जिले में गन्ने का रकबा 5 हजार हेक्टेयर घटा वजह किसानों को समय पर भुगतान नहीं

Kawardha News - कबीरधाम जिले में दो शक्कर कारखाने होने के बावजूद इस बार गन्नों का रकबा 5 हजार हेक्टेयर तक कम हो गया है। वर्ष 2018 में...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:06 AM IST
Kawardha News - chhattisgarh news sugarcane acreage in the district reduced by 5 thousand hectares because farmers are not paid on time
कबीरधाम जिले में दो शक्कर कारखाने होने के बावजूद इस बार गन्नों का रकबा 5 हजार हेक्टेयर तक कम हो गया है। वर्ष 2018 में यहां 27458 हेक्टेयर रकबे में गन्ना लगा था। इस बार 22580 हेक्टेयर रकबे में गन्ना लगाए हैं, जो कि पिछले साल की तुलना में 4876 हेक्टेयर कम है।

यह बात आगामी गन्ना पेराई सीजन 2019- 20 के लिए कृषि विभाग की ओर से कराए गए सर्वे में निकलकर सामने आई है। वास्तव में गन्नाें का रकबा घटने के लिए शक्कर कारखाने ही जिम्मेदार हैं। क्योंकि वे समय पर किसानों को गन्ना बिक्री का भुगतान नहीं करते हैं। दूसरी वजह ये है कि कारखानों में उत्पादित शक्कर की बिक्री के लिए केंद्र सरकार ने कोटा सिस्टम तय कर दिया है।

इसके मुताबिक एक महीने में कारखाने 24,480 क्विंटल से अधिक मात्रा में शक्कर नहीं बेच सकते हैं। इस कारण उन्हें खरीदे गए गन्नों का भुगतान करने में दिक्कत हो रही है।

गन्ने का समर्थन मूल्य 355 रुपए प्रति क्विं. करने की मांग: इधर भारतीय किसान संघ ने गन्ने का समर्थन मूल्य 355 रुपए प्रति क्विंटल करने मांग की है। इसे लेकर कृषि उपज मंडी में किसानों की कई बार मीटिंग कर चुके हैं। मौजूदा समय में 300 रुपए प्रति क्विंटल में कारखाने गन्ना खरीद रहे हैं। हर शेयरधारी किसानों को रियायत दर पर 50 किलो की जगह 1-1 क्विंटल शक्कर देने मांग की जा रही है।

X
Kawardha News - chhattisgarh news sugarcane acreage in the district reduced by 5 thousand hectares because farmers are not paid on time
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना