रक्षाबंधन में भद्रा नहीं इसलिए दिनभर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

Jashpuranagar News - भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर स्वतंत्रता दिवस के साथ भाई-बहन के स्नेह का पर्व रक्षा बंधन इस वर्ष एक साथ गुरुवार को...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 08:55 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news there is no bhadra in rakshabandhan so auspicious time to tie rakhi throughout the day
भास्कर संवाददाता | जशपुरनगर

स्वतंत्रता दिवस के साथ भाई-बहन के स्नेह का पर्व रक्षा बंधन इस वर्ष एक साथ गुरुवार को मनाया जाएगा। ज्योतिषियों के अनुसार इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं है। इसलिए पूरा दिन राखी बांधने के लिए शुभ रहेगा। श्रवण नक्षत्र में दिन की शुरुआत होगी, जो 8.30 बजे तक रहेगा। इसके बाद घनिष्ठा नक्षत्र है। सुबह 11 बजे तक सौभाग्य योग और इसके बाद शोभन योग में रक्षाबंधन मनेगा।

स्वतंत्रता दिवस के साथ रक्षा का बंधन पर्व 19 साल पहले 2000 में मनाया गया था। श्रवण नक्षत्र सुबह 8.01 बजे तक ही है। इसके बाद घनिष्ठा नक्षत्र आ जाएगा, इसीलिए रक्षा बंधन शाम 4 बजे से पहले करना चाहिए। गुरुवार को पूर्णिमा तिथि व श्रवण नक्षत्र के मिलने से सिद्धि योग बन रहा है। इस दिन पूर्णिमा शाम 4.20 बजे तक रहेगी। श्रावण शुक्ल पक्ष पूर्णिमा पर गुरुवार को राखी बंधेगी। ज्योतिर्विद श्यामनारायण व्यास के अनुसार श्रावण पूर्णिमा के दिन की शुरुआत श्रवण नक्षत्र में होगी। इसके बाद धनिष्ठा नक्षत्र रहेगा।

सौभाग्य और शोभन योग के कारण भी यह पर्व खास संयोग लेकर आ रहा है। इस दिन यजुर्वेदीय ब्राह्मणों का उपाकर्म भी होगा। गायत्री जयंती और लव-कुश जयंती भी इसी दिन है। भद्रा नहीं होने से पूरे दिन रक्षाबंधन के लिए शुभ है।

सूर्योदय के पहले समाप्त होगी भद्रा- ज्योतिषविदों के अनुसार इस बार भद्रा सूर्योदय के पहले ही समाप्त हो जाएगी। श्रवण नक्षत्र, स्वामी चंद्र, योग सौभाग्य करण वणिज, राशि मकर, स्वामी शनि, इन सभी योग को मिला कर पूरा दिन रक्षाबंधन के लिए शुभ है। बहने शुभ मुहूर्त में राखी बांध सकेंगी।

शहर की दुकान से भाई के लिए राखी छांटती युवती

जगह-जगह सजी दुकान

रक्षा बंधन के लिए राखी की दुकानें जगह-जगह सज गई है। इस साल भी राखी काफी महंगी है। फिर भी राखी की बिक्री जोरों से हो रही है। बाजार में सजी अनेक फैंसी और स्टोन की राखियां जो मन को लुभा रही है । बहुत सी बहनें बाहर रहने वाले भाइयों के लिए राखी खरीदकर भेज चुकी हैं। व्यवसायियों के अनुसार इस वर्ष मैटल राखियों का क्रेज बढ़ा है और स्टोन राखियों की डिमांड काफी कम हो गई है। शहर में बस स्टैण्ड, पुरानी टोली, मेन रोड, सन्ना रोड, जिला अस्पताल रोड सहित विभिन्न इलाकों में राखियों की दुकान सजी है।

तीन रंग के धागों से सजेगी भाइयों की कलाइयां

पत्थलगांव | रक्षा बंधन और आजादी का पर्व एक दिन होने से त्योहार खास माना जा रहा है। ज्योतिष इस दिन को खास बता रहे है। रक्षा बंधन के दिन स्वतंत्रता दिवस रहने से राखी के धागे भी तिरंगे से अछूते नहीं रहे। शहर में एक दर्जन से भी अधिक राखी दुकानें पूरी तरह सजकर तैयार है, जिसमे तिरंगे से सजी राखियों को सजाकर रखा गया है। इन दुकानों में दिन भर बहने राखियां खरीद रही है। बाजारपारा निवासी रेशु बंसल ने बताया कि राखियां तिरंगा के कलर की लेकर आए हैं। इस बार बाजार मे हरा, केसरी व सफेद रंग से राखी की डोर को सजाया गया है।

X
Jashpur News - chhattisgarh news there is no bhadra in rakshabandhan so auspicious time to tie rakhi throughout the day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना