कांग्रेस की दोहरी चाल से हेमंत अध्यक्ष हेम उपाध्यक्ष, भाजपा चारों खाने चित

Kanker News - जिला पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनाव में कांग्रेस ने एक ही चाल में दोहरी मात देकर भाजपा को चारों खाने चित कर...

Feb 15, 2020, 07:11 AM IST
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move

जिला पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनाव में कांग्रेस ने एक ही चाल में दोहरी मात देकर भाजपा को चारों खाने चित कर दिया। दोनों पार्टियों में जमकर पालिटिकल ड्रामा भी हुआ। कांग्रेस ने चाल चलते हुए पहले अध्यक्ष पद के चुनाव को भाजपाइयों से यह कहकर निर्विरोध करवा लिया कि उपाध्यक्ष पद का चुनाव उनके लिए निर्विरोध रहेगा। भाजपा के पास बहुमत नहीं था फिर भी अध्यक्ष पद के लिए इस पार्टी से तारा ठाकुर नामांकन भर रहीं थीं। लेकिन कांग्रेसियों ने उन्हें उपाध्यक्ष पद का लालच देकर नामांकन दाखिल करने से रोक लिया। कांग्रेस से हेमंत ध्रुव के निर्विरोध अध्यक्ष बनने के बाद जब उपाध्यक्ष चुनाव की बारी आई तो कांग्रेस ने अपने वादे से यू टर्न लेते हुए हेम नारायण गजबल्ला को खड़ा कर दिया। हालांकि तारा ठाकुर ने भी नामांकन भरा लेकिन उन्हें केवल तीन वोट मिले और गजबल्ला 9 वोट लेकर उपाध्यक्ष बन गए। खास बात यह भी रही कि कांग्रेस में क्रास वोटिंग का डर था इसलिए सभी कांग्रेसी जिला पंचायत सदस्यों को सुबह ही शीतला मंदिर ले जाकर उन्हें क्रास वोटिंग नहीं करने की कसमें खिलाईं गईं थीं।

जिला पंचायत कांकेर के कुल 13 सदस्यों में कांग्रेस के पास आप व गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के एक एक सदस्य को मिला कर कुल 10 वोट थे। जबकि भाजपा के पास मात्र तीन वोट ही थे। कांग्रेस के सदस्यों को मंदिर से कसमें खिलाई जाने के बाद चुनाव में भाग लेने के लिए जिला पंचायत लाया गया। इधर भाजपा भी अपने तीन सदस्यों को लेकर जिला पंचायत पहुंची। कांग्रेस से हेमंत ध्रुव ने अपना नामांकन दाखिल किया। काफी देर तक अध्यक्ष के लिए भाजपा से कोई दावेदारी नहीं दिखने से कांग्रेस जीत को लेकर निश्चिंत थी। लेकिन नामांकन जमा करने के निर्धारित समय से अंतिम 20 मिनट पहले भाजपा की तारा ठाकुर ने नामांकन फार्म लेकर कांग्रेस खेमे में हलचल पैदा कर दी। जिसके बाद कांग्रेसी हरकत में आए ओर भाजपा खेमे का चक्कर काटने लगे।

कांग्रेसियों ने तारा ठाकुर को मनाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मानीं। कांग्रेस नेता उन्हें किसी भी तरह से रोकना चाहते थे। वे उन्हें बात करने के बहाने लेखा अधिकारी लारेंस कुमार के चेंबर में ले गए लेकिन पीछे-पीछे भाजपा के नेता भी पहुंच गए। इसके बाद तारा ठाकुर को फार्म भरने जाने के लिए कमरे से निकलने नहीं देने का नाटकीय घटनाक्रम चलता रहा।

अंतिम समय में उक्त अधिकारी का चेंबर बंद कर कांग्रेस व भाजपा नेता के अलावा भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्यों के बीच अध्यक्ष उपाध्यक्ष को लेकर गोपनीय चर्चा और सौदेबाजी हुई। इसमें तय हुआ कि अध्यक्ष के लिए भाजपा से कोई नामांकन दाखिल नहीं करेगा। वहीं कांग्रेस से भी उपाध्यक्ष के लिए कोई नामांकन दाखिल नहीं करते हुए भाजपा को मौका दिया जाएगा।

कांग्रेस में था क्रॉस वोटिंग का डर, सदस्यों को शीतला माता की खिलाई गई कसम

उपाध्यक्ष तय करने कांग्रेस ने कराई वोटिंग

अध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध होने के बाद कांग्रेस खेमे में उपाध्यक्ष में दावेदार अधिक होने के कारण सदस्यों के बीच नगर पालिका में पहले चुनाव कराया गया। जिसमें हेम नारायण गजबल्ला, नरोत्तम पटोडी व मिथलेश शोरी के बीच चुनाव हुआ। जिसमें हेम नारायण को 8 तथा नरोत्तम पटोडी व मिथलेश शोरी के पक्ष में स्वयं का एक एक वोट ही पड़े। इसके बाद कांग्रेस ने हेम नारायण गजबल्ला को उपाध्यक्ष के लिए अधिकृत किया।

नगर पालिका में किलेबंदी कर रखे गए थे
कांग्रेस सदस्य, वहीं से बनती रही रणनीति


कांग्रेस में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के दावेदार अधिक होने से क्रास वोटिंग का खतरा बढ़ गया था। इसके चलते सभी सदस्यों को एक साथ नगर पालिका में ला कर रखा गया था। ताकि भाजपा के लोग उन्हें बरगला न सकें। केवल अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के दावेदार ही खुले घूमते रहे। नगर पालिका से ही कांग्रेस की पूरी रणनीति बनती रही। उपाध्यक्ष के लिए प्रत्याशी तय होने के बाद वहां से मिथलेश शोरी चुनाव में शामिल हुए बिना वापस घर लौट गई। जिसके बाद मतदान के लिए कांग्रेस किलेबंदी कर एक-एक कर अपने सदस्यों को लेकर जिला पंचायत पहुंची।

उपाध्यक्ष से मैं सहमत नहीं, पैसे में सब बिक गए- मिथलेश

जिला पंचायत सदस्य मिथलेश शोरी ने कहा कि मैं जिला पंचायत उपाध्यक्ष चुनाव से सहमत नहीं है। कांग्रेस में मैं सीनियर हूं। जिसे देखते हुए मुझे मौका देना चाहिए था। अध्यक्ष का पद पुरूष को मिला है तो उपाध्यक्ष में महिला को अवसर देना था लेकिन पार्टी ने एेसा नहीं किया। मुझे उपक्षेति किया गया। पैसे में सब बिक गए हैं। सामने वाला जितना पैसा दिया है मैं उससे दोगुना दे देती। मेरे साथ गलत किया गया है। इसलिए उपाध्यक्ष के चुनाव में मैंने भाग नहीं लिया।

जिला पंचायत अध्यक्ष हेमंत ध्रुव।


ताराठाकुर को नामांकन दाखिल करने से रोकने की कोशिश करते कांग्रेस नेता।


जिला पंचायत चुनाव के दौरान भाजपा खेमें में चर्चा करने पहुंचे कांग्रेस नेता।


जिला पंचायत उपाध्यक्ष हेमनारायण गजबल्ला।

गांव की सरकार

Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
X
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
Kanker News - chhattisgarh news hemant president hem vice president bjp all around because of congress double move
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना