धान खरीदी के लिए बचे है पांच दिन केंद्र के बाहर इंतजार कर रहे किसान

Kanker News - जैसे-जैसे धान खरीदी की अंतिम तिथि नजदीक आती जा रही है धान न बेच पाने वाले किसानों की बेचैनी भी बढ़ती जा रही है।...

Feb 15, 2020, 07:30 AM IST
Pankhanjur News - chhattisgarh news farmers waiting outside the center for five days to buy paddy

जैसे-जैसे धान खरीदी की अंतिम तिथि नजदीक आती जा रही है धान न बेच पाने वाले किसानों की बेचैनी भी बढ़ती जा रही है। बांदे लैंपस के धान खरीदी केंद्र पीवी 92 में धान बेचने के लिए अब भी दो सौ से अधिक किसान बचे हुए हैं। वे पिछले तीन से चार दिनों से ट्रैक्टर में धान लेकर केंद्र के आगे लाइन लगा खड़े हंै। वहीं केंद्र में बारदाने की कमी से किसानों की समस्या और बढ़ गई है।

धान खरीदी को महज पांच दिन शेष रह गए हैं। ऐसे में जिन किसानों के धान नहीं बिक पाए हैं वे किसान परेशान हैं। धान खरीदी केंद्र पीवी 92 की स्थिति खराब है। रोजाना इस केंद्र में धान खरीदी के लिए 50 से अधिक टोकन कांटे जा रहे हैं। इतनी मात्रा में काटे जा रहे टोकन के चलते हमाल तो तौल का काम कर नहीं पा रहे, ऐसे में धान बेचने आए किसानों को भी हमालों के साथ मिलकर धान तौलना पड़ रहा है। वहीं अब तक कई किसानों का टोकन नहीं कट पाया है। वे भी अपना उपज लेकर केंद्र के बाहर लाइन लगा चुके हैं। केंद्र के बाहर 50 से अधिक ट्रैक्टर धान लेकर किसान खड़े हैं। किसान सरदू पददा, लखमू बड्डे, बलराम तिग्गा, सचिंद्र मंडावी, जुलेबाई आदि ने बताया जिस दिन का टोकन कटता है, उस दिन अगर ट्रैक्टर नहीं मिला तो उनका धान नहीं बिक पाएगा। इस कारण जिस दिन ट्रैक्टर भाड़ा किया उसी दिन वे केंद्र में धान लेकर आ गए हंै, भले ही उन्हें कई दिनों का ट्रैक्टर किराया देना पड़े, लेकिन धान तो बिक जाए। किसानों ने बताया इस वर्ष जितनी परेशानी हुई उतनी अब तक कभी नहीं हुई थी। शुक्रवार को केंद्र में बारदाने लगभग समाप्ति की ओर है। यहां 1500 बारदाने भेजे गए हंै, लेकिन 50 से अधिक किसानों का टोकन काटा गया है। ऐसे में कुछ किसानों का ही धान खरीदी जा सकेगा।

बांदे लैम्पस प्रबंधक आरडी मानिकपुरी ने बताया कि बांदे केंद्र के 9 खरीदी केंद्र में बारदानों की समस्या है। शुक्रवार को 9 गठान बारदाना आया है। सभी केंद्र को एक-एक गठान बारदाना दिया गया है। इससे आज तो खरीदी होगी, दो दिन की छुटटी है। इस दौरान और बारदानों की व्यवस्था हो जाएगी।

पटवारी के सत्यापन के बाद होगी खरीदी

धान खरीदी केंद्र में शुक्रवार से जो किसान धान बेचने पहुंच रहे हैं उनका पटवारी से सत्यापन के बाद ही धान खरीदा जा रहा है। ऐसे में जिन किसानों का आज से टोकन कटा है पहले उन्हें खेतों में धान लगाने का सत्यापन कराना पड़ रहा है। इसके बाद ही किसान धान बेच पा रहा है। कई किसानों ने बताया कि कुछ जगह तो पटवारी को खेतों में ले जाना पड़ रहा है, तब जाकर धान बिक पा रहा है। वर्तमान में बारदाना सबसे बड़ी समस्या बनी है। पखांजूर लैम्पस के धान खरीदी केंद्र में भी बारदानें की समस्या के चलते लगभग सभी केंद्र प्रभावित हैं। धान खरीदी केंद्र पीवी 131 में तो खरीदी बंद रही। शुक्रवार को यहा 35 किसानों का टोकन कटा था, लेकिन सभी किसानों को निराश लौटना पड़ा। केंद्र प्रभारी सुब्रत विश्वास ने बताया कि बारदाना समाप्त होने के चलते केंद्र बंद होने की जानकारी अधिकारियों को दे दी गई है।

पखांजूर। पीवी 92 के खरीदी केंद्र के बाहर धान लेकर खड़े टैक्टर।

X
Pankhanjur News - chhattisgarh news farmers waiting outside the center for five days to buy paddy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना