रोटी के साथ अब जरूरतमंद बच्चों को कपड़े देने शुरू की गई मुहिम

Korba News - जिले में समाज सेवी संस्थाओं की पहल का लाभ वनांचल में रहने वालों को भी मिलने लगी है। ऑल इंडिया रोटी बैंक छत्तीसगढ़...

Dec 06, 2019, 08:21 AM IST
Korba News - chhattisgarh news campaign is started to provide clothes to needy children with bread
जिले में समाज सेवी संस्थाओं की पहल का लाभ वनांचल में रहने वालों को भी मिलने लगी है। ऑल इंडिया रोटी बैंक छत्तीसगढ़ नामक संस्था का ध्येय वाक्य है रोटी बैंक का है सपना, कोई भी भूखा सोए न अपना। शहरी क्षेत्र में गरीब, असहायों तक भोजन पहुंचाने वाली यह संस्था अब ग्रामीण क्षेत्र में पहुंचकर जरूरतमंद बच्चों को कपड़ा देने का मुहिम शुरू कर दी है। मुहिम की इस कड़ी का लाभ ग्राम गढ़कटरा में संचालित प्रायमरी स्कूल के बच्चों को मिला।

जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर है शासकीय प्रायमरी स्कूल गढ़कटरा है। चारों तरफ पहाड़ियों व घने जंगलों से घिरे इस गांव के स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे गरीब परिवार से हैं। जिसके कारण परिजन बच्चों का चाहकर भी बेहतर ढंग से परवरिश नहीं कर पाते। लेकिन इन बच्चों का भाग्य संवारने वाले संस्था के शिक्षक श्रीकांत सिंह कहीं से भी किसी तरह की कमी बच्चों को नहीं होने देना चाहते। जिनकी पहल से ही बच्चों के बीच बुधवार को ऑल इंडिया रोटी बैंक छत्तीसगढ़ समाज सेवक पहुंचकर बच्चों के लिए ठंड में जरूरी सामान देकर उनके साथ खुशियां बांटी। श्रीकांत की पहले से अक्सर यहां समाज सेवी संस्थाओं का ध्यान जाता है और वहां के बच्चों को कुछ न कुछ उपहार मिलता रहता है। बुधवार को रोटी बैंक के प्रमुख संजय रामानी अपने साथियों के साथ वहां पहुंचे। जिन्होंने वहां पढ़ने वाले 27 बच्चों को को चप्पल, लड़कियों को स्लेक्स, सभी को स्वेटर समेत जरूरी कपड़े बांटे। संस्था की ओर से बच्चों के कुछ पालकों को शॉल व अन्य गर्म कपड़े भी दिए गए। वनांचल के इन बच्चों को अंत में कार की सवारी कराई गई जिससे बच्चे काफी खुश नजर आए।

स्कूल के बच्चों को गर्म कपड़े देते संस्था के पदाधिकारी, संस्था के प्रमुख संजय रामानी बच्चे को भेंट करते हुए।

सर मेरी चप्पल उसे दे दो

गांव के इस स्कूल में भले ही अभावग्रस्त बच्चे पढ़ाई करते हैं पर उनके अंदर एक दूसरे के प्रति लगाव कूट कूटकर भरा है। यह इस बात से साबित हुआ जब एक बच्ची को उसकी साइज का चप्पल नहीं मिला। इस कमी से सहयोगकर्ता भी थोड़ा निराश हुए, लेकिन इसी बीच एक बच्ची खड़ी होती और कहती है सर मेरी चप्पल उसे दे दो। इतना सुनते ही सभी बच्चों ने तालियां बजाकर मान बढ़ाए। यह वहां के शिक्षकों की प्रेरणा व लगन का ही परिणाम है। ऐसा भाव सभी बच्चों में पैदा हो जाए तो फिर कभी किसी को कोई कमी होगी ही नहीं।

Korba News - chhattisgarh news campaign is started to provide clothes to needy children with bread
X
Korba News - chhattisgarh news campaign is started to provide clothes to needy children with bread
Korba News - chhattisgarh news campaign is started to provide clothes to needy children with bread
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना