पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Kanker News Chhattisgarh News Common Applicants Are Circling Sitting In The Officer39s Chamber And Filling Up Forms

आम आवेदक लगा रहे चक्कर, इधर अफसर के चेंबर में बैठकर फॉर्म भर रहे हैं रसूखदार

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले की 8 रेत खदानों की नीलामी प्रक्रिया शुरू हो गई है। फॉर्म बेचने के साथ उसे जमा भी कराया जा रहा है। नीलामी प्रक्रिया पूर्ण होने के पहले ही रेत का खेल शुरू हो गया है। आम आवेदनकर्ता नीलामी का फॉर्म भरने अफसर और दफ्तर के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उन्हें जानकारी तक नहीं मिल पा रही है। दूसरी ओर रसूखदार आवेदनकर्ता खनिज अधिकारी के चेंबर में बैठकर ही फॉर्म भर रहे हैं।

नीलामी प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही कलेक्टोरेट स्थित खनिज विभाग कार्यालय में आवेदकों की भीड़ जुटने लगी है। इसमें रसूखदारों के अलावा बेरोजगार और आम आवेदनकर्ता भी शामिल हैं। नीलामी प्रक्रिया की जानकारी कार्यालय के सूचना बोर्ड में चस्पा है लेकिन कुछ जानकारियां जैसे प्रतिभूति की रकम वापस होगी कि नहीं आदि स्पष्ट नहीं है। कुछ लोगों ने बोर्ड पर चस्पा दस्तावेजों में भानुप्रतापपुर के चबेला खदान पर ओवर राइटिंग कर काट भी दिया है। इसे लेकर भी आवेदनकर्ता उलझन में हैं। जानकारी के लिए आम आवेदनकर्ता अफसर के चेंबर के बाहर खड़े होकर घंटों इंतजार कर रहे हैं। बोर्ड में चस्पा नियमावली को बार-बार बढ़ रहे हैं लेकिन अफसर के चेंबर में इसलिए नहीं जा पा रहे हैं क्योंकि वहां रसूखदार और सत्ता पक्ष के लोग कब्जा जमाए हुए हैं जो अधिकारी से मिलकर कर फॉर्म भर रहे हैं। पूरे समय अधिकारी के चेंबर में एेसे रसूखदार आवेदकों का आना जाना बना हुआ है। शुक्रवार को भी अधिकारी के चेंबर के एेसे ही हालात बने रहे। काफी देर बाद भी जब सत्ता पक्ष के आवेदनकर्ता बाहर नहीं आए तो एक आम आवेदनकर्ता ने इसकी सूचना मीडिया को दी। भास्कर टीम अधिकारी के चेंबर पहुंची तो शिकायत सही मिली। भास्कर ने चेंबर में फॉर्म भरवाने को लेकर सवाल किया तो सभी का जवाब था हम कोई फॉर्म नहीं भर रहे हैं। चालान की रसीद लेकर आए हैं जिसकी जानकारी ले रहे हैं।

जिला खनिज अधिकारी बोले- फाॅर्म भरने में पारदर्शिता बरती जा रही है
कार्यालय में चस्पा दस्तावेजों को पढ़ नियमों को समझते आम आवेदक।

8 खदानों में चबेला की स्थिति स्पष्ट नहीं
जिले की 8 रेत खदानों की नीलामी की जा रही है। कांकेर तहसील की नारा, चारामा तहसील की सराधुनवागांव, करिहा, माहूद, भिलाई, चिनौरी, गिरहोला और भानुप्रतापपुर तहसील की चबेला खदान शामिल है। चबेला को पेन से ओवरराइटिंग कर काट देने से आवेदनकर्ताओं को स्थिति स्पष्ट नहीं हो रही है।

दुर्ग, भिलाई व नांदगांव के लोगों ने खरीदे 60% फॉर्म
अब तक 110 आवेदन बेचे जा चुके हैं जिसको खरीदने वालों में 60 फीसदी दुर्ग, भिलाई व राजनांदगांव के लोग शामिल हैं। विभाग बेचे गए आवेदनों की जानकारियों को भी गुप्त रख रहा है जबकि एेसा कोई नियम नहीं है। गोपनीयता प्राप्त आवेदनों को लेकर बरतनी है। अधिकारी यह बताने तैयार नहीं हैं कि आवेदन किसने खरीदा जिससे नीलामी प्रक्रिया संदेहास्पद होती जा रही है।

इससे पहले चेंबर में डेरा डाल रखा था माफिया ने
आम आवेदक ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया कि इससे पहले भी अधिकारी से मिलने आए थे लेकिन उस दौरान देवरी व चारामा से रेत निकालने वाले भिलाई व राजनांदगांव के लोग चेंबर में डेरा डाले हुए थे। आम आदमी को नीलामी की सही जानकारी नहीं मिल रही है। खासकर रकम को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। आम आवेदक इससे परेशान है।

चेंबर में कोई नहीं भर रहा आवेदन, आप तो देख रहे हो
जिला खनिज अधिकारी सनत साहू ने कहा अब तक 110 आवेदन बेचे जा चुके हैं। आवेदन जमा करने के साथ जो प्रतिभूति रकम जमा की जाएगी उसकी वापसी की स्थिति स्पष्ट नहीं है। इसकी जानकारी ली जा रही है। चेंबर में बैठ कर कोई आवेदन नहीं भरा जा रहा है। आप स्वयं देख रहे हो यहां क्या हो रहा है।

जिला खनिज अधिकारी के चेंबर में बैठकर फॉर्म भरते सत्ता पक्ष के लोग।

एक फॉर्म 10 हजार का 110 आवेदन मिल चुके
विभाग ने प्रति आवेदन के लिए 10 हजार रुपए शुल्क रखा है जो वापस नहीं होगा। शुक्रवार दोपहर 1 बजे तक 110 आवेदनों की बिक्री की जा चुकी थी जिससे शासन को करीब 11 लाख रुपए का राजस्व प्राप्त हो चुका है। अभी भी आवेदनों की बिक्री जारी है और यह राशि अंतिम तारीख तक और बढ़ सकती है। इसके साथ ही आवेदन जमा करने के दौरान डीडी के रूप में प्रतिभूति रकम जमा करना है।

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें