पड़ी रहीं थालियां...नहीं लौटीं बेटियां

Dhamtari News - कुरूद ब्लॉक का डाही गांव। शनिवार को यहां का हर शख्स हतप्रभ था, चेहरे पर खामोशी लेकिन आंखों में गुस्सा था। इसी गांव...

Mar 15, 2020, 06:46 AM IST

कुरूद ब्लॉक का डाही गांव। शनिवार को यहां का हर शख्स हतप्रभ था, चेहरे पर खामोशी लेकिन आंखों में गुस्सा था। इसी गांव में शुक्रवार की रात सगी बहनों की लाश फांसी पर लटकी मिली थी। पुलिस ने शनिवार की सुबह दोनों को फांसी से उतारा। तफ्तीश के दौरान लड़कियों के घर से एक सुसाइड नोट मिला जिसे देख पुलिस वाले भी दंग रह गए। इसमें लिखा था कि ‘मामा चंद्रहास ने मेरे साथ रेप किया है। इससे मैं व्यथित हूं और आगे भी रहूंगी इसलिए खुदकुशी कर रही हूं...’।

बेटियों का शव देख पिता सिर पकड़कर बैठे थे। वह घंटों बेजान बेटियों को पकड़कर बिलखते रहे कि खाने की थाली पड़ी रह गई। फिर फफक कर बताया कि दोनों ने रात को खाना बनाया, फिर घर से शौच जाने के लिए निकलीं। मैंने खाने के लिए बोला तो जवाब दिया कि आप खा लो, हम लौटकर खा लेंेगे। लेकिन मेरी बच्चियां नहीं लौटीं। पिता का बिलखना देख वहां मौजूद लोगों की आंखें भी भीग गईं। सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने आरोपी मामा को गिरफ्तार किया है। देर रात तक उससे पूछताछ होती रही। मौके पर मिले साक्ष्यों और शॉर्ट पीएम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस हत्या की दिशा में भी जांच कर रही है।

दुष्कर्म? रिपोर्ट बताएगी

पोस्टमार्टम करने वाले कुरूद अस्पताल के डॉ. यूएस नवर| ने बताया कि दोनों के शरीर से जहर मिला है। गले पर फंदे के निशान भी हैं। दोनों के मौत का फासला करीब आधे घंटे होगा। युवतियों के साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं इसकी पुष्टि के लिए स्लाइड बनाई है। रिपोर्ट आने पर ही स्थिति स्पष्ट होगी।


परीक्षा देकर आई थी छोटी

परिजन ने बताया परिवार में यह 7 भाई-बहन थे। मृतक बहनों के अलावा तीन भाई व दो बहन हैं। बड़ा भाई शादी के बाद से अलग रहता है। प्रभा ने 12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी। ममता बीए अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। शुक्रवार को पेपर देने गई थी। पिता खुद कुरूद परीक्षा सेंटर से घर लेकर आए थे।


चुनरी से लगाई थी फांसी

कुरूद टीआई विपिन लकड़ा के मुताबिक मौके पर कीटनाशक की 4 खाली बोतल और एक शराब की खाली बोतल मिली है। दोनों लड़कियों ने अपनी चुनरी से फांसी लगाई है। दुष्कर्म कहां? कब हुआ, यह सिलसिला कब से चल रहा था? इन प्रश्नों के सवाल पुलिस ढूंढ़ रही है।


ये भी अजब नियम... रात थी इसलिए लाश नहीं उतारी, बैठे रहे पुलिसकर्मी


अब तक फिल्मों, कहानियों का किस्सा शुक्रवार को डाही गांव के लोगों ने अपने सामने देखा। शुक्रवार रात 8 बजे घर से आधा किमी दूर पेड़ पर सगी बहनों 22 साल की प्रभा और 20 साल की ममता (दोनों बदले नाम) की लाश फंदे पर लटकी मिली। खबर फैली तो कुरूद पुलिस पहुंची, लेकिन रात होने के कारण लाश नहीं उतारी गई। गाइडलाइन का हवाला देकर वहां दो पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगा दी गई। शनिवार सुबह दोनों लाश उतारी गई। एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि सुसाइड नोट में चंद्रहास नाम के मामा के दुष्कर्म करने का उल्लेख है। उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। छोटी बहन ने क्यों आत्महत्या की है? इसका कारण ढूंढा जा रहा है।

पढ़ें मेन फ्रंट पेज...

यहां भी मरी इंसानियतपीएम से पहले लिए 3 हजार रुपए और शराब

जब परिजन दोनों बहनों का शव लेकर पोस्टमार्टम के लिए पहुंचे तो दुख की घड़ी में इंसानियत को मरते देखा। गांव से साथ गए एक व्यक्ति ने बताया कि पोस्टमार्टम से पहले स्वीपर ने 3 हजार रुपए और दो बोतल शराब मांगी। नहीं देने पर पीएम टालने का प्रयास किया। मजबूरन ये मांग पूरी की गई। इसके बाद पोस्टमार्टम हुआ।

मौके पर मिले इन साक्ष्यों ने उलझाया


घर से मिले सुसाइड नोट में लिखा था-

दोनों बेटियों का शव पकड़ घंटों बिलखते रहे पिता

दोहराते रहे- मेरी बच्चियों ने लौटकर
खाने की बात कही थी


ekek us fd;k esjk jsi] eSa O;fFkr
gwa--- blfy, [kqndq’kh dj jgh gwa-

{फांसी लगाने के स्थान के पास कीटनाशक व शराब की बोतल भी मिली है।

{पीएम मेंं दोनों लड़कियों के पेट में जहर मिला है। मौत की वजह जहर और फांसी दोनों है।

{दोनों के मरने के समय में आधे घंटे का अंतर है। पहले बड़ी और अाधे घंटे बाद छोटी बहन की मौत हुई है।

{छोटी बहन ने जान क्यों दी, यह वजह अभी स्पष्ट नहीं।

ekek us fd;k esjk jsi] eSa O;fFkr
gwa--- blfy, [kqndq’kh dj jgh gwa-

आरोपी चंद्रहास

साथ जले सपने... यह चिता उन बहनों की है जो साथ बड़ी हुईं, जिन्होंने साथ में ना जाने कितने सपने देखे होंगे...सब साथ ही खाक हुए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना