 गाड़ियों पर कार्रवाई भी की गई। उसके बाद कार्रवाई नजर नहीं आई।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news passengers were denied the driver driving the bus with an ear phone but he did not listen it was a nap he was hit by a tree near jagatra
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना