बोड़ला जनपद पंचायत सीईओ समेत 4 अन्य कर्मचारियों ने कहा- प्रिंटिंग में हुई गड़बड़ी

Kawardha News - तीन फरवरी को हुए दूसरे चरण के चुनाव में बोड़ला ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पोंड़ी के वार्ड क्रमांक तीन में पंच प्रत्याशी...

Feb 15, 2020, 07:15 AM IST

तीन फरवरी को हुए दूसरे चरण के चुनाव में बोड़ला ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पोंड़ी के वार्ड क्रमांक तीन में पंच प्रत्याशी के नाम में त्रुटि था। इस कारण उस दिन का मतदान रद्द कर पांच फरवरी को चुनाव आयोजित किया गया। इस मामले को लेकर जिला निर्वाचन शाखा ने चार फरवरी को बोड़ला जनपद सीईओ समेत मतदान दल को शो-कॉज नोटिस जारी किया था। नोटिस मिलने के बाद कर्मचारियों ने सात फरवरी को निर्वाचन शाखा में अपना जबाव प्रस्तुत कर दिया। इन सभी कर्मचारियों ने प्रिंटिंग की गड़बड़ी बताई है। दरअसल ये मतपत्र प्रिंटिंग प्रेस से ही गलत प्रिंट होकर तहसील कार्यालय पहुंचा था। निर्वाचन शाखा से प्राप्त जानकारी अनुसार शो-कॉज नोटिस का जवाब देने वाले में सबसे पहले बोड़ला जनपद पंचायत सीईओ जेआर भगत, पीठासीन अधिकारी बद्री प्रसाद चन्द्रवंशी, हायर सेकंडरी स्कूल रबेली, मतदान अधिकारी क्रमांक 1ज्योति प्रकाश चन्द्राकर, शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला रबेली, मतदान अधिकारी क्रमांक- 2 पंचराम ठाकुर, प्राथमिक शाला कृतबांधा(कवर्धा), मतदान अधिकारी क्रमांक- 3 हेमंत चन्द्राकर प्राथमिक स्कूल बिरनपुर है।

प्रशिक्षण में नहीं लेते रुचि इसलिए बनती है ऐसी स्थिति

चुनाव को लेकर मतदान संबंधित प्रशिक्षण दिया जाता है, ताकि चुनाव में कोई विवाद न हो। लेकिन इसी प्रशिक्षण में कर्मचारी रुचि नहीं लेते। इस कारण विवाद की स्थिति आती है। दूसरे चरण के हुए चुनाव में धीमा मतदान इसका प्रमुख कारण था। धीमा मतदान के कारण ही पहले चरण में हुए चुनाव अंतर्गत ग्राम सुखाताल में रिजर्व दल को भेजा गया था। जबकि प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर द्वारा कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने में कोताही नहीं बरतते व सहीं ढंग से प्रशिक्षण लेने की अपील भी करते है।

कलेक्टर के पास कार्रवाई के लिए भेजी जाएगी फाइल

संबंधित कर्मचारियों द्वारा जवाब मिलने के बाद फाइल को जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर अवनीश कुमार शरण के पास भेजी जाएगी। इनके द्वारा ही कार्रवाई की जाएगी। नियम अनुसार चुनाव के दौरान मतपत्र की जिम्मेदारी मतदान दल की रहती है। इस आधार पर मतपत्र को मतदाता के पास देने से पहले मतपत्र की जांच की जाती है। लेकिन यहां मतदान दल के साथ सीईओ ने मतपत्र की जांच ही नहीं किया। इस कारण यहां फिर से चुनाव कराने की नौबत आई है। पोंड़ी में पहले बंडल में त्रुटि नहीं थी, दूसरे बंडल में त्रुटि आई है।

**

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना