जेल से छूटते ही बनाई प्लानिंग

Kawardha News - तीसरे फ्लोर पर लिफ्ट का दरवाजा खोलकर शोरूम में पहुंच गया आरोपी गड्ढे में पैर डालकर अंदर घुसने लगा। पैर डक्ट...

Feb 15, 2020, 07:15 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news planning made as soon as he gets out of jail

तीसरे फ्लोर पर लिफ्ट का दरवाजा खोलकर शोरूम में पहुंच गया

आरोपी गड्ढे में पैर डालकर अंदर घुसने लगा। पैर डक्ट एरिया में लगे लिफ्ट के एंगल से टकरा गया। डक्ट एरिया में लिफ्ट की रस्सी के जरिए वह सरकते हुए थर्ड फ्लोर तक पहुंच गया। पेचकस से लिफ्ट का डोर खोलकर दोनों दरवाजे के बीच जगह बना ली। डक्ट एरिया से निकलकर तीसरे फ्लोर पर पहुंचा और पैर दान को दरवाजे के बीच फंसा दिया। दरवाजा खुलने के बाद वह फ्लोर पर पहुंच गया।

कीचन से पानी पीने के बाद तोड़ दिया बिजली का तार, लाइट बंद

छह घंटे तक लगातार काम करने के कारण वह थक गया था। तीसरे फ्लोर पर आते ही उसे प्यास लग गई। उसे पानी की बूंदें गिरने की आवाज सुनाई दी। वह पानी की तलाश में किचन में पहुंच गया। पानी पीने के बाद वह डीवीआर रुम में पहुंचा और बिजली के तार तोड़ दिए। इससे लाइट बंद हो गई और सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग भी बंद हो गई। सीढ़ियों से वह ग्राउंड फ्लोर तक पहुंच गया।

शोरूम में सोया और छह घंटे में दीवार तोड़कर अंदर चला गया

आरोपी इसी जगह से शोरूम के भीतर प्रवेश किया। यहीं रात बिताया।

कवर्धा के साथ खैरागढ़ दुर्ग व गंडई में वारदात

कवर्धा|लोकेश श्रीवास उर्फ गोलू के खिलाफ कई थानों में चोरी व नकबजनी के केस दर्ज हैं। उसने कवर्धा शहर के उमेश बाजार, सलूजा स्टील, सपना मोबाइल शॉप में चोरी की थी। यहां तक की मंदिर की दानपेटी चुराने के कई केस थाने में दर्ज हैं। इसके अलावा उसने दुर्ग, खैरागढ़ और गंडई में भी चोरी की है। गंडई थाना क्षेत्र में 5 लाख रुपए की ज्वेलरी चोरी के केस में पकड़े जाने पर उसे और उसके सगे भाई को जेल हो गई थी। दोनों भाई खैरागढ़ के सलोनी उपजेल में बंद थे। लोकेश उपजेल सलोनी में साफ- सफाई और प्रहरियों के सेविंग का काम करता था। 25 फरवरी 2018 को तत्कालीन जेलर के पति की मसाज करते हुए सुरक्षाकर्मियों को चकमा देकर फरार हो गया था। इसके बाद भी कई जगहों पर चोरी की वारदातों को अंजाम दिया था।

गिरफ्तार: कई थानों में चोरी व नकबजनी के दर्ज हैं मामले

जेल से छूटते ही बना लिया था बड़ी वारदात का प्लान

नवंबर 2019 को लोकेश जेल से छुटकर दुर्ग आ गया था। इसी दौरान उसने बड़ी चोरी की वारदात की प्लानिंग कर ली थी। 20 दिन पहले वह आकाश गंगा इलाके में कपड़े खरीदने आया था। जींस खरीदने के दौरान उसने निर्माणाधीन इमारत दिख गई थी। शोरुम और इमारत को आगे पीछे से देखने के बाद उसे कंफर्म हो गया था कि चोरी करना आसान होगा। रैकी करने के लिए लोकेश दुर्ग से बस से भिलाई आता था। एक हफ्ते पहले उसे पता चला कि पूरा मार्केट मंगलवार को बंद रहता है। इस वजह से उसने सोमवार रात शोरुम तक पहुंचने की योजना बना ली।

20 दिनों तक रेकी की, शोरूम में घुसकर 24 घंटे तक रुका, रात भर सोया फिर सुबह उठकर 6 घंटे में दीवार तोड़कर छेद किया

लोकेश ने हैंडी टाइल्स कटर का उपयोग करने के लिए सेकेंड फ्लोर से बिजली का कनेक्शन किया था। इसके लिए उसे लिफ्ट रुम से लंबी वायर मिल गई थी। ग्राउंड फ्लोर तिजोरी की ग्रिल काटकर मोड़ने के बाद उसने पॉलीथिन में पहले गिरवी रखे जेवर रखे। फिर बाकी जेवर और पैसे रखकर सीढिय़ों के जरिए थर्ड फ्लोर पर पहुंच गया।

सेकेंड फ्लोर से कटर का कनेक्शन करके ग्रिल काटकर मोड़ दिया


आरोपी सोमवार रात करीब 11 बजे निर्माणाधीन बिल्डिंग के पास पहुंच गया था। बिल्डिंग के पिछले हिस्से में लगे बांस के डंडे के सहारे वह छत पर पहुंच गया। चोरी करने के इरादे से पहुंचा लोकेश अपने साथ बैग और हैंडी टाइल्स कटर लेकर आया था। दोनों इमारत के बीच बांस की चैली से ब्रिज बनाकर शोरुम की छत पर पहुंच गया। छत पर लगा दरवाजे तोड़कर अंदर घुसकर रस्सी से उसे बांध दिया। जिससे दरवाजा बार-बार ना खुले। इसके बाद रात 3 बजे तक चुपचाप कैबिन में बैठा रहा। मंगलवार सुबह 7 बजे सोकर उठ गया। इसके बाद वह शोरुम में अंदर जाने का प्लान बनाने लगा। इस दौरान उसे एल शेप का लोहे की राड मिल गई। दीवार पर प्लास्टिक का पाइप दिखा।

आदत नहीं सुधरी, कवर्धा समेत 4 जिलों की सीमा से एक साल के लिए तड़ीपार

चोरी और नकबजनी के मामले में कई बार जेल जाने के बाद भी लोकेश की आदत में कोई सुधार नहीं हुआ। इसके मद्देनजर फरवरी 2019 में कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने उसे कबीरधाम जिला समेत 4 जिलों की सीमा से एक साल के लिए तड़ीपार कर दिया था।

अजय यादव एसएसपी दुर्ग

बुधवार सुबह करीब 10 बजे सुपेला के आकाशगंगा इलाके की पारख ज्वेलर्स में चोरी होने की सूचना मुझे मिली। एएसपी, सीएसपी और टीआई समेत खुद भी घटना स्थल पर पहुंच गए। प्राथमिक तौर पर किसी बड़े गिरोह के चोरी में शामिल होने की शंका हो गई। एएसपी सिटी रोहित ने मीटिंग के दौरान लोकेश उर्फ गोलू श्रीवास निवासी पांडातराई (कवर्धा) नाम के बदमाश पर चोरी में शामिल होने की शंका जाहिर की। इस पर एक टीम को लोकेश की कुंडली तैयार करने के लिए लगाया गया।

जांच के दौरान पता चला कि लोकेश का 9 फरवरी से मोबाइल बंद था। लेकिन बुधवार सुबह उसका मोबाइल दुर्ग में चालू हुआ और फिर कुछ देर बाद उसकी लोकेशन रायपुर में मिलने लगी। रोहित ने बताया कि लोकेश अकेले बड़ी चोरी करने में माहिर है। रोहित उसे कवर्धा और टू व्हीलर शोरुम से 9 लाख कैश चोरी करने की वारदात के बाद पकड़ चुका था। चोरी का पैटर्न लोकेश से मिल रहा था। इस पर अकेले वारदात करने वालों की कुंडली तैयार की गई। टीम ने सलमान अंसारी और लोकेश पर काम करना शुरु किया गया। पता चला कि सलमान जेल में है। जबकि लोकेश तीन महीने पहले की जेल से छुटा है। उसके मोबाइल की जानकारी जुटाई गई तो दुर्ग और भिलाई में लोकेशन मिली। इस वजह से रोहित की टीम लगातार उस पर नजर बनाए हुए थी। गुरुवार रात उसे पकड़ लिया गया।

लोगों से मामले में पूछताछ की गई।

130 **

हजार से ज्यादा कैमरे की रिकाॅर्डिंग की गई

01 **

हजार कॉल डिटेल पुलिस ने खंगाले तक मिला सुराग


12**

पारख ज्वेलर्स चोरी का खुलासा

Kawardha News - chhattisgarh news planning made as soon as he gets out of jail
X
Kawardha News - chhattisgarh news planning made as soon as he gets out of jail
Kawardha News - chhattisgarh news planning made as soon as he gets out of jail
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना