70 लाख रु. खर्च, फिर भी गलियों में अधूरी रह गई सीसी रोड, पक्की नाली तक नहीं

Kawardha News - कवर्धा|शहर का मां कर्मा वार्ड-2, जहां की जनसंख्या 1630 है। इस वार्ड में सीसी रोड और पक्की नालियों का अभाव है। पार्षद का...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:10 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news rs 70 lakh spending yet cc road remains incomplete in the streets not even a paved drain
कवर्धा|शहर का मां कर्मा वार्ड-2, जहां की जनसंख्या 1630 है। इस वार्ड में सीसी रोड और पक्की नालियों का अभाव है। पार्षद का कहना है कि उन्होंने अपने कार्यकाल में करीब 70 लाख रुपए खर्च कर वार्ड में विकास कार्य कराए हैं। पार्षद निधि से 15 लाख रुपए खर्च किया है। इसके बावजूद बुनियादी सुविधाओं का अभाव है। वार्ड के अधिकांश गलियों में सीसी रोड अधूरे हैं। पक्की नालियां नहीं है। जो नालियां बनी है, उनकी नियमित सफाई नहीं होती है। क्योंकि बड़ा वार्ड होने पर भी इसके लिए 1 सफाईकर्मी दिया गया है। वह भी कभी-कभी सफाई करने आता है।

वार्ड की तस्वीर

1630

वार्ड की आबादी

1591

मतदाता

500

मकान

वार्ड के लोगों की जुबानी वो बातें जो कोई अफसर सुनता नहीं

कई गलियां ऐसी है जहां बीच में ही सड़क खत्म

यहां के वार्डवासी गजेन्द्र साहू बताते हैं कि इस पंचवर्षीय वार्ड में विकास कार्य तो हुए हैं, लेकिन उतना नहीं, जितने की आवश्यकता है। वार्ड में कई गलियां ऐसी है, जहां बीच में ही सड़क खत्म हो जाती है। नालियों की अच्छे से सफाई नहीं होती है। वार्ड के भीतरी हिस्सों में पक्की नालियों का अभाव है।

सर्वे : आइए लोगों से जानें व्यवस्था से कितने संतुष्ट हैं-

1. क्या आपके मोहल्ले में समय से पीने का पानी आता है?

लोगों ने कहा- हां

बातें जो वार्ड के लोग चाहते हैं

  बलदाऊ चंद्रवंशी, पार्षद, कांग्रेस


- मेरे कार्यकाल में करीब 70 लाख रुपए के काम हुए हैं। इनमें सड़क, नाली, पाइप लाइन, बिजली पोल विस्तार का काम शामिल है। पार्षद निधि से मैंने 15 लाख रुपए खर्च किया है।


- कमियां तो है, क्योंकि नगर पालिका से कई बार आवेदन करने के बाद भी काम स्वीकृत नहीं होता है।


- बड़ा वार्ड है तो सफाईकर्मी भी ज्यादा मिलना चाहिए। वार्ड के लिए 1 सफाईकर्मी दिए हैं।


- वार्ड में अलग-अलग जगहों पर नाली निर्माण के लिए करीब 10 लाख स्वीकृत है। काम जारी है।


- हां, मैं और सभी वार्डवासी भी यही चाहते हैं।



अगला वार्ड: कैलाश नगर, वार्ड-3

वार्ड-2 : मां कर्मा

80%

नालियों की गहराई कम हो जाती है ओवरफ्लो

यहां के निवासी लक्ष्मण साहू का कहना है कि वार्ड में पक्की नालियों की कमी तो है। जो नालियां बनी है, उसे भी चेंबर या लोहे की जालियों से ढंका नहीं गया है। उनका कहन है कि सड़क से लगे इन नालियों की गहराई भी कम है, जिससे ज्यादा पानी आने पर ओवरफ्लो हो जाता है।

20%

लोगों ने कहा- नहीं



कमियां तो है, क्योंकि नगर पालिका से कई बार आवेदन करने के बाद भी काम स्वीकृत नहीं होता

वह काम जो रह गए अधूरे

2. क्या रोजाना सफाई कर्मी आपके घर के सामने झाड़ू लगाते हंै?

ये हैं चुनौतियां

01

सफाईकर्मी

01

कचरा गाड़ी

00

पानी टंकी

वार्ड का हो रहा विस्तार सुविधाएं नहीं बढ़ रही

वार्डवासी श्याम चंद्रवंशी का कहना है कि मां कर्मा वार्ड शहर के बड़े वार्डों में शामिल है। नए-नए मकान बन रहे हैं, जिससे वार्ड का विस्तार हो रहा है। इससे सुविधाएं बढ़ाने की आवश्कता है, लेकिन अफसर सुनते नहीं है। सड़क, नालियों की सुविधा नहीं मिल रही है। बारिश में ज्यादा परेशानी होती है।

10%

लोगों ने

कहा- हां

90%

लोगों ने कहा- नहीं

X
Kawardha News - chhattisgarh news rs 70 lakh spending yet cc road remains incomplete in the streets not even a paved drain
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना