10 साल की औसत वर्षा के बराबर पहुंची बारिश, 5 बड़े जलाशयों में पानी लबालब

Jashpuranagar News - भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर बीते चार दिनाें से हाे रही बारिश से किसान खुश हैं। निम्न दबाव के कारण बुधवार-गुरुवार...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:05 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news rainfall equal to 10 years of average rainfall water in 5 major reservoirs
भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर

बीते चार दिनाें से हाे रही बारिश से किसान खुश हैं। निम्न दबाव के कारण बुधवार-गुरुवार को चौबीस घंटे में 1.9 इंच (48.8 मिमी) बारिश दर्ज की गई है। सबसे अधिक बारिश मनोरा और दुलदुला विकासखंड में हुई है। आसमान में बादल अभी भी मंडरा रहे हैं। आगे और बारिश की संभावना बनी हुई है। इस वर्ष अबतक जिले भर में 34.90 इंच बारिश हो चुकी है जो बीते दस साल की औसत बारिश से सिर्फ आधा इंच कम है। जिले में बीते दस साल की औसत बारिश 13 सितंबर तक की स्थिति में 891.4 मिमी है वहीं इसवर्ष अबतक 891.4 मिमी बारिश दर्ज हो चुकी है।

बुधवार व गुरुवार को हुई बारिश के कारण कहीं भी बाढ़ या जल भराव की स्थिति उत्पन्न नहीं हुई है। जिले के अधिकांश भू-भाग पहाड़ी होने के कारण यहां बारिश का पानी बहकर निकल जाता है। इसलिए एक दिन में 48 मिमी की बारिश होने के बावजूद बस्तियों में पानी घुसने जैसी समस्या नहीं हुई। बारिश से जिले के जलाशयों में लबालब पानी भर चुका है। जिले के 11 प्रमुख जलाशयों में पांच जलाशयों में पानी शत प्रतिशत भर चुका है। जल संसाधन विभाग द्वारा जलभराव के लिए डैम की गेट को बंद रखा गया था। शुरुआती बारिश में बाढ़ की संभावना काे देखते हुए डैमों की गेट खोल दिए गए थे। वहीं बाकी सभी जलाशयों में भी 70 प्रतिशत से अधिक जलभराव हो चुका है। बीते साल जिले के कई जलाशयों में 30 से 40 प्रतिशत ही पानी भर पाया था। इस वर्ष की बारिश ने जलाशयों को फिर से जिंदा कर दिया है और किसानों की उम्मीद जग गई है कि अब यदि बारिश थमती भी है तो फसल को बचा लिया जाएगा।

आम जनता फुहार वाली बारिश से परेशान - लगातार हो रही इस बारिश से आम जनजीवन पर गहरा असर पड़ा है। सड़क पर चल रहे सभी लोग छाता व रैनकोट पहनकर चल रहे हैं। बारिश के कारण चारपहिया वाहनों का अवागमन शहर की सड़क पर बढ़ने से यातायात का दबाव बढ़ा है। इधर शहर की मुख्य सड़क पर ज्यादा दिक्कत नहीं है पर गली-मोहल्लों की सड़क पर कई जगहों पर पानी जमा होने से लोग परेशान हैं। विष्णुबगान होकर तपकरा जाने वाले रास्ते में सड़क पर जगह-जगह गड्‌ढों में पानी भरा है।

886.7 जिले में अब तक हुई बारिश

कोतबा के खमगड़ा जलाशय में भरा पानी।

भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर

बीते चार दिनाें से हाे रही बारिश से किसान खुश हैं। निम्न दबाव के कारण बुधवार-गुरुवार को चौबीस घंटे में 1.9 इंच (48.8 मिमी) बारिश दर्ज की गई है। सबसे अधिक बारिश मनोरा और दुलदुला विकासखंड में हुई है। आसमान में बादल अभी भी मंडरा रहे हैं। आगे और बारिश की संभावना बनी हुई है। इस वर्ष अबतक जिले भर में 34.90 इंच बारिश हो चुकी है जो बीते दस साल की औसत बारिश से सिर्फ आधा इंच कम है। जिले में बीते दस साल की औसत बारिश 13 सितंबर तक की स्थिति में 891.4 मिमी है वहीं इसवर्ष अबतक 891.4 मिमी बारिश दर्ज हो चुकी है।

बुधवार व गुरुवार को हुई बारिश के कारण कहीं भी बाढ़ या जल भराव की स्थिति उत्पन्न नहीं हुई है। जिले के अधिकांश भू-भाग पहाड़ी होने के कारण यहां बारिश का पानी बहकर निकल जाता है। इसलिए एक दिन में 48 मिमी की बारिश होने के बावजूद बस्तियों में पानी घुसने जैसी समस्या नहीं हुई। बारिश से जिले के जलाशयों में लबालब पानी भर चुका है। जिले के 11 प्रमुख जलाशयों में पांच जलाशयों में पानी शत प्रतिशत भर चुका है। जल संसाधन विभाग द्वारा जलभराव के लिए डैम की गेट को बंद रखा गया था। शुरुआती बारिश में बाढ़ की संभावना काे देखते हुए डैमों की गेट खोल दिए गए थे। वहीं बाकी सभी जलाशयों में भी 70 प्रतिशत से अधिक जलभराव हो चुका है। बीते साल जिले के कई जलाशयों में 30 से 40 प्रतिशत ही पानी भर पाया था। इस वर्ष की बारिश ने जलाशयों को फिर से जिंदा कर दिया है और किसानों की उम्मीद जग गई है कि अब यदि बारिश थमती भी है तो फसल को बचा लिया जाएगा।

आम जनता फुहार वाली बारिश से परेशान - लगातार हो रही इस बारिश से आम जनजीवन पर गहरा असर पड़ा है। सड़क पर चल रहे सभी लोग छाता व रैनकोट पहनकर चल रहे हैं। बारिश के कारण चारपहिया वाहनों का अवागमन शहर की सड़क पर बढ़ने से यातायात का दबाव बढ़ा है। इधर शहर की मुख्य सड़क पर ज्यादा दिक्कत नहीं है पर गली-मोहल्लों की सड़क पर कई जगहों पर पानी जमा होने से लोग परेशान हैं। विष्णुबगान होकर तपकरा जाने वाले रास्ते में सड़क पर जगह-जगह गड्‌ढों में पानी भरा है।

891.4 दस वर्ष की औसत बारिश

4.7 दस साल की औसत से अंतर

बीते चौबीस घंटे में कहां कितनी हुई बारिश

विकासखंड बारिश (मिमी में)










एक नजर जलाशयों की स्थिति पर

जलाशय जलभराव (प्रतिशत में)












खेती के लिए अच्छी बारिश

नीमगांव के किसान खोसो राम, बालकिशुन, टिकैतगंज के किसान अरविंद राम, जरिया के किसान ज्योसटिन आदि ने बताया कि धान की खेती के लिए इस वर्ष अच्छी बारिश हुई है। पौधों का ग्रोथ सही है और उसमें जल्द ही बालियां फूटने लगेंगी। फरसाबहार ब्लॉक में फसल के बीज देर से बोए गए थे। अंकिरा के किसान मोहन राम का कहना है कि देर से बीज बोए हैं पर बारिश अच्छी होने से फसल के बेहतर उत्पादन की संभावना है। भले ही धान की फसल देर से काटेंगे पर पिछले साल जैसी स्थिति निर्मित नहीं होगी।

X
Jashpur News - chhattisgarh news rainfall equal to 10 years of average rainfall water in 5 major reservoirs
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना