धान पर बवाल : नेशनल हाईवे-30 पर 24 घंटे से लगा हुआ है 20 किलोमीटर लंबा जाम

Kawardha News - कबीरधाम जिले में धान पर बवाल बचा हुआ है। धान न बिकने से नाराज हजारों किसानों ने ग्राम बिरकोना और हरिनछपरा में...

Feb 22, 2020, 07:20 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news ruckus on paddy national highway 30 has been jammed for 20 hours for 24 hours

कबीरधाम जिले में धान पर बवाल बचा हुआ है। धान न बिकने से नाराज हजारों किसानों ने ग्राम बिरकोना और हरिनछपरा में रायपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे- 30 पर गुरुवार दोपहर 2 बजे से अनिश्चितकालीन चक्काजाम कर दिया है। इसके चलते यहां करीब 20 किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ है। हाईवे पर लोहे के छड़, फर्चून, बॉक्साइट व अन्य सामान लदे हुए सैकड़ों ट्रकों की लाइन लगी है।

इनमें से कई ट्रकों को रायपुर, नागपुर (महाराष्ट्र), भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर (मप्र) जाना है। लेकिन पिछले 2 दिन से चक्काजाम में फंसे हुए हैं। छोटे चारपहिया वाहनों की आवाजाही भी बंद है। स्थिति इतनी बुरी है कि राजधानी रायपुर और बिलासपुर रुट की 20 से अधिक बसों का संचालन बंद है। ये बसें स्टैंड में खड़ी हुई है, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रायपुर, बिलासपुर के अलावा राजनांदगांव रोड और थान खम्हरिया (बेमेतरा) जाने वाले रास्ते पर भी किसानों ने चक्काजाम किया है। हालांकि, यहां दूसरे रास्ते से यात्री बसें चल रही है, जिससे कुछ राहत जरूर है।

ऑटो चालक कवर्धा से 22 किमी दूर दशरंगपुर जाने वसूल रहे 50 रु. किराया

ऑटो चालक चक्काजाम से यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। का फायदा ऑटो चालक उठा रहे हैं। चक्काजाम से यात्री बसें नहीं चल रही। वैवाहिक समारोहों में जाने के लिए ऑटो चालक ज्यादा किराया वसूल रहे हैं। कवर्धा से महज 22 किमी दूर दशरंगपुर के लिए 50 रुपए किराया ले रहे हैं। जबकि बसों में 20 रुपए किराया निर्धारित है।

लगातार समझाइश दी जा रही है

कवर्धा तहसीलदार मनोज रावटे ने बताया कि प्रदर्शन कर रहे किसानों को लगातार समझाइश दी जा रही है। शासन से जब तक कोई गाइडलाइन नहीं आता, इस संबंध में कुछ नहीं कह सकते।

किसान भी अड़े: धान खरीदी का समय भी खत्म, अब मिल रहा केवल आश्वासन

जितने रकबे का पंजीयन हुआ है, उसका धान खरीदा जाए

प्रदर्शन कर रहे किसानों की एकसूत्रीय मांग यही है कि जितने रकबे का पंजीयन हुआ है, उसका धान खरीदा जाए। धान खरीदी के लिए 20 फरवरी तक का समय था, जो अब खत्म हो चुका है। सर्वर लॉक हो गया है। अब खरीदी भी संभव नहीं है। किसानों के प्रदर्शन के बावजूद भूपेश सरकार झुकते नहीं दिख रही है। अफसर भी बेबस हो गए हैं और प्रदर्शन कर रहे किसानों को सिर्फ समझाइश दे रहे हैं। किसी तरह का आश्वासन देने से बच रहे हैं।

बिरकोना में नेशनल हाइवे पर लगा जाम। इसकी वजह से आवागमन व्यवस्था चरमरा गई है।

कवर्धा. नगाड़ा बजाकर प्रदर्शन करते किसान।

नगाड़ा बजा किसान गा रहे फाग अरे हां, भूपेशवा ले ले हमरो धान ल..

धान न बिकने से नाराज किसान गुरुवार से कलेक्टोरेट को घेरे हुए हैं। शुक्रवार को किसान कलेक्टोरेट गेट के सामने टेंट लगाकर धरने पर बैठ गए। नगाड़ा बजाकर तरह-तरह के छत्तीसगढ़ी में फाग गीत गाने लगे। अरे हां, भूपेशवा ले ले हमरो धान ल.. और गली-गली बाजत हे नंगारा, होली माते हे कलेक्टर के द्वारा, काबर नई निकलस घर ले कलेक्टर, काबर.., जैसे फाग गीत गाकर प्रदर्शन को जारी रखे हुए हैं। इधर, भारतीय किसान संघ भी सैकड़ों किसानों को लेकर भोजली तालाब के सामने कलेक्टोरेट रोड का घेराव कर दिए हैं।

Kawardha News - chhattisgarh news ruckus on paddy national highway 30 has been jammed for 20 hours for 24 hours
X
Kawardha News - chhattisgarh news ruckus on paddy national highway 30 has been jammed for 20 hours for 24 hours
Kawardha News - chhattisgarh news ruckus on paddy national highway 30 has been jammed for 20 hours for 24 hours

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना