• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Korba
  • Korba News chhattisgarh news after 20 years the congress took over in zip shivkala became the first president the bjp left the field reena became the unopposed vice president

20 साल बाद जिपं में कांग्रेस का कब्जा, शिवकला बनीं पहली अध्यक्ष, हारी भाजपा ने मैदान छोड़ा, रीना निर्विरोध उपाध्यक्ष बनीं

Korba News - जिला पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हो गया है। 20 साल बाद पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बनाने में कामयाब...

Feb 15, 2020, 07:21 AM IST
Korba News - chhattisgarh news after 20 years the congress took over in zip shivkala became the first president the bjp left the field reena became the unopposed vice president

जिला पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हो गया है। 20 साल बाद पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बनाने में कामयाब रही। शुक्रवार को हुए चुनाव में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी शिवकला कंवर ने 12 में से 10 वोट हासिल कर पार्टी की पहली जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं। हार का अंतर 8 मतों से होने पर उपाध्यक्ष पद पर भाजपा ने प्रत्याशी नहीं उतारकर पहले ही अपनी हार मान ली। कांग्रेस अधिकृत प्रत्याशी रीना अजय जायसवाल निर्विरोध उपाध्यक्ष बन गईं। चुनाव को लेकर दोनों ही दलों में काफी गहमा-गहमी रही।

जिला पंचायत का गठन वर्ष 1998 में हुआ था। इसके बाद हुए चार चुनाव में भाजपा के अध्यक्ष रहे। दो बार कांग्रेस उपाध्यक्ष बनाने में कामयाब हुई थी। पहली बार कांग्रेस सरकार में मिले मौके को गंवाना नहीं चाहती थी। जिला पंचायत के अध्यक्ष पद पर पहले चुनाव हुआ। कांग्रेस ने जहां जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 5 कटघोरा की सदस्य शिवकला कंवर को प्रत्याशी बनाया था। वहीं भाजपा ने क्षेत्र क्रमांक 9 पाली की सदस्य रामेश्वरी जगत को प्रत्याशी बनाया था। 12 सदस्यों के वोट डालने के बाद गिनती हुई। 12 में से 10 वोट शिवकला कंवर को मिले । शिवकला आठ मतों से जीतकर अध्यक्ष बनीं। वे कांग्रेस की ओर से पहली जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। जिला पंचायत के बाहर मौजूद विधायक पुरुषोत्तम कंवर, पर्यवेक्षक गुरुमुख सिंह होरा, ग्रामीण अध्यक्ष उषा तिवारी व अन्य परिणाम पर नजर बनाए हुए थे। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल भी सक्रिय रहे। दूसरी ओर भाजपा नेताओं में भारी मतों से हार का अंतर होने से खामोशी छा गई। इसके बाद उपाध्यक्ष के हुए चुनाव के लिए भाजपा ने प्रत्याशी नहीं उतारकर पहले ही अपनी हार मान ली। क्षेत्र क्रमांक 6 कटघोरा से चुनाव जीती कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी रीना अजय जायसवाल निर्विरोध उपाध्यक्ष बनीं। इसके पहले उनके पति अजय जायसवाल उपाध्यक्ष थे। अध्यक्ष पद के लिए पहले कमला राठिया का नाम सामने आया था, लेकिन अंतिम समय में पर्यवेक्षक होरा ने शशिकला को घोषित किया। कांग्रेस नेता फूल सिंह राठिया ने निर्णय मानते हुए अपनी बहू कमला को मैदान में नहीं उतारा।

भाजपा समर्थित एक सदस्य ने की क्रॉस वोटिंग

जिला पंचायत में 12 सदस्य हैं। जिसमें कांग्रेस के 6, भाजपा के 3, गोंगपा के 1 व दो स्वतंत्र सदस्य हैं। मगर अध्यक्ष चुनाव में भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी रामेश्वरी जगत को महज 2 वोट ही मिले। भाजपा के 3 अधिकृत प्रत्याशी जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीते हैं। इस हिसाब से यह कहना गलत नहीं होगा कि भाजपा समर्थित एक सदस्य ने क्रॉस वोटिंग की है। कांग्रेस की गुटबाजी से अध्यक्ष बनाने का सपना संजोए भाजपा को इससे तगड़ा झटका लगा। भाजपा जिला अध्यक्ष अशोक चावलानी, राजेंद्र पांडेय, देवेंद्र पांडेय दिनभर सक्रिय रहे।

पर्यवेक्षक व कांग्रेस अध्यक्ष को बाहर निकलना पड़ा

कांग्रेस के कार्यकर्ता प्रवेश नहीं मिलने पर आपस में भिड़ गए। पार्टी से जीते उम्मीदवार जैसे ही जिला पंचायत कार्यालय पहुंचे। उन्हें एक कक्ष के अंदर बैठा दिया गया। इतने में कक्ष के भीतर कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कंवर, ग्रामीण अध्यक्ष उषा तिवारी अंदर गई। बाद में पुलिस ने सभी को बाहर जाने कहा। पुलिस को विधायक व ग्रामीण अध्यक्ष को भी कक्ष के भीतर से बाहर निकालना पड़ा।। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। इस दौरान जिला पंचायत परिसर में कांग्रेसी एक-दूसरे को गालियां भी देते रहे। पुलिस को मामला शांत कराने में मशक्कत करनी पड़ी।

शिक्षा के साथ मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने पर फोकस: रीना

जिला पंचायत उपाध्यक्ष रीना जायसवाल ने कहा कि शिक्षा के विकास के लिए कार्य करेंगे। क्षेत्र के लोगों को मूलभूत सुविधाएं मिलें, योजनाओं का सही ढंग से क्रियान्वयन हो इस दिशा में कार्य करेंगे।

सदस्यों के साथ मिलकर का करेंगे विकास कार्य: कंवर

नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला कंवर ने कहा कि सभी सदस्य मिलकर गांव के विकास के लिए काम करेंगे। शासन की योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को मिले यह प्राथमिकता में रहेगी।

कक्ष में प्रवेश को लेकर हुआ हंगामा नेताओं में हुई झड़प

जिला पंचायत का गठन वर्ष 1998 में हुआ था, इसके बाद से हुए 4 चुनाव में भाजपा के बने थे अध्यक्ष

जिला पंचायत कार्यालय में प्रवेश को लेकर हंगामा हो गया। कांग्रेस के चार सदस्यों को लेकर विधायक पुुरुषोत्तम कंवर के छोटे भाई धनंजय कंवर पहुंचे। इसके बाद उपाध्यक्ष के कक्ष में सभी सदस्य चले गए। इसी बीच गेट में खड़े हलीम शेख के साथ कांग्रेसियों ने बांकी को गेट पर ही रोक दिया। धनंजय ने लखन लहरे को अंदर जाने पर आपत्ति की। इसी बात को लेकर हलीम व धनंजय में जमकर झड़प हुई।

चुनाव जीतने के बाद अध्यक्ष शिवकला व उपाध्यक्ष रीना जायसवाल। इनसेट- हंगामा करते कांग्रेसियों को हटाती पुलिस

अध्यक्ष चुनाव के बाद उपाध्यक्ष प्रत्याशी के लिए उभरी गुटबाजी

जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव दोपहर एक बजे तक हो गया। जब उपाध्यक्ष का चुनाव शुरू हुआ तो कांग्रेस की गुटबाजी सामने आ गई। अधिकृत प्रत्याशी रीना जायसवाल के साथ गणराज कंवर व प्रीति कंवर ने नामांकन खरीद लिया। इस बीच विधायक पुुरुषोत्तक कंवर का मोबाइल का स्विच ऑफ था। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल जिला पंचायत परिसर पहुंचे, साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष उषा तिवारी ने मोर्चा संभाला। तब कहीं जाकर उपाध्यक्ष का निर्विरोध निर्वाचन हुआ।

X
Korba News - chhattisgarh news after 20 years the congress took over in zip shivkala became the first president the bjp left the field reena became the unopposed vice president
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना