बेमौसम बारिश से पुसवाड़ा में 40 और सातलोर में 30 एकड़ फसल को नुकसान

Kanker News - रविवार के बाद शुक्रवार को हुई तेज बारिश ने किसानों की परेशानी बढ़ा दी है। बेमौसम बारिश से खेतों में खड़ी धान फसल...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:05 AM IST
Kanker News - chhattisgarh news 40 acres in puswara and 30 acres in satlor damaged due to unseasonal rains
रविवार के बाद शुक्रवार को हुई तेज बारिश ने किसानों की परेशानी बढ़ा दी है। बेमौसम बारिश से खेतों में खड़ी धान फसल गिरने लगी है। सब्जी फसल को भी बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है। रविवार 6 अक्टूबर की रात तेज हवा चलने के साथ हुई तूफानी बारिश किसानों के लिए कहर बनकर आई थी। 11 अक्टूबर को शाम 4 से 7 बजे तक एक बार फिर तेज बारिश हुई जिससे फसल को भारी नुकसान हुआ है। इस बारिश ने धान के साथ सब्जी की फसल को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। धान फसल खेतों में गिर गई है और खेतों में भरे पानी में फसल डूब गई है। ग्राम पुसवाड़ा में 40 एकड़ धान फसल, ग्राम सातलोर में 30 एकड़ धान फसल को नुकसान हुआ है। इसके अलावा ग्राम लालमाटवाड़ा, दसपुर, बेवरती, आतुरगांव, पटौद, बेवतरी, आतुरगांव, नंदनमारा, भीरावाही, नवागांव भावगीर, माटवाड़ा मोदी, डुमाली, सरंगपाल में भी फसल को नुकसान हुआ है। कई जगह धान फसल खेत में भरे पानी में डूब गई।

कांकेर। बारिश और तेज हवा चलने से खेतों में गिर गई फसल।

बेमौसम बारिश से डूबकर सड़ी फसल

ग्राम सातलोर के देवाराम साहू, सुमरसिंह दर्रो, भारत शोरी ने कहा कि बेमौसम बारिश से धान फसल खेत में भरे पानी में डूब गई है और इससे एक एकड़ धान के फसल को पूरी तरह से नुकसान हुआ है। ग्राम सातलोर के धन्नु कोड़ोपी, किसन दर्रो, झाड़ूराम दर्रो, शिवप्रसाद सलाम, झाड़़ूराम दर्रो, पुसवाड़ा के चंद्रशेखर साहू, कोकपुर के किसान जगदीश सोनी ने कहा कि अभी बारिश की जरूरत ही नहीं थी। बेमौसम बारिश की वजह से फसल को नुकसान हुआ है।

सब्जी फसल को भी नुकसान

बेमौसम बारिश से सब्जी फसल को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। नई सब्जी फसल के लिए डाले गए थरहा नष्ट हो गए। भाजी वाली फसल को सर्वाधिक नुकसान हुआ है। भिंडी फसल भी खराब हुई है। सब्जी उत्पादन करने वाले कुश पटेल, रामजी सोनकर, संजय सोनकर, दूजबाई पटेल ने कहा बेमौसम बारिश से सब्जी फसल को काफी ज्यादा नुकसान हो रहा है।

अर्ली वैरायटी की फसल को नुकसान: वैज्ञानिक

कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. बीरबल साहू ने कहा जल्दी पकने वाली अर्ली वैरायटी धान फसल को बारिश से नुकसान हो रहा है। अभी बारिश की जरूरत नहीं थी। बारिश से जो धान खेत में गिर चुके हैं और पानी में भीग चुके हैं उनको नुकसान होगा। खेत में पानी भरने पर किसानों को निकासी करना चाहिए। नुकसान का आंकलन कराया जा रहा है। रिपोर्ट मिलने के बाद नुकसान की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

बेमौसम बारिश से खेतों में भरा पानी जो फसल के लिए है नुकसानदायक

सर्वाधिक बारिश कांकेर तहसील में

तहसील बारिश 11 अक्टूबर

कांकेर 23.4

भानुप्रतापपुर 18.5

अंतागढ़ 14.8

नरहरपुर 14.7

चारामा 4.6

पखांजुर 3.0

दुर्गूकोंदल 0.0

औसत 11.3

नोट - इस वर्ष जिले में अब तक 1387.9 मिमी बारिश हुई है, गत वर्ष इस अवधि में 1343.8 मिमी बारिश हुई थी।

Kanker News - chhattisgarh news 40 acres in puswara and 30 acres in satlor damaged due to unseasonal rains
X
Kanker News - chhattisgarh news 40 acres in puswara and 30 acres in satlor damaged due to unseasonal rains
Kanker News - chhattisgarh news 40 acres in puswara and 30 acres in satlor damaged due to unseasonal rains
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना