• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Dhamtari
  • Dhamtari News chhattisgarh news police took bond paper after attaching statement from 600 investors of hbn the company will attach assets worth 25 crores

एचबीएन के 600 निवेशकों से बयान लेकर पुलिस ने लिए बांड पेपर, कंपनी की 25 करोड़ की संपत्ति होगी कुर्क

Dhamtari News - 31 एजेंटों के साथ 8 पदाधिकारी और 33 संचालक भेजे गए जेल जिले में चिटफंड कंपनियों ने जाल बिछाकर 60 हजार निवेशकों के...

Feb 15, 2020, 07:00 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news police took bond paper after attaching statement from 600 investors of hbn the company will attach assets worth 25 crores
31 एजेंटों के साथ 8 पदाधिकारी और 33 संचालक भेजे गए जेल


जिले में चिटफंड कंपनियों ने जाल बिछाकर 60 हजार निवेशकों के करीब 125 करोड़ रुपए से अधिक रकम हड़प ली। लगातार शिकायतों के बाद 2015 से इस दिशा में पुलिस और प्रशासन कार्रवाई शुरू की है। एचबीएन चिटफंड कंपनी के 600 निवेशकों के बयान लेकर पुलिस बांड पेपर जमा किए हैं। संपत्ति कुर्क करने का आदेश मिलने के बाद आगे कार्रवाई होगी।

कोतवाली टीआई भावेश गौतम ने बताया कि एचबीएन के निवेशकों से बयान लेकर बांड पेपर जमा कर रहे हैं। एएसआई राजेंद्र सोरी, एएसआई हेमंत ध्रुव सहित 2 आरक्षकों की ड्यूटी लगी है। सभी आॅनलाइन बयान लेकर बांड पेपर जमा रहे है। एचबीएन के निवेशकों का बयान पूरा होने के बाद जीएन डेयरी लिमिटेड, गरिमा रियल स्टेट एंड एलाईड लिमिटेड, बीएनपी इंश्योरेंस इंवेस्टमेंट सर्विस लिमिटेड, साईं प्रसाद कंपनी, दिव्यानी प्रापटी लिमिटेड कंपनी, साईं प्रकाश फायनेंस प्राय लिमिटेड व शुष्क इंडिया लिमिटेड कंपनी से जुड़े निवेशकों का बयान दर्ज होगा। इन सभी कंपनियों का चालान कोर्ट में पेश हो गया है।

25 कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज: जिले में 2010 से 2015 के बीच चिटफंड कंपनियों का जाल था। ज्यादातर कंपनियों ने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को रकम डबल करने का झांसा देकर निवेशक बनाया। छग सहित बाहर की चिटफंड कंपनियां जिलेभर में सक्रिय रहीं। आल्याशा कंपनी से कार्रवाई की शुरुआात हुई। 30 से अधिक चिटफंड कंपनियों की शिकायत हो चुकी है। 25 कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज भी किया है।

आदेश भी दरकिनार: कांग्रेस सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चिटफंड कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई के संबंध में कलेक्टर-एसपी से बात की थी। उन्होंने दोषी डायरेक्टर, मैनेजरों को गिरफ्तार कर इनकी चल-अचल संपत्तियों को बेचकर निवेशकों को रकम वापस करने निर्देश दिए थे। धमतरी में सरकार के आदेश को दरकिनार किया जा रहा है। अनमोल इंडिया कंपनी को छोड़कर अन्य किसी भी कंपनी की राशि वापस नहीं हुई है।

जानिए, इन प्रमुख कंपनियों ने की धोखाधड़ी

कंपनी राशि निवेशक

एचबीएन 25 करोड़ 865

दिव्यानी 26 करोड़ 11000

महानदी 30 करोड़ 5000

जीएन गोल्ड 15 करोड़ 150

सांई प्रसाद 9 करोड़ 9000

बीएनपी 5.50 करोड़ 500

अभिकर्ता संघ फिर से आंदोलन के विचार में

निवेशकों को राशि वापस नहीं होने से अभिकर्ता संघ में गुस्सा फिर से बढ़ रहा है। संघ पदाधिकारियों का कहना है कि कांग्रेस सरकार को सालभर हो गए। निवेशकों की राशि वापस नहीं हुई है। ऐसे में उनमें नाराजगी है।

33 संचालक, 8 पदाधिकारी और 31 एजेंट जेल में

जिले में करीब 24 से अधिक चिटफंड कंपनियों ने संगठित रूप से ठगी का कारोबार किया। सनसाइन, मिलियन माइल्स, देव्यानी, साईं प्रकाश, सुविधा, जीनए गोल्ड, बीएनपी, महानदी, एचबीएन सहित कई चिटफंड कंपनियों के झांसे में आकर करीब 60 हजार से अधिक निवेशकों ने 125 करोड़ से अधिक की राशि लुटा दिया। निवेशकों ने 4 साल पहले सिटी कोतवाली में शिकायत दर्ज कराया था, जिस पर 21 चिटफंड कंपनियों के 33 संचालक, 31 एजेंट और 8 पदाधिकारियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

निवेशकों से सिटी कोतवाली में पुलिस बयान लेकर बांड पेपर जमा कर रही।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news police took bond paper after attaching statement from 600 investors of hbn the company will attach assets worth 25 crores
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना