शक्ति है तो घमंड त्यागें, इंद्र का घमंड दूर करने के लिए कृष्ण जी ने उठाया था पर्वत: पं.बलराम

Jashpuranagar News - भगवान बालाजी मंदिर में चल रहे श्रीमद् भागवत ज्ञानयज्ञ के पांचवें दिन कथावाचक पं.बलराम शास्त्री ने ब्रज की महिमा,...

Feb 15, 2020, 07:10 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news abandon arrogance if there is power krishna ji raised the mountain to remove indra39s pride pt ram ram

भगवान बालाजी मंदिर में चल रहे श्रीमद् भागवत ज्ञानयज्ञ के पांचवें दिन कथावाचक पं.बलराम शास्त्री ने ब्रज की महिमा, बाल लीला, ब्रम्हमोह लीला एवं गोवर्धन की कथा सुनाई। इस मौके पर श्री कृष्ण को छप्पन भोग लगाया गया।

कथावाचक ने कहा इंद्र को अपनी सत्ता और शक्ति पर घमंड हो गया था। उसका गर्व दूर करने के लिए भगवान ने ब्रज मंडल में इंद्र की पूजा बंद कर गोवर्धन की पूजा शुरू करा दी। इससे गुस्साए इंद्र ने ब्रजमंडल पर भारी बरसात कराई। प्रलय से लोगों को बचाने के लिए भगवान ने कनिष्ठा उंगली पर गोवर्धन पर्वत को उठा लिया। सात दिनों के बाद इंद्र को अपनी भूल का एहसास हुआ।

कथा के दौरान भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं की झांकी सजाई गई। कृष्ण लीला का वर्णन करते हुए कथावाचक ने कहा कि कृष्ण की लीलाओं से जहां कंस द्वारा भेजे विभिन्न राक्षसों का संहार किया वहीं ब्रज के लोगों को आनंद प्रदान किया। कथा के अंतिम बाद भगवान श्री कृष्ण को छप्पन भाेग का प्रसाद चढ़ाया। भक्तों ने श्रीमद्भभगवत कथा के पांचवे दिन कृष्ण लीलाओं के साथ झांकियों का भी दर्शन किया। अंत सभी भक्तों को प्रसाद वितरण किया गया।

भगवान श्री कृष्ण को भक्ताें ने लगाया छप्पन भोग।

X
Jashpur News - chhattisgarh news abandon arrogance if there is power krishna ji raised the mountain to remove indra39s pride pt ram ram
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना