बयान लेने रविवार को बुलाया, फिर दे दी दूसरी तिथि

Kanker News - पखांजूर|पखांजूर तहसील कार्यालय में रविवार को 2016 से 2018 तक नील क्रांति योजना के तहत बने तालाबों की जांच के लिए...

Nov 11, 2019, 07:26 AM IST
पखांजूर|पखांजूर तहसील कार्यालय में रविवार को 2016 से 2018 तक नील क्रांति योजना के तहत बने तालाबों की जांच के लिए हितग्राहियों को बुलाया गया। लेकिन हितग्राहियों को बुलाने के बाद अधिकारियों द्वारा ही पेशी निरस्त कर दी गई। इस कारण जांच के लिए आए किसानों को परेशान होना पड़ा। मामला जब तूल पकड़ा तब किसी किसान ने इसे सोशल मीडिया में डाल दिया कि शासकीय अवकाश के दिन बुलाकर किसानों को परेशान कराया जा रहा है। जिन किसानों को बुलाया गया था वे वही किसान है जो पूर्व में जांच में बुलाने पर कार्यालय नहीं पहुुंचे थे। इस कारण मामले की जांच आज भी अधूरी पड़ी है।

ज्ञात हो कि वर्तमान में नील क्रंाति योजना की जांच की जा रही है। इसमें बड़ी संख्या में ऐसे किसान है, जिन्होंने शासन से अनुदान तो प्राप्त कर लिया है लेकिन अब तक तालाब ही नहीं खुदाया है। ऐसे में बड़ी संख्या में किसान जांच में नहीं पहुंच रहे हंै और न ही प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं। इस कारण जांच आज भी पूरी नहीं हो पा रही है।

युवा उत्सव की जानकारी बनाने के कारण बयान नहीं ले सके

तहसीलदार पखांजूर शेखर मिश्रा ने बताया किसानों को पूर्व में भी नोटिस देकर बुलाया गया था, लेकिन वे नहीं आए जिस कारण आज अवकाश के दिन उन्हें बुला उनका बयान ले रहे हंै, ताकि जांच पूरी हो सके। रविवार को विधायक के कार्यक्रम, युवा उत्सव और सोमवार को बैठक की महत्वपूर्ण जानकारी बनाने के कारण बयान नहीं लिया जा सका। इस कारण सुबह ही किसानों को नई तिथि 15 नवंबर देकर सूचना चस्पा कर दी गई है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना