पार्षद चुनेंगे अध्यक्ष!... इन कयासों के बीच अपने लिए वार्ड तलाशने में जुटे अध्यक्ष पद के दावेदार

Kanker News - नगरीय निकाय चुनावों में सरकार द्वारा अप्रत्यक्ष चुनाव कराने के कयासों के बीच अब अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों ने...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:05 AM IST
Kanker News - chhattisgarh news councilors will choose the president
नगरीय निकाय चुनावों में सरकार द्वारा अप्रत्यक्ष चुनाव कराने के कयासों के बीच अब अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों ने अपने-अपने लिए वार्ड तलाशना शुरू कर दिया है। इसके कारण शहर के राजनैतिक गलियारों में अचानक सरगर्मी बढ़ गई है। अब तक अध्यक्ष पद के प्रत्याशी वार्डों में अपनी पसंद के पार्षद प्रत्याशियों के लिए लॉबिंग कर रहे थे। अप्रत्यक्ष चुनाव यानी अध्यक्ष का चुनाव पा

अगर सरकार अचानक यू-टर्न लेती है तो समीकरण तेजी से बनेंगे-बिगड़ेंगे क्योंकि अब अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों को स्वयं किसी न किसी वार्ड से चुनाव लड़कर पार्षद बनना होगा। विदित हो कि अप्रत्यक्ष चुनाव होते हैं तो भी अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण यथावत रहेगा यानी अध्यक्ष पद महिला के लिए ही आरक्षित होगा। राज्य सरकार से मिले संकेत के बीच अब निकाय चुनाव में हलचल तेज हो गई है।

यदि राज्य सरकार लाएगी अप्रत्यक्ष चुनाव कराने का अध्यादेश तो पार्षदों में से एक होंगी अध्यक्ष

कांग्रेस में अध्यक्ष पद की दौड़ में 2 चेहरे

अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित होने के बाद से ही कांग्रेस में इस पद के लिए दो चेहरे प्रमुखता से सामने आए है जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष जितेंद्र ठाकुर की प|ी सरोज ठाकुर और पूर्व पालिका अध्यक्ष आरती श्रीवास्तव शामिल हैं। टिकट इन दोनों के बीच ही किसी को मिलने की प्रबल संभावना थी। अप्रत्यक्ष चुनाव होने से सबसे बड़ी समस्या है कि दोनों ही प्रत्याशी एक ही वार्ड मांझापारा की रहने वाली हैं। मांझापारा वार्ड अनारक्षित है यानी यहां से कोई भी चुनाव लड़ सकता है। कांग्रेस से आरती श्रीवास्तव के पुत्र आलोक श्रीवास्तव यहां से प्रबल दावेदार थे। अब यहां से चाहे आरती श्रीवास्तव मैदान में उतरे चाहे सरोज ठाकुर, आलोक श्रीवास्तव को दूसरा वार्ड तलाशना होगा। आरती श्रीवास्तव मांझापारा से दावेदारी कर सकती हैं। विदित हो सरोज ठाकुर पहले आमापारा में निवासरत थीं और यह वार्ड भी अनारक्षित है जिसके चलते उनके आमापारा से दावेदारी की भी संभावना है।

नतीजों के बाद 7 महिला पार्षद भी कर सकती हैं दावेदारी : अध्यक्ष पद के दोनों प्रत्याशियों के अनारक्षित वार्ड से लड़ने की संभावना है और कांकेर नगर पालिका में 7 वार्ड महिला के लिए आरक्षित हैं। वहीं भाजपा से भी अध्यक्ष पद की कुछ महिला प्रत्याशी सामान्य और ओबीसी वार्डों से मैदान में उतरेंगी। नतीजे घोषित होने के बाद इन 7 वार्ड से जीत कर आनी वाली महिला पार्षद भी अध्यक्ष के लिए अपनी दावेदारी कर सकती हैं।

नगर पालिका में बढ़ेगी महिलाओं की भागीदारी

वर्तमान में कांकेर नगर पालिका में महिला पार्षदों की संख्या 7 है लेकिन इस बार अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित होने और अप्रत्यक्ष चुनाव होने के कारण नगर पालिका में महिलाओं की भागेदारी बढ़ना तय है। इस बार भी महिलाओं के लिए 7 वार्ड अलबेलापारा, उदयनगर, शिवनगर, संजयनगर, भंडारीपारा, सुभाषवार्ड और अघननगर आरक्षित हैं। यानी 7 महिला पार्षद चुनकर आना तय है। इसके अलावा अध्यक्ष पद के महिला प्रत्याशी अनारक्षित और ओबीसी के लिए आरक्षित वार्डों से भी मैदान में उतरेंगी। आरक्षित 7 वार्डों के अलावा कम से कम दो से तीन वार्डों से इस बार महिला उम्मीदवारों के जीतकर आने की संभावनाएं हैं। इससे मुकाबला और रोमांचक हो जाएगा। साथ ही अध्यक्ष के दावेदारों की संख्या बढ़ जाएगी।

X
Kanker News - chhattisgarh news councilors will choose the president
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना