रियासतकालीन परंपरा के अनुसार इंद्रडीपा में हुआ भगवान इंद्र की पूजा, उठाया इंद्र छाता

Jashpuranagar News - भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर रियासतकालीन परंपरा के अनुसार इंद्रडीपा में भगवान इंद्र की पूजा की गई। बारिश के लिए...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:05 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news according to princely tradition lord indra was worshiped at indradipa raised indra umbrella
भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर

रियासतकालीन परंपरा के अनुसार इंद्रडीपा में भगवान इंद्र की पूजा की गई। बारिश के लिए धन्यवाद ज्ञापित करने एवं अगले वर्ष अच्छी बारिश और सुख-समृद्धि की कामना कर इंद्र छाता उठाया गया।

शुक्रवार की शाम करीब 4 बजे श्री बालाजी मंदिर में भगवान बालाजी की विशेष पूजा-अर्चना की गई। उसके बाद भगवान बालाजी को मंदिर के गर्भ गृह से निकालकर पालकी में बैठाया गया और शोभा यात्रा निकाली गई।

शोभा यात्रा अस्पताल रोड होते हुए वायरलेस ऑफिस के पास इंद्र डीपा पहुंची। भगवान की पालकी के साथ राजपरिवार के सैनिक पारंपरिक वेशभूषा में साथ चल रहे थे। इंद्रडीपा में पुरोहितों ने विधि-विधान से भगवान इंद्र की पूजा की। इंद्रडीपा में भगवान का दूध से अभिषेक किया गया। इसके बाद सफेद रंग का बड़ा सा इंद्र छाता आकाश की ओर उठाया गया। इस पूजा को दिकपाल पूजन कहा जाता है। शोभा यात्रा में यशप्रताप सिंह जूदेव एवं प्रबल प्रताप सिंह जूदेव की अगुवाई में पं.विनोद मिश्र, पं.नरेश मिश्र, बालाजी ट्रस्ट के व्यवस्थापक पं. परमानंद सहित, पं.गौरीशंकर मिश्र, हरिशंकर मिश्र, पं.रविशंकर मिश्रा, कृष्ण कुमार राय, गोपाल राय, नरेश गुप्ता सहित बड़ी संख्या में शहरवासी शामिल हुए।

बालाजी की निकली शाही सवारी- इंद्र डीपा में भगवान इंद्र की पूजा करने के लिए भगवान बालाजी की शाही सवारी निकली। बालाजी मंदिर में उन्हें पालकी पर सवार कर राज परिवार के अगुवाई में शाही सिपाहियों एवं साज-सज्जा, बाजे-गाजे के साथ शहर भ्रमण करते हुए इंद्र डीपा पहुंचा जहां राजपुरोहितों द्वारा उनका दुग्धाभिषेक कर पूजा अर्चना कर मन्नत मांगी गई।

रियासतकालीन से चली आ रही परंपरा

Jashpur News - chhattisgarh news according to princely tradition lord indra was worshiped at indradipa raised indra umbrella
X
Jashpur News - chhattisgarh news according to princely tradition lord indra was worshiped at indradipa raised indra umbrella
Jashpur News - chhattisgarh news according to princely tradition lord indra was worshiped at indradipa raised indra umbrella
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना